Flipkart की नकदी एक साल में 30,000 करोड़ रुपये घटी, ये है वजह...

By रविकांत पारीक
November 11, 2022, Updated on : Fri Nov 11 2022 07:16:28 GMT+0000
Flipkart की नकदी एक साल में 30,000 करोड़ रुपये घटी, ये है वजह...
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट (Flipkart) ने वित्त वर्ष 2022-23 की तिमाही में 3.7 अरब अमेरिकी डॉलर (लगभग 30,000 करोड़ रुपये) की नकदी कम (flipkart cash burn) हुई है. कंपनी ने शेयर बाजार को दी जानकारी में यह बताया.


फ्लिपकार्ट के पास जुलाई, 2021 में एक अरब डॉलर की नकदी थी, जो सितंबर, 2022 तक घटकर 90 करोड़ डॉलर रह गई.


फ्लिपकार्ट और वॉलमार्ट ने शेयर बाजार को बताया कि कंपनी ने जुलाई 2021 में 3.6 अरब डॉलर (लगभग 29,000 करोड़ रुपये) जुटाए थे, जो पूरी तरह खत्म हो गए.


वॉलमार्ट नियामक फाइलिंग से पता चलता है कि 31 जुलाई, 2022 तक कंपनी के पास लगभग 1.1 बिलियन डॉलर थे." 31 जुलाई, 2022 और 31 जनवरी, 2022 तक, क्रमशः 3.5 बिलियन डॉलर और 4.3 बिलियन डॉलर की नकदी हो सकती हैं. स्थानीय कानूनों या अन्य प्रतिबंधों के कारण अमेरिका को स्वतंत्र रूप से हस्तांतरणीय नहीं होगा.


उद्योग के अनुमानों के मुताबिक यह देश में किसी भी नये जमाने की कंपनी द्वारा एक साल में गंवाई गई सबसे बड़ी रकम है.


इस बारे में संपर्क करने पर फ्लिपकार्ट के प्रवक्ता ने कहा कि इस आंकड़े को सही संदर्भ में समझने की जरूरत है, खासतौर से पिछले साल में कंपनी द्वारा किए गए कई निवेशों को देखते हुए.


इंडस्ट्री के जानकारों के अनुमानों के मुताबिक, यह देश में किसी भी नए जमाने की कंपनी द्वारा एक साल में सबसे बड़ा कैश बर्न है.


फ्लिपकार्ट ने 2022 के त्योहारी सीजन की बिक्री से पहले अपने बिजनेस-टू-बिजनेस वर्टिकल फ्लिपकार्ट इंडिया में 213 मिलियन डॉलर का निवेश किया था. इस निवेश ने सितंबर में अपने नकद शेष को घटाकर 887 मिलियन डॉलर कर दिया.


जुलाई 2021 में, फ्लिपकार्ट ने 3.6 बिलियन डॉलर जुटाने की घोषणा की. अगस्त 2021 में, फर्म ने त्योहारी सीजन से ठीक पहले अलग-अलग विभागों में 1.42 बिलियन डॉलर का निवेश किया. कंपनियों के रजिस्ट्रार को एक फाइलिंग के अनुसार, फ्लिपकार्ट ने फ्लिपकार्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड में 589 मिलियन डॉलर, व्यापार-से-उपभोक्ता इकाई फ्लिपकार्ट इंटरनेट प्राइवेट लिमिटेड में 353 मिलियन अमरीकी डॉलर, इंस्टाकार्ट में 412 मिलियन डॉलर का निवेश किया, जो लॉजिस्टिक्स e-Kart व्यवसाय रखता है. फ्लिपकार्ट, और Myntra Designs और Myntra Jabong India में 66 मिलियन डॉलर का निवेश किया.


फ्लिपकार्ट का घाटा वित्त वर्ष 2021-22 में उसकी बिजनेस-टू-बिजनेस यूनिट फ्लिपकार्ट इंडिया और बी2सी ई-कॉमर्स यूनिट फ्लिपकार्ट इंटरनेट के प्रदर्शन के आधार पर बढ़कर 7,800 करोड़ रुपये से अधिक हो गया.


रेडसीर की एक रिपोर्ट के अनुसार, फ्लिपकार्ट ग्रुप ने ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर 40,000 करोड़ रुपये की कुल अनुमानित बिक्री के लिए 24,800 करोड़ रुपये या लगभग 3 बिलियन डॉलर के सकल व्यापारिक मूल्य को देखते हुए त्योहारी सीजन की बिक्री के पहले सप्ताह का नेतृत्व किया.

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close