JobMarket: क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज Coinbase अपने 900 कर्मचारियों को नौकरी से निकालेगा

मार्केट के बिगड़े हालात के चलते इस सेक्टर की कंपनियों ने अब कर्मचारियों की छंटनी करने का फैसला किया है. सबसे बड़े और सबसे मूल्यवान क्रिप्टो एक्सचेंजों में से एक, कॉइनबेस ग्लोबल इंक ने मंगलवार को कहा कि वह अपने 18% कर्मचारियों की छंटनी कर रहा है.

JobMarket: क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज Coinbase अपने 900 कर्मचारियों को नौकरी से निकालेगा

Wednesday June 15, 2022,

3 min Read

दुनियाभर के क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों में इन दिनों तहलका मचा हुआ है. बिटकॉइन समेत लगभग हर क्रिप्टोकरेंसी की चाल बिगड़ी हुई है. कॉइनडेस्क के अनुसार, बिटकॉइन बुधवार को $ 21,260 (ख़बर लिखे जाने तक) पर ट्रेड कर रहा था. दिसंबर 2020 के बाद से इस क्रिप्टोकरेंसी का कारोबार 20,000 डॉलर से कम नहीं हुआ है.


डॉव जोन्स मार्केट डेटा के अनुसार, बिटकॉइन 10.13% गिरकर 20,139.89 डॉलर हो गया, जो 16 दिसंबर, 2020 के बाद का सबसे निचला स्तर है. यह पिछले साल नवंबर में अपने सबसे अधिक भाव $ 67,802 से लगभग 68% गिरा है.


मार्केट के बिगड़े हालात के चलते इस सेक्टर की कंपनियों ने अब कर्मचारियों की छंटनी करने का फैसला किया है. सबसे बड़े और सबसे मूल्यवान क्रिप्टो एक्सचेंजों में से एक, कॉइनबेस ग्लोबल इंक ने मंगलवार को कहा कि वह अपने 18% कर्मचारियों की छंटनी कर रहा है. यह एक ऐसा कदम है जो कंपनी द्वारा हायरिंग रोकने के लगभग एक महीने बाद लिया गया है. दो अन्य प्रमुख क्रिप्टो कंपनियों, Crypto.com और BlockFi ने भी छंटनी की घोषणा की है.


मंगलवार को कॉइनबेस के शेयर 0.8% गिरकर 51.58 डॉलर पर बंद हुए. स्टॉक आज तक लगभग 80% गिर गया है.


दूसरी हाई-रिस्क वाली असेट्स के साथ-साथ क्रिप्टोकरेंसी डूब रही है क्योंकि फेडरल रिजर्व ने कोरोनावायरस महामारी में पहले अपनाई गई आक्रामक मौद्रिक नीतियों को लगातार उलट दिया है. हाल ही में, बढ़ती मुद्रास्फीति (inflation) से निपटने के लिए ब्याज दरें बढ़ाने के उसके प्रयासों ने निवेशकों की जोखिम उठाने की क्षमता को और कम कर दिया है.

CoinMarketCap के अनुसार, पूरे क्रिप्टो सेक्टर की मार्केट वैल्यू नवंबर में लगभग 3 ट्रिलियन डॉलर से गिरकर 1 ट्रिलियन डॉलर से भी कम हो गई है. द वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, KBW के मैनेजिंग डायरेक्टर काइल वोइग्ट ने कहा कि ये गिरावट व्यापारिक गतिविधि और गति में एक महत्वपूर्ण गिरावट को दर्शाती है, और जब तक कि यह बदल नहीं जाता, तब तक कॉइनबेस जैसे इंडस्ट्री के खिलाड़ी दबाव में रहने की संभावना रखते हैं.


कॉइनबेस के चीफ़ एग्जीक्यूटिव ब्रायन आर्मस्ट्रांग ने कहा कि कंपनी बहुत तेजी से बढ़ी है. पिछले साल की शुरुआत में लगभग 1,250 कर्मचारी थे, जो कि बढ़कर वर्तमान में लगभग 5,000 हो गए हैं.


अब जब कंपनी ने 18 फीसदी कर्मचारियों की छंटनी करने का फैसला लिया है, तो इसका मतलब है कि लगभग 900 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला जाएगा.


उन्होंने कर्मचारियों को एक नोट में लिखा, "हमने अवसरों को देखा और उनका लाभ उठाय. लेकिन अब हमें अपनी टीम को लेकर कड़े फैसले लेने होंगे. जबकि हमने इसे ठीक करने की पूरी कोशिश की, इस मामले में अब मेरे लिए यह स्पष्ट है कि हमने ओवर-हायरिंग की है."