भारत, अमेरिका कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद से लोगों की सुरक्षा को प्रतिबद्ध : अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप

By भाषा पीटीआई
February 24, 2020, Updated on : Mon Feb 24 2020 14:31:30 GMT+0000
भारत, अमेरिका कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद से लोगों की सुरक्षा को प्रतिबद्ध : अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अहमदाबाद, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को कहा कि भारत और अमेरिका अपने-अपने लोगों को कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से सुरक्षा देने को प्रतिबद्ध हैं और दोनों देश अपने रक्षा संबंधों को विस्तार देने और एक ‘शानदार कारोबारी समझौते’ पर काम कर रहे हैं।


k

फोटो क्रेडिट: DeccanHelard



अपनी दो दिवसीय भारत यात्रा पर अहमदाबाद पहुंचने पर ट्रंप ने कहा कि उनका देश भारत को पसंद करता है और उसका निष्ठावान मित्र बना रहेगा।


अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में आयोजित ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने दूसरों को अपनाने की भारत की महान परंपरा, कानून के शासन, हर इंसान के गरिमा के सम्मान का जिक्र किया और कहा कि यहां लोग सौहार्द के साथ अपने धर्म का पालन कर सकते हैं।


अपनी पहली भारत यात्रा पर आने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अहमदाबाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर ट्रंप एवं उनकी पत्नी की अगवानी की।


अमेरिकी राष्ट्रपति ने अहमदाबाद में मोटेरा स्टेडियम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा,

‘‘मोदी एक अद्भुत नेता हैं, भारत के लिए दिन-रात काम करते हैं। अमेरिका हमेशा भारत का एक वफादार और निष्ठावान मित्र रहेगा।’’


अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा,

‘‘भारत और अमेरिका अपने लोगों को कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से बचाने को प्रतिबद्ध हैं।’’


उन्होंने कहा,

‘‘भारत-अमेरिका आतंकवाद और उसकी विचाराधारा से लड़ने को प्रतिबद्ध हैं, इसीलिए मेरी सरकार आतंकवादी समूहों से निपटने के लिए पाकिस्तान के साथ काम कर रही है।’’


अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि भारत - अमेरिका के बीच स्वाभाविक और स्थायी मित्रता है और उनके देश के साथ संबंधों में भारत का विशेष स्थान है।


मोटेरा स्टेडियम में पत्नी मेलानिया, पुत्री इवांका, दामाद जेरेड कुश्नर की मौजूदगी में ट्रंप ने कहा कि अमेरिका भारत को पसंद करता है और उसका निष्ठावान मित्र बना रहेगा।





उन्होंने कहा,

‘‘भारत और अमेरिका के बीच स्वाभाविक और स्थायी मित्रता है। भारत व्यक्तिगत स्वतंत्रता, कानून के शासन, हर इंसान की गरिमा का सम्मान करता है, यहां लोग सौहार्द के साथ अपने धर्म का पालन कर सकते हैं।’’


उन्होंने कहा कि हम दुनियाभर में अपने गठबंधनों में तेजी से नई जान फूंक रहे हैं।


ट्रंप ने कहा कि हम मंगलवार को तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौते करेंगे। अमेरिका, भारत का प्रमुख रक्षा साझेदार बनेगा।


अमेरिकी राष्ट्रपति ने ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में मोदी के कामों का उल्लेख करते हुए कहा कि अगले 10 साल में आपके देश से अत्यधिक गरीबी दूर हो जाएगी।


उन्होंने अपने भाषण की शुरूआत में कहा,

‘‘नमस्ते, यहां होना मेरे लिए बेहद सम्मान की बात है।’’


ट्रंप ने कहा कि ‘‘हम दुनियाभर में अपने गठबंधनों में तेजी से नई जान फूंक रहे हैं।’’


उन्होंने कहा कि दोनों देश एक ‘शानदार कारोबार समझौते’ पर काम कर रहे हैं लेकिन वह (मोदी) सौदेबाजी में बहुत सख्त हैं।


मोदी की प्रशांसा करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी इस बात का उदाहरण हैं कि भारत कठिन परिश्रम से क्या हासिल कर सकता है।


उन्होंने आतंकवाद को काबू में करने में प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों की सराहना की।


ट्रंप ने कहा कि डीडीएलजे जैसी बेहतरीन रोमांटिक फिल्मों सहित भारत में हर साल 2000 फिल्में बनाई जाती हैं। उन्होंने अपने संबोधन में दिवाली और होली जैसे भारतीय त्योहारों का जिक्र किया। ट्रंप ने स्वामी विवेकानंद को भी उद्धृत किया।


वहीं, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा को भारत और अमेरिका के संबंधों में नया अध्याय करार देते हुए कहा कि यह दोनों देशों के लोगों की प्रगति और समृद्धि का एक नया दस्तावेज बनेगा।


अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया के स्वागत में आयोजित ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा,

‘‘भारत-अमेरिका के संबंध अब केवल गठजोड़ तक ही नहीं हैं। यह इससे काफी आगे और करीबी रिश्ते हैं।’’


उन्होंने कहा कि आज मोटेरा स्टेडियम में एक नया इतिहास बन रहा है, आज हम इतिहास को दोहराते हुए भी देख रहे हैं।


मोदी ने समारोह में मौजूद ट्रंप की पुत्री इवांका, दामाद जेरेड कुश्नर का भी स्वागत किया।


Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close