अप्रैल 2022 में GST रेवेन्यू कलेक्शन ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, 1.68 लाख करोड़ रुपये रहा कुल कलेक्शन

By रविकांत पारीक
May 02, 2022, Updated on : Mon May 02 2022 05:41:08 GMT+0000
अप्रैल 2022 में GST रेवेन्यू कलेक्शन ने तोड़े सारे रिकॉर्ड,  1.68 लाख करोड़ रुपये रहा कुल कलेक्शन
अप्रैल 2022 में ग्रोस GST कलेक्शन अब तक का सबसे अधिक कलेक्शन है, जो पिछले सर्वाधिक कलेक्शन से 25,000 करोड़ रुपये अधिक है, पिछले महीने में 1,42,095 करोड़ रुपये एकत्र किए गए थे।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अप्रैल 2022 के महीने में ग्रोस GST रेवेन्यू कलेक्शन 1,67,540 करोड़ रुपये का रहा, जिसमें CGST 33,159 करोड़ रुपये, SGST 41,793 करोड़ रुपये, IGST 81,939 करोड़ रुपये (वस्‍तुओं के आयात पर संग्रह किए गए 36,705 करोड़ रुपये सहित) और उपकर 10,649 करोड़ रुपये (वस्‍तुओं के आयात पर संग्रह किए गए 857 करोड़ रुपये सहित) शामिल हैं।


अप्रैल 2022 में GST संग्रह अब तक का सबसे अधिक संग्रह है, जो पिछले सर्वाधिक संग्रह से 25,000 करोड़ रुपये अधिक है, पिछले महीने में 1,42,095 करोड़ रुपये एकत्र किए गए थे।


सरकार ने IGST से 33,423 करोड़ रुपये का CGST और 26962 करोड़ रुपये का SGST में निपटान किया है। अप्रैल 2022 के महीने में नियमित निपटान के बाद केन्‍द्र और राज्यों का कुल राजस्व CGST के लिए 66,582 करोड़ रुपये और SGST के लिए 68,755 करोड़ रुपये रहा।


अप्रैल 2022 के महीने के लिए राजस्व पिछले साल के इसी महीने में संग्रह किए गए GST राजस्व से 20 प्रतिशत अधिक है। इस मास के दौरान, वस्‍तुओं के आयात से प्राप्‍त राजस्व 30 प्रतिशत अधिक रहा और घरेलू लेन-देन से प्राप्‍त राजस्‍व (सेवाओं के आयात सहित) पिछले वर्ष के इसी महीने के दौरान इन स्रोतों से प्राप्‍त राजस्व की तुलना में 17 प्रतिशत अधिक है।

चार्ट चालू वर्ष के दौरान मासिक ग्रोस GST रेवेन्यू के रुझान को दर्शाता है।

चार्ट चालू वर्ष के दौरान मासिक ग्रोस GST रेवेन्यू के रुझान को दर्शाता है।

पहली बार सकल GST संग्रह 1.5 लाख करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर गया है। मार्च 2022 के महीने में कुल ई-वे बिल सृजित हुए, जो 7.7 करोड़ थे, जो फरवरी 2022 के महीने में उत्पन्न 6.8 करोड़ ई-वे बिल से 13% अधिक है, जो तेज गति से व्यावसायिक गतिविधि में सुधार को दर्शाता है।


अप्रैल 2022 के महीने में 20 अप्रैल 2022 को एक दिन में अब तक का सबसे अधिक कर संग्रह हुआ और उस दिन शाम 4 बजे से शाम 5 बजे के दौरान एक घंटे के दौरान सबसे अधिक कर संग्रह देखा गया। 20 अप्रैल 2022 को 9.58 लाख लेनदेन के माध्यम से 57,847 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया था और 4-5 बजे के दौरान 88,000 लेनदेन के माध्यम से लगभग 8,000 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया। पिछले साल (उसी तारीख को) सबसे अधिक एक दिन का भुगतान हुआ था जब 7.22 लाख लेनदेन के माध्यम से 48,000 करोड़ रुपये का भुगतान हुआ और सर्वाधिक एक घंटे का संग्रह (पिछले साल इसी तारीख को 2 बजे दोपहर) 65,000 लेनदेन के माध्यम से 6,400 करोड़ रुपये का भुगतान हुआ था।


अप्रैल 2022 के दौरान, GSTR-3B में 1.06 करोड़ GST रिटर्न दाखिल किए गए, जिनमें से 97 लाख मार्च 2022 के महीने से संबंधित थे, जबकि अप्रैल 2021 के दौरान कुल 92 लाख रिटर्न दाखिल किए गए थे। इसी तरह, अप्रैल 2022 के दौरान GSTR-1 में जारी किए गए चालानों के 1.05 करोड़ विवरण दाखिल किए गए। महीने के अंत तक, अप्रैल 2022 में GSTR-3B का फाइलिंग प्रतिशत 84.7% रहा, जबकि अप्रैल 2021 में 78.3% था और अप्रैल 2022 में GSTR-1 के लिए फाइलिंग प्रतिशत 83.1% था, जबकि अप्रैल 2021 में 73.9% था।


यह अनुपालन व्यवहार में स्पष्ट सुधार दर्शाता है, जो कर प्रशासन द्वारा समय पर रिटर्न दाखिल करने के लिए करदाताओं को प्रेरित करने हेतु किए गए विभिन्न उपायों का परिणाम है।


Edited by Ranjana Tripathi

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें