Ola, Uber को टक्कर देने की तैयारी में सरकार का ONDC नेटवर्क, मोबिलिटी सेक्टर में रखा कदम

ओएनडीसी (डिजिटल कॉमर्स का ओपन नेटवर्क), धारा 8 के अंतर्गत स्थापित गैर-लाभकारी संगठन है. भारत सरकार के वाणिज्य मंत्रालय द्वारा डिजिटल वाणिज्य को सर्वसुलभ कराने के लिए इसे स्थापित किया गया था. इसके साथ ही सरकार ओला और उबर जैसी कंपनियों को टक्कर देने की तैयारी कर रही है.

Ola, Uber को टक्कर देने की तैयारी में सरकार का ONDC नेटवर्क, मोबिलिटी सेक्टर में रखा कदम

Thursday March 23, 2023,

4 min Read

ऑटो रिक्शा बुकिंग ऐप, नम्मा यात्री (Namma Yatri) मोबिलिटी इनिशिएटिव के लिए Open Network For Digital Commerce (ONDC) के ओपन नेटवर्क का हिस्सा बन गया है. नम्मा यात्री तकनीक, ड्राइवरों को जीरो कमीशन पर सीधे ग्राहकों को अपनी सेवाएं प्रदान करने में सक्षम बनाती है.

ओएनडीसी (डिजिटल कॉमर्स का ओपन नेटवर्क), धारा 8 के अंतर्गत स्थापित गैर-लाभकारी संगठन है. भारत सरकार के वाणिज्य मंत्रालय द्वारा डिजिटल वाणिज्य को सर्वसुलभ कराने के लिए इसे स्थापित किया गया था. इसके साथ ही सरकार ओला और उबर जैसी कंपनियों को टक्कर देने की तैयारी कर रही है.

ओएनडीसी की ओपन मोबिलिटी पहल ग्राहकों के लिए कई तरह से वरदान साबित होगी - इससे ग्राहक अपने पसंदीदा ऐप से राइड बुक कर सकेंगे और साथ ही इससे मेट्रो, ऑटो, बसों जैसे परिवहन के कई साधन एकीकृत हो सकेंगे जिससे अधिक किफायती एवं परेशानी रहित यात्रा संभव हो सकेगी.

यह ऐप बेंगलुरु में चालू है, और ओएनडीसी इसे जल्द ही कई शहरों में लॉन्च करने की योजना बना रहा है. ड्राइवरों के सहयोग से जस्पे टेक्नोलॉजिज द्वारा निर्मित और लॉन्च किए गए, नम्मा यात्री ने ऐसा पहला समुदाय-चालित पहल होने का रिकॉर्ड कायम किया है जिससे लगभग 45,000 ड्राइवर और 4.5 लाख ग्राहक जुड़े हैं.

यह ऐप हाल ही में 100% ओपन ओपन हुआ है, और इसमें नागरिकों की सामूहिक भागीदारी का आह्वान किया गया है. इस ऐप के जरिए वर्तमान में लगभग 1 लाख साप्ताहिक यात्राएं पूरी होती हैं और यह ओएनडीसी नेटवर्क का हिस्सा बनकर इसे और अधिक आगे बढ़ाने का इरादा रखता है.

ओएनडीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, टी. कोशी ने साझेदारी की घोषणा करते हुए कहा, "हमें ओएनडीसी नेटवर्क में नम्मा यात्री का स्वागत करते हुए बेहद खुशी हो रही है. ओएनडीसी का ओपन मोबिलिटी नेटवर्क ग्राहकों और सेवा प्रदाताओं के लिए एक बड़े पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करेगा, जो कई नवाचारों और संभावनाओं को बढ़ावा देगा. सबसे पहले, यह सभी आवागमन सेवाओं को डिजिटाइज़ और एकीकृत करके ग्राहकों को अधिक सुविधा प्रदान करेगा. फिर, यह परिवहन से जुड़ी सभी आकार की कंपनियों को और मौजूदा एवं नए खिलाड़ियों के बीच समान अवसर प्रदान करेगा. यह ड्राइवरों और सेवा प्रदाताओं को आजीविका कमाने में भी सहायक होगा और सिर्फ मंच के हितों का ही ध्यान नहीं रखेगा. अंत में, यह सार्वजनिक परिवहन प्रणालियों के प्रभाव और उपयोग को बढ़ावा देगा. यूपीआई और एनपीसीआई ने डिजिटल भुगतान के लिए जो कार्य किया है, ओएनडीसी वही कार्य मोबिलिटी के लिए करने का इरादा रखता है."

उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग के सचिव श्री अनुराग जैन ने कहा, "हमारे बढ़ते शहरों में परिवहन को सुविधाजनक और किफायती बनाने के लिए, उपयोगकर्ताओं को सहज अनुभव प्रदान किया जाना महत्वपूर्ण है. ओएनडीसी जैसी खुली प्रणाली इस आवश्यक सहयोग और अंतर-क्षमता को सक्षम बनाती है. इसके अलावा, अनबंडलिंग से, सिस्टम अधिक समावेशी और कुशल बन जाते हैं. ओएनडीसी के अंतर्गत नम्मा यात्री मोबिलिटी के लिए स्थायी अत्याधुनिक समाधान हेतु सहयोगपूर्ण ढांचे की एक शानदार शुरुआत है. मैं टीम के इस प्रयास की भारी सफलता की कामना करता हूं."

जस्पे के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और संस्थापक, विमल कुमार ने कहा, "जस्पे ऐसी कुशल और विश्वसनीय तकनीकों के निर्माण में विश्वास करता है जो जनसंख्या के लिए बड़े पैमाने पर काम करती हैं, और हमने समान सिद्धांतों के साथ नम्मा यात्री का निर्माण किया है. नम्मा यात्री का विजन ड्राइवर्स जैसे सेवा प्रदाताओं को ग्राहकोन्मुखी खुली और किफायती तकनीकी उत्पादों एवं सिद्धांतों से सक्षम बनाना है. हमें ओएनडीसी का हिस्सा बनने की खुशी है क्योंकि यह खुले नवाचार और व्यापक पैमाने पर समस्याओं को हल करने के लिए प्रयासरत है. इसके अलावा, हम हमारे टेक प्लेटफॉर्म के जरिए भारत के अन्य शहरों और कस्बों को भी सहायता प्रदान करने का इरादा रखते हैं. यह भारत में शहरी गतिशीलता को ग्राहकों के लिए अधिक किफायती और निर्बाध बना देगा."

भारत के पास दुनिया के कुछ बेहतरीन डिजिटल ब्रेन हैं, और हमारी सामूहिक भागीदारी और खुले सहयोग से शहरी गतिशीलता से जुड़ी समस्याओं को बड़े पैमाने पर हल किया जा सकता है. इस लक्ष्य को गति देने के लिए ओएनडीसी, बेकन और नम्मा यात्री की टीमों ने नागरिकों के लिए गतिशीलता समाधानों में भाग लेने और योगदान देने के लिए हैकेथॉन की घोषणा की है.

यह आयोजन 23 मार्च से 9 अप्रैल 2023 के बीच होना है और इसका उद्देश्य नवीन स्थायी गतिशीलता समाधानों को आकर्षित करना है. www.nammayatri.in/challenge पर जाकर, इसमें भाग ले सकते हैं और प्रविष्टियाँ जमा कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें
Infosys के बोर्ड से रिटायर हुईं किरण मजूमदार-शॉ, जानिए अब कौन लेगा उनकी जगह


Edited by Vishal Jaiswal