शुरू हो गई Tata Technologies का IPO लाने की तैयारी, 4000 करोड़ रुपये जुटाने की रहेगी कोशिश

By yourstory हिन्दी
January 19, 2023, Updated on : Thu Jan 19 2023 08:35:34 GMT+0000
शुरू हो गई Tata Technologies का IPO लाने की तैयारी, 4000 करोड़ रुपये जुटाने की रहेगी कोशिश
अपेक्षित रकम जुटाए जाने के बाद टाटा टेक्नोलॉजीस की वैल्यू 16,200 करोड़-20,000 करोड़ रुपये हो जाएगी.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

टाटा समूह (Tata Group) की एक और कंपनी आईपीओ लाने की तैयारी में जुट गई है. यह कंपनी है टाटा टेक्नोलॉजीस (Tata Technologies). कंपनी इस आईपीओ से 4000 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है. इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में मामले की जानकारी रखने वाले लोगों के हवाले से कहा गया है कि टाटा मोटर्स की सहायक कंपनी दो सलाहकारों के साथ काम कर रही है और 3,500 करोड़-4,000 करोड़ रुपये जुटाने में मदद के लिए एक और सलाहकार नियुक्त करने की प्रक्रिया में है. अपेक्षित रकम जुटाए जाने के बाद टाटा टेक्नोलॉजीस की वैल्यू 16,200 करोड़-20,000 करोड़ रुपये (2 अरब-2.5 अरब डॉलर) हो जाएगी. इससे पहले आखिरी बार 2004 में Tata Group) की TCS का आईपीओ आया था.


इसके अलावा टाटा प्ले (पूर्व में टाटा स्काई) का आईपीओ लाने की भी तैयारी है. इसने शेयर बाजार नियामक सेबी के पास एक गोपनीय फाइलिंग की है और टाटा प्ले, इस विकल्प का इस्तेमाल करने वाली एकमात्र भारतीय कंपनी है. दिसंबर में टाटा मोटर्स के बोर्ड ने टाटा टेक्नोलॉजीस में अपनी हिस्सेदारी के आंशिक विनिवेश को मंजूरी दे दी. टाटा मोटर्स ने एक एक्सचेंज फाइलिंग में कहा था कि आईपीओ एक उपयुक्त समय पर, बाजार की स्थितियों, लागू स्वीकृतियों, विनियामक मंजूरियों के साथ आएगा, लेकिन शेड्यूल विवरण प्रदान नहीं किया था.

कितना है रेवेन्यु

वित्तीय वर्ष 2021-2022 में, टाटा टेक्नोलॉजी का रेवेन्यु सालाना आधार पर 47% बढ़ा, जबकि परिचालन लाभ 65% बढ़ा. ऑपरेटिंग मार्जिन 18.3% था, जो वित्त वर्ष 2020-21 में 16.3% था. 31 मार्च, 2022 तक सर्विस ऑर्डर बुक सालाना आधार पर 29% बढ़कर 25 करोड़ डॉलर हो गई.

टाटा मोटर्स की कितनी हिस्सेदारी

कंपनी की 2022 की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार, टाटा मोटर्स की टाटा टेक्नोलॉजीस में 74.42% हिस्सेदारी है. सिंगापुर स्थित और टाटा कैपिटल एडवाइजर्स द्वारा प्रबंधित निवेश फर्म, अल्फा टीसी होल्डिंग्स पीटीई लिमिटेड 8.96% की मालिक है, जबकि टाटा कैपिटल ग्रोथ फंड 4.48% की मालिक है. अन्य छोटे शेयरधारकों में टाटा मोटर्स फाइनेंस लिमिटेड, टाटा एंटरप्राइजेज ओवरसीज लिमिटेड, रतन टाटा, एस रामादुरई, कंपनी के चेयरमैन और अन्य शामिल हैं.

क्या करती है Tata Technologies

Tata Technologies की शुरुआत 1989 में हुई थी. यह एक इंजीनियरिंग डिज़ाइन और टेक्नोलॉजी सर्विसेज कंपनी है, जो ऑटोमोटिव, एयरोस्पेस, औद्योगिक भारी मशीनरी आदि को कवर करती है. एक वैश्विक उत्पाद इंजीनियरिंग और डिजिटल सेवा कंपनी के रूप में, यह कंपनियों को बेहतर उत्पाद विकसित करने के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकी और पारंपरिक इंजीनियरिंग के कॉन्वर्जेंस में मदद करती है.


हाल के वर्षों में, यह ओरिजिनल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरर्स के साथ कॉन्सेप्ट इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवीएस), पूर्ण उत्पाद विकास और यहां तक कि डिजिटल बिक्री व मार्केटिंग की व्यवहार्यता का पूर्व-अध्ययन करने के लिए काम कर रही है. Tata Technologies में 9,300 से अधिक कर्मचारी हैं जो पूरे यूरोप, उत्तरी अमेरिका और एशिया-प्रशांत में ग्राहकों की सेवा कर रहे हैं.


Edited by Ritika Singh