तो क्या 2023 में क्रिप्टो को लीगल करेगा भारत, Top 10 की लिस्ट में कौनसे पायदान पर?

तो क्या 2023 में क्रिप्टो को लीगल करेगा भारत, Top 10 की लिस्ट में कौनसे पायदान पर?

Thursday February 23, 2023,

3 min Read

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने G20 वित्त प्रमुखों की बैठक के मौके पर वैश्विक मंदी और क्रिप्टोकरेंसी संपत्तियों पर चर्चा की. इसी के साथ क्रिप्टो की पहुंच बढ़ाने के लिए इसे अपनाने और वैध बनाने के इच्छुक देशों पर एक नई रिपोर्ट आ गई है.

HedgewithCrypto की रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार, साल 2023 में 10 में से 7.37 के स्कोर के साथ ऑस्ट्रेलिया सबसे बड़ा देश है, जब क्रिप्टोकरेंसी को अपनाने की बात आती है. क्रिप्टोकरेंसी और दूसरी डिजिटल एसेट्स की बिक्री ऑस्ट्रेलिया में कानूनी और विनियमित है. भारत 2023 में क्रिप्टो अपनाने के लिए 7वें सबसे बड़े देश के रूप में उभरा है.

ऑस्ट्रेलिया के बाद, अमेरिका 10 में से 7.07 के स्कोर के साथ क्रिप्टो को अपनाने में दूसरे सबसे बड़े देश के रूप में उभरा है. वर्तमान में, पूरे देश में 33,630 क्रिप्टो एटीएम हैं.

रैंकिंग के अनुसार, ब्राज़ील 6.81/10 के स्कोर के साथ तीसरे स्थान पर आता है और क्रिप्टो के लिए औसत मासिक खोजों में 355% की भारी वृद्धि देखी गई है. दिसंबर 2022 में हस्ताक्षरित एक नया बिल पूरे ब्राजील में क्रिप्टोकरेंसी को वैध बनाता है.

क्रिप्टो अपनाने के लिए तैयार शीर्ष 10 देशों की लिस्ट यहां हैं:

top 10 countries ready for crypto adoption

क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म CoinSwitch ने दिसंबर, 2022 में अपनी एनुअल इन्वेस्टर रिपोर्ट जारी की थी. रिपोर्ट के मुताबिक नई दिल्ली में भारत में सबसे अधिक क्रिप्टोकरंसी को अपनाया गया है. इसके बाद राजस्थान की राजधानी और गुलाबी नगरी के नाम से मशहूर जयपुर का नंबर आता है.

रिपोर्ट से एक अंतर्दृष्टि यह थी कि पुरुषों और महिलाओं द्वारा अपनाए जाने वाले निवेश पैटर्न भारत में काफी हद तक समान थे, हालांकि, 8% पर, महिलाएं भारत के क्रिप्टो निवेशकों के बढ़ते हुए छोटे हिस्से का प्रतिनिधित्व करती हैं.

इससे पहले, 14 सितंबर 2022 को Chainalysis ने साल 2022 में ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी एडॉप्शन (Global Cryptocurrency Adoption for 2022) पर एक रिसर्च रिपोर्ट प्रकाशित की थी. इस रिपोर्ट के मुताबिक, वियतनाम में क्रिप्टोकरेंसी को सबसे ज्यादा अपनाया गया, यानि कि यह क्रिप्टो को अपनाने में पहले स्थान पर था.

फिलीपींस और यूक्रेन क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं. और संयुक्त राज्य अमेरिका पांचवें स्थान पर रहा है.

सर्वे के अनुसार, उभरते देशों ने इस वर्ष क्रिप्टोकरेंसी अपनाने की इंडेक्स में अपना दबदबा बनाए रखा. ठीक एक साल पहले भी इन्हीं देशों ने बाज़ी मारी थी. वियतनाम, फिलीपींस, यूक्रेन, भारत और पाकिस्तान को विश्व बैंक द्वारा निम्न-मध्यम आय वाले देशों के रूप में वर्गीकृत किया गया है. दूसरी ओर, उच्च-मध्यम आय वाले देशों में चीन, ब्राजील, थाईलैंड, और रूस शामिल हैं.

Daily Capsule
Another round of layoffs at Unacademy
Read the full story