[फंडिंग अलर्ट] फिनटेक स्टार्टअप मेरा कैशियर ने बॉलीवुड सिंगर सुखबीर सिंह व अन्य से जुटाए डेढ़ लाख डॉलर

By yourstory हिन्दी
April 06, 2020, Updated on : Tue Apr 07 2020 03:26:46 GMT+0000
[फंडिंग अलर्ट] फिनटेक स्टार्टअप मेरा कैशियर ने बॉलीवुड सिंगर सुखबीर सिंह व अन्य से जुटाए डेढ़ लाख डॉलर
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

नोएडा स्थित फिनटेक स्टार्टअप मेरा कैशियर (Mera Cashier) ने बॉलीवुड सिंगर सुखबीर सिंह, इंडिया एक्सलेरेटर, बौधिक वेंचर्स, शंकर नाथ (एक्स-सीएमओ, पेटीएम) और शायना गर्ग (संस्थापक, फंडू वर्क्स) से ब्रिज राउंड की फंडिंग में 150,000 डॉलर जुटाए हैं।


k

सांकेतिक चित्र



इस मौके पर सिंगर सुखबीर ने कहा, "मेरा कैशियर यूजर्स को समय का उपहार दे रहा है जो इन दिनों बेहद दुर्लभ है।" वे कहते हैं कि "मेरा कैशियर" का उपयोग करना किसी भी व्यवसायियों के लिए एक अच्छा निर्णय है।


इस साल जनवरी में स्टार्टअप को सीड फंडिंग के लिए 250,000 डॉलर मिले थे, जिसकी अगुवाई स्टार्टअप बडी के को-फाउंडर्स अमित सिंघल और मनीष अग्रवाल ने की।


जुलाई 2019 में सुनील कुमार, गौरव तोमर और सुचरिता रेड्डी द्वारा लॉन्च किया गया, मेरा कैशियर छोटे और सूक्ष्म व्यापारियों के लिए क्रेडिट लेनदेन रिकॉर्ड करने और मैनेज करने के लिए एक ऐप है। स्टार्टअप ने कहा कि उनके ऐप में कुछ यूनीक फीचर्स हैं जैसे कि सप्लायर्स से लिए गए क्रेडिट और मार्केट में दिए गए क्रेडिट दोनों को मैनेज करता है। यह लेनदेन को रिकॉर्ड करने के लिए क्यूआर कोड का उपयोग करता है जिससे व्यवसाय की दक्षता में सुधार होता है। यह एक ऐसा ऐप है जिसे यूजर और कस्टमर डाउनलोड कर सकते हैं और शामिल लेनदेन को देख सकते हैं।


मेरा कैशियर की सह-संस्थापक, सुचरिता रेड्डी ने कहा, "ग्राहक फोकस को लेकर हमारे जुनून के साथ, हम कई यूजर्स का विश्वास जीतने में सक्षम रहे हैं। हमें खुशी होती है जब हमारा कोई यूजर हमें ये बताने के लिए कॉल करता है हमारा ऐप उनके व्यवसाय में उनके लिए कितना उपयोगी है। हमारा विजन देश के छोटे और सूक्ष्म व्यवसायियों के लिए नंबर एक गंतव्य बनना है। "


8 महीने के बेहद कम समय में इस एंड्रॉइड ऐप को 2.5 लाख लोगों ने डाउनलोड किया है। मेरा कैशियर में टेक्नोलॉजी को मैनेज करने वाले गौरव तोमर कहते हैं कि हर दो हफ्ते में, मेरा कैशियर में एक नया फीचर लॉन्च किया जाता है। वे कहते हैं,

“हमारे पास इंटरफेस को सरल और उपयोग में आसान रखने के लिए एक बहुत मजबूत फोकस है, खासकर उन लोगों के लिए जिन्होंने हाल ही में टेक्नोलॉजी को एडॉप्ट किया है। उत्तर भारत में हमारी मजबूत उपस्थिति है लेकिन हम दक्षिणी भारत से भी डाउनलोड में मजबूत वृद्धि देख रहे हैं।"


इंडिया एक्सीलरेटर की सह-संस्थापक मोना सिंह के अनुसार,

“मेरा कैशियर अपने छोटे-छोटे व्यवसाय के लिए लाखों लघु और सूक्ष्म व्यवसायों को सक्षम करके एक बड़ी उपभोक्ता आवश्यकता को हल कर रहा है, ताकि वे दिन-प्रतिदिन की व्यावसायिक आवश्यकताओं के लिए सर्वश्रेष्ठ सॉफ्टवेयर समाधान तक पहुँच बना सकें। हम पैन-इंडिया स्तर तक कंपनी के पैमाने में मदद करने के लिए अपने विशाल नेटवर्क का लाभ उठाएंगे।”


अक्टूबर 2019 में, एसएमई को रिकॉर्ड रखने और व्यापार लेनदेन को ट्रैक करने में सक्षम बनाने वाले एक मोबाइल ऐप बेंगलुरु स्थित खाताबुक ने भी डीएसटी ग्लोबल, जीजीवी कैपिटल, सिकोइया इंडिया, टेनसेंट और अन्य के पार्टनर्स से सीरीज ए फंडिंग में $25 मिलियन हासिल किए हैं।


Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close