Lava International के IPO में देरी, Inova Captab और BlueJet Healthcare को सेबी की मंजूरी

By रविकांत पारीक
January 19, 2023, Updated on : Thu Jan 19 2023 09:55:24 GMT+0000
Lava International के IPO में देरी, Inova Captab और BlueJet Healthcare को सेबी की मंजूरी
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) ने घरेलू मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग कंपनी लावा इंटरनेशनल के आईपीओ (Lava International IPO) दस्तावेजों को वापस लौटा दिया है. नियामक ने कंपनी से इन दस्तावेजों में कुछ संशोधन करने को कहा है. इस कदम से कंपनी के आईपीओ में देरी हो सकती है. लावा इंटरनेशनल ने आईपीओ के जरिये पूंजी जुटाने के लिए सितंबर, 2021 में नियामक सेबी के पास शुरुआती दस्तावेज जमा कराये थे.


आईपीओ के तहत 500 करोड़ रुपये तक के नये शेयर जारी किए जाने थे और 4,37,27,603 शेयरों की बिक्री पेशकश (OFS) लाई जानी थी.


बाजार नियामक ने मंगलवार को बताया कि उसने कंपनी के दस्तावेजों को 13 जनवरी, 2023 को इस सलाह के साथ वापस कर दिया कि कुछ विशिष्ट संशोधनों के बाद इसे फिर से जमा कराया जाये.


हालांकि, नियामक ने यह नहीं बताया कि उसने कंपनी से दस्तावेजों में कैसे संशोधन करने को कहा है.

Inova Captab और BlueJet Healthcare को सेबी की मंजूरी

दवा कंपनियों इनोवा कैपटैब लिमिटेड (Inova Captab Ltd) और ब्लू जेट हेल्थकेयर (BlueJet Healthcare) को IPO के जरिये धन जुटाने के लिए सेबी की हरी झंडी मिल गई है. बाजार नियामक ने मंगलवार को बताया कि दोनों कंपनियों ने पिछले साल जून और सितंबर के बीच उसके पास आईपीओ दस्तावेज जमा कराये थे. कंपनियों को 9-11 जनवरी के दौरान सेबी का ‘निष्कर्ष' मिला है.


किसी भी कंपनी को आईपीओ लाने के लिए सेबी का ‘निष्कर्ष' जरूरी होता है.


दस्तावेजों के अनुसार, इनोवा कैपटैब आईपीओ में 400 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी करेगी. इसके अलावा इसके प्रवर्तक और अन्य शेयरधारक 96 लाख शेयरों की बिक्री पेशकश (OFS) लायेंगे.


OFS के तहत, मनोज कुमार लोहारीवाला, विनय कुमार लोहारीवाला और ज्ञान प्रकाश अग्रवाल प्रत्येक 32-32 लाख शेयर बेचेंगे.


वहीं ब्लू जेट हेल्थकेयर का आईपीओ पूरी तरह से बिक्री पेशकश (OFS) पर आधारित है. इसके प्रवर्तक - अक्षय बंसारीलाल अरोड़ा और शिवेन अक्षय अरोड़ा OFS के तहत 2,16,83,178 शेयरों की बिक्री करेंगे. दोनों कंपनियों के शेयर बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध होंगे.


इससे पहले, होटल कारोबार से जुड़े स्टार्टअप Oyo का संचालन करने वाली कंपनी Oravel stays Limited ने बुधवार को कहा कि वह आईपीओ लाने के लिए अपने ड्राफ्ट पेपर को अगले महीने के मध्य तक फिर से दाखिल करेगी. इस महीने की शुरुआत में पूंजी बाजार नियामक सेबी (SEBI) ने कंपनी से कुछ नयी जानकारी के साथ IPO के ड्राफ्ट पेपर फिर से दाखिल करने को कहा था.


इसके साथ ही, टाटा समूह (Tata Group) की एक और कंपनी आईपीओ लाने की तैयारी में जुट गई है. यह कंपनी है टाटा टेक्नोलॉजीस (Tata Technologies). कंपनी इस आईपीओ से 4000 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है.

यह भी पढ़ें
IPO के लिए 15 फरवरी तक दोबारा दस्तावेज दाखिल करेगी OYO