घर बैठे शुरू करें ये बिजनेस, जिसे एक बार चस्का लग गया वो बार-बार लौटकर आएगा आपके पास

By Anuj Maurya
December 15, 2022, Updated on : Thu Dec 15 2022 02:31:32 GMT+0000
घर बैठे शुरू करें ये बिजनेस, जिसे एक बार चस्का लग गया वो बार-बार लौटकर आएगा आपके पास
खासकर शहरों में टिफिन का बिजनेस घर बैठे शुरू करना फायदे का सौदा है. शहरों में लोगों के पास एक तो वक्त कम होता है, वहीं वह बाहर का खाना रोज नहीं खाना चाहते.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अगर आप शहर में रहने वाली महिला हैं और कोई बिजनेस करने की सोच रही हैं तो आप टिफिन सर्विस (Tiffin Service Business) शुरू कर सकती हैं. महिलाओं को टिफिन सर्विस के बिजनेस में सफलता मिलना तय ही समझिए. आपको इस बिजनेस (Business Idea) के लिए कोई बड़ा निवेश भी करने की जरूरत नहीं है. इसे आप अपने घर से ही शुरू कर सकती हैं और अगर डिमांड ज्यादा बढ़ जाए तो इसके लिए कोई दुकान भी ले सकती हैं. आइए जानते हैं कैसे शुरू करें टिफिन सेवा का बिजनेस (How To Start Tiffin service Business) और कमाएं मुनाफा.

कब और कैसे शुरू करें ये बिजनेस

टिफिन सेवा का बिजनेस आप अपने किचन से ही शुरू कर सकती हैं. इसे शुरू करने का कोई बेस्ट टाइम नहीं है, हां आपको अपने आस-पास के टारगेट कस्टमर्स पर थोड़ी रिसर्च जरूर करनी होगी. शुरुआत में आप अपने पास-पड़ोस में रहने वाले किराएदार लोगों से ऑर्डर ले सकती हैं. स्टूडेंट, वर्किंग मेन और वुमेन, रिटायर हो चुके बुजुर्ग आदि आपके ग्राहक हो सकते हैं.

कितनी लागत, कितना मुनाफा?

लागत के नाम पर शुरुआत में आपको सिर्फ रॉ मटीरियल यानी खाने की चीजों पर ही खर्च करने होंगे, जैसे दाल, चावल, सब्जी आदि. कोई भी खाना बनाने में आपकी जो लागत आती है, उसमें कुछ अतिरिक्त पैसे मार्जिन की तरह जोड़ते हुए वह आप अपने ग्राहकों से कीमत के तौर पर ले सकती हैं. अगर एक बार ग्राहक को आपके हाथ का खाना अच्छा लग गया, तो अगली बार वह खुद लौटकर आपके पास आएगा और अपने साथ के लोगों को भी आपके बारे में बताएगा. खाने के बिजनेस में अगर आपकी डिमांड और सप्लाई मैच होती रहती है तो आपको लागत से दोगुने तक का मुनाफा हो सकता है.


जब आपका बिजनेस बड़ा हो जाए तो आप अपने टिफिन बिजनेस के लिए अतिरिक्त लोग रख सकती हैं, अलग दुकान ले सकती हैं और अलग से बड़े बर्तन और खाना बनाने का पूरा बड़ा सेटअप बना सकती हैं. इस स्टेज में आने पर आप अपने टिफिन की कीमत को धीरे-धीरे कर के थोड़ा बढ़ा भी सकती हैं. अगर आपके खाने की क्वालिटी और टेस्ट हमेशा शानदार रहता है तो ग्राहक कुछ पैसे अतिरिक्त भी देने को तैयार हो जाएंगे.

डिमांड-सप्लाई को ऐसे करें मैच

टिफिन सर्विस में कुछ लोग तो रेगुलर होते हैं, लेकिन कुछ लोग कभी-कभी खाना मंगवाते हैं. ऐसे में आप एक वाट्सऐप ग्रुप बना सकती हैं, जिस पर एक दिन पहले ही अगले दिन का मेन्यू डाल सकती हैं. मान लीजिए अगले दिन आप नाश्ते में आलू के पराठे बनाएंगी, तो उसके बारे में पहले से ही वाट्सऐप पर सूचित कर दें और ऑर्डर देने की एक डेडलाइन तय कर दें. इससे आपकी डिमांड-सप्लाई में कोई दिक्कत नहीं आएगी. यानी जितने ऑर्डर आपके पास होंगे, आप उन्हीं के हिसाब से खाना बनाएंगी. अगर आप किसी हाईराइज सोसाएटी में रहती हैं तो ये बिजनेस आपके लिए बहुत आसान और तगड़ा मुनाफा देने वाला साबित हो सकता है.

कैसे बनाएं ग्राहक?

खाने के बिजनेस में ग्राहक बनाना आसान नहीं होता. लोग यूं ही किसी का खाना ट्राई नहीं करते. ऐसे में आप चाहे टिफिन के कुछ सैंपल बना सकती हैं. जहां स्टूडेंट्स रहते हैं या वर्किंग मेन-वुमेन रहते हैं, उन्हें अप्रोच कर सकती हैं. अगर उन्हें आपका खाना पसंद आता है तो वह बेशक आपसे खाना मंगवाएंगे. अगर आप किसी नई डिश को भी अपने बिजनेस में शामिल करना चाहती हैं, जैसे मिठाई, स्नैक्स, आइसक्रीम, केक आदि तो अपने ग्राहकों को बीच में कभी सैंपल के तौर पर अपनी नई डिश फ्री में भेज दीजिए. उन्हें पसंद आएगा तो वह आपसे अगली बार वो डिश जरूर मंगवाएंगे.

कुछ बातों का रखें ध्यान

हर तरह के ग्राहकों के लिए एक ही तरह का खाना ना बनाएं. इस बिजनेस में आप कुछ सेग्मेंट बना सकती हैं. बड़ी-बड़ी सोसाएटी में रहने वाले लोग कम मिर्च मसाले वाला और कम तेल वाला खाना चाहते हैं, ताकि उनकी हेल्थ भी अच्छी बनी रहे. वहीं अगर बात स्टूडेंट्स की करें तो वह चटपटा खाना ढूंढेंगे. ऐसे में आपको दो-तीन कैटेगरी में अपने ग्राहकों को बांट लेना चाहिए और उसी के हिसाब से खाना बनाना चाहिए. इन कैटेगरी के हिसाब से ही आपको अपने खाने की कीमत तय करनी होगी, क्योंकि हर किसी के लिए अलग-अलग तरह का खाना होगा.


ध्यान रहे कि कभी भी अपने खाने में क्वालिटी के साथ समझौता ना करें. अगर आप किसी को साथ मदद के लिए रखना चाहती हैं तो भी खाना खुद ही बनाइए, क्योंकि दूसरा शख्स खाना बनाएगा तो स्वाद बदल सकता है. साथ ही, जिसे आपने काम पर रखा है वह क्वालिटी के लिए ज्यादा चिंता नहीं करेगा, जबकि क्वालिटी खराब होने से आपका पूरा बिजनेस ही खराब हो सकता है.


अपने किचन में साफ-सफाई और हाईजीन का पूरा ध्यान रखें. हर तरफ साफ-सफाई रखें. अगर मुमकिन हो तो अपने किचन की लाइव स्ट्रीमिंग करें, जिससे लोग खुद देख सकें कि आप क्या बना रही हैं. ऐसा करने से ग्राहकों का आप पर भरोसा और बढ़ेगा. हालांकि, ऐसी स्थिति में आपको हाइजीन पर बहुत ज्यादा स्ट्रिक्ट होना होगा, क्योंकि हर कोई आपको देख रहा होगा. ऐसे में अगर आपने छोटी सी भी गलती की तो उसका बड़ा नुकसान झेलना पड़ सकता है.

ब्रांड बनाने पर करें फोकस

भले ही शुरुआत में आपको लगे कि ब्रांडिंग पर पैसे खर्च करने से पहले कुछ ग्राहक बना लें, लेकिन बाद में ब्रांडिंग पर ही फोकस करें. अगर आपके 20-30 ग्राहक भी हो जाते हैं तो उसके बाद आप अपने किचन का एक नाम सोचें, उसे रजिस्टर करवाएं, उस नाम का डोमेन नेम लेकर वेबसाइट बना लें. साथ ही तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर अपने किचन का पेज बनाएं. अपने ग्राहकों से खाने के फीडबैक और रिव्यू सोशल मीडिया पर शेयर करने को कहें. साथ ही अपने किचन के लिए पैम्फलेट, बिजनेस कार्ड और स्टिकर वैगरह भी बनवा लें, जिन्हें टिफिन के साथ ग्राहकों को दें. इससे आप अपने ब्रांड की मार्केटिंग अच्छे से कर पाएंगी और अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच पाएंगी.