टैलेंट ने बनाया बिहार के सनोज और महाराष्ट्र की बबीता ताड़े को करोड़पति

टैलेंट ने बनाया बिहार के सनोज और महाराष्ट्र की बबीता ताड़े को करोड़पति

Wednesday September 18, 2019,

3 min Read

टैलेंट शो केबीसी-11 की हॉट सीट ने आईएएस बनने का सपना देख रहे जहानाबाद (बिहार) के सनोज राज और मिड मील बनाने वालीं अमरावती (महाराष्ट्र) की कुक बबीता ताड़े को एक दिन में मालामाल कर दिया। दोनो करोड़पतियों को उम्मीद नहीं थी कि उनकी संघर्षशील जिंदगी में अचानक इस तरह धन की बरसात हो जाएगी। 

k

आज़ के अर्थप्रधान युग में भला कौन नहीं चाहता होगा कि वह करोड़पति बन जाए लेकिन जिंदगी भर हाड़तोड़ मेहनत, पाई-पाई के जोड़ घटाने के बावजूद ज्यादातर लोग हाशिये पर रह जाते हैं। लाटरी का भी ज़माना रहा नहीं लेकिन अब भी कुछ संयोग ऐसे आ जारहे हैं, जब एक झटके में लोग करोड़पति बनने लगे हैं।


हाल ही में केबीसी-11 की हॉट सीट ने आईएएस बनने का सपना देख रहे जहानाबाद (बिहार) के सनोज राज और मिड मील बनाने वालीं कुक अमरावती (महाराष्ट्र) की बबीता ताड़े को करोड़पति बना दिया है। केबीसी-11 टीवी शो में इन दिनो बॉलीवुड शहंशाह अमिताभ बच्चन की होस्टिंग लोगों का दिल जीत रही है तो कंटेस्टेंट्स रुपए जीत रहे हैं। इस सीजन की दूसरी करोड़पति बनी बबीता की कामयाबी पर तो लोग भौचक्के रह गए हैं। शो से पहले ही सोनी टीवी ने अपने सोशल मीडिया पर शो का प्रोमो शेयर कर उनकी जीत का खुलासा कर दिया है। 


करोड़पति बनीं बबीता ताड़े महाराष्ट्र के अमरावती में बच्चों के लिए मिड मील पकाने वाली कुक हैं। शो के प्रोमों में उन्होंने अमिताभ बच्चन के एक सवाल पर बताया कि वह 450 बच्चों के लिए खिचड़ी बनाती हैं। इस काम के लिए उनको हर महीने मात्र डेढ़ हजार रुपए वेतन मिलता है। अपने इस काम और मामूली सैलरी से उन्हें कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि उन्हें बच्चों के लिए खिचड़ी पकाना अच्छा लगता है लेकिन इतनी कम सैलरी की जानकारी पर शो के होस्ट अमिताभ बच्चन हैरान रह जाते हैं।





बबीता कहती हैं कि इस शो को जीतकर वह ये साबित करना चाहती है कि एक खिचड़ी पकाने वाली भी अपने सपने पूरे कर सकती है। शो में अमिताभ बच्चन की बबीता ताड़े के साथ गेम के दौरान कई तरह की बातें होती रहीं। बबीता ने उनको बताया कि उनके पूरे परिवार में सिर्फ एक मोबाइल फोन है। उनके पास अपना मोबाइल सेट नहीं है। यह जानकारी मिलते ही, उन्हे एक करोड़ के इनाम से नवाज़ने के साथ ही, शो के बीच में ही अमिताभ बच्चन ने उन्हें एक मोबाइल सेट भी गिफ्ट कर दिया।


इससे पहले केबीसी-11 के फर्स्ट करोड़पति विनर सनोज राज को अपनी कामयाबी किसी करिश्मे से कम नहीं लगती है। जहानाबाद के हुलासगंज प्रखंड के गांव ढोंगरा निवासी सनोज आईएएस बनने का सपना देख रहे हैं। वह बताते हैं कि उनके किसान पिता रामजन्म शर्मा ने उन्हें पढ़ाने के लिए काफी मेहनत की है। गांव में सरकारी स्कूल के हालात अच्छे नहीं थे तो उन्होंने उनको प्राइवेट स्कूल में पढ़ाया। बीई की पढ़ाई के दौरान ही उनका कैंपस प्लेसमेंट हो गया।


सनोज राज इस समय आईएएस की तैयारी भी कर रहे हैं। सनोज की मां को तो बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी कि वह एक करोड़ रूपए जीत लाएंगे। मां के मुताबिक, सनोज ने एक करोड़ रुपए घरवालों को सौंप दिए हैं। शो में सनोज राज ने 15वें सवाल का भी सही जवाब देकर एक करोड़ रुपए जीते। वह सवाल था- किस मुख्य न्यायाधीश के पिता एक राज्य के सीएम रहे। सनोज ने जवाब दिया- जस्टिस रंजन गोगोई।