फिल्मों में एक्टिंग कर चुकी हैं ये तेज़ तर्रार आईपीएस अधिकारी, इनसे थर-थर काँपते हैं अपराधी

सिमाला प्रसाद की यह कहानी कई मायनों में खास है क्योंकि उन्होंने अपने भविष्य के लिए आईपीएस बनने का सपना बुना ही नहीं था, बल्कि वे कुछ और ही करना चाहती थीं।

फिल्मों में एक्टिंग कर चुकी हैं ये तेज़ तर्रार आईपीएस अधिकारी, इनसे थर-थर काँपते हैं अपराधी

Friday December 10, 2021,

3 min Read

सिमाला प्रसाद एक ऐसी आईपीएस अधिकारी हैं जिनके नाम भर से अपराधी कांप जाते हैं। अपने तेज़ तर्रार रवैये के साथ ही सिमाला बॉलीवुड में भी अपने काम का लोहा मनवा चुकी हैं। सिमाला प्रसाद की यह कहानी कई मायनों में खास है क्योंकि उन्होंने अपने भविष्य के लिए आईपीएस बनने का सपना बुना ही नहीं था, बल्कि वे कुछ और ही करना चाहती थीं।


सिमाला बचपन से ही एक्टिंग और डांस की शौकीन थीं और अपने इसी शौक के चलते वे स्कूल में भी सभी डांस प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेती रहती थीं। साल 1980 में भोपाल में पैदा होने वाली सिमाला ने अपनी शुरुआती पढ़ाई सेंट जोसेफ स्कूल से पूरी की और इसके बाद उन्होंने बीकॉम और बीयू से पीजी की पढ़ाई पूरी की।

बिना कोचिंग पास की यूपीएससी परीक्षा

आगे बढ़ते हुए सिमाला ने पीसीएस की परीक्षा दी और उनका उसमें चयन भी हो गया। सिमाला को उनकी पहली पोस्टिंग बतौर डीएसपी मिली, हालांकि नौकरी के दौरान ही वे यूपीएससी की तैयारी भी करती रहीं और अपनी अथक लगन के साथ आगे बढ़ते हुए उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में सफलता भी हासिल कर ली।

सिमाला प्रसाद

सिमाला प्रसाद

गौरतलब है कि यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए सिमाला ने किसी भी कोचिंग संस्थान का सहारा नहीं लिया, बल्कि वे खुद से ही नौकरी के साथ समय निकाल इसके लिए तैयारी करती रहीं। मालूम हो कि सिमाला प्रसाद के पिता भागीरथ प्रसाद खुद भी एक आईपीएस अधिकारी और सांसद रह चुके हैं, जबकि उनकी माँ मेहरुन्निसा परवेज़ एक जानी-मानी साहित्यकार रही हैं।


मीडिया से बात करते हुए सिमाला ने बताया था कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वे सिविल सेवा में जाएंगी, हालांकि घर के भीतर मौजूद माहौल ने उनके भीतर भी आईपीएस बनने की एक लौ जगा दी थी और इसी के चलते वे प्रशासनिक सेवाओं की तरफ आगे बढ़ीं।

खौफ खाते हैं अपराधी

तेज़ तर्रार इपास अधिकारी के रूप में मशहूर सिमाला से अपराधी खौफ खाते हैं। सिमाला तब काफी चर्चा में आईं जब उनकी पोस्टिंग मध्यप्रदेश के डिंडौरी में थी और वहाँ के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में उन्होंने नक्सलियों की नाक में दम कर दिया था।


यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों के लिए सिमाला टिप्स देते हुए कहती हैं कि सही गाइडेंस के साथ सेल्फ स्टडी करते हुए यूपीएससी की परीक्षा आसानी से पास कि जा सकती है, हालांकि अभ्यर्थियों को यूपीएससी परीक्षा के सिलेबस और उसके परीक्षा पैटर्न को गंभीरता से समझना होगा।

ऐसे शुरू हुई एक्टिंग

सिमाला उस समय दिल्ली के एक कार्यक्रम में शामिल हुईं थीं जहां उनकी मुलाक़ात निर्देशक जैगम इमाम से हुई और उन्होंने सिमाला को अपनी फिल्म अलिफ की कहानी सुनाते हुए उन्हें किरदार ऑफर कर दिया। सिमाला ने वह ऑफर स्वीकार कर लिया और बाद में फिल्म को साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया में हुए इंडियन इंटेरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ क्वींसलैंड में प्रदर्शित किया गया था। फिल्म को अगले साल यानी 2017 के फरवरी महीने में रिलीज़ किया गया था।

सिमाला प्रसाद

अपने इस डेब्यू के बाद सिमाला ने साल 2019 में आई फिल्म नक्काश में एक पत्रकार का किरदार निभाया था जो कि काफी चर्चित हुआ था। कोरोना महामारी के दौरान सिमाला की लिखी हुई एक कविता सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई थी, जिसके बाद उनकी चर्चा हर ओर होने लगी थी।


Edited by रविकांत पारीक