UP में बनेगी 'नॉलेज स्मार्ट सिटी', अमेरिकी यूनिवर्सिटी ने 35000 करोड़ रुपये के निवेश का समझौता किया

राज्य सरकार के एक प्रतिनिधिमंडल ने अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में ऑस्टिन यूनिवर्सिटी के साथ उत्तर प्रदेश में नॉलेज स्मार्ट सिटी के लिए 42 अरब डॉलर (करीब 35,000 करोड़ रुपये) के निवेश प्रस्ताव वाले समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर दस्तखत किए.

UP में बनेगी 'नॉलेज स्मार्ट सिटी', अमेरिकी यूनिवर्सिटी ने 35000 करोड़ रुपये के निवेश का समझौता किया

Monday December 19, 2022,

3 min Read

उत्तर प्रदेश में अगले साल फरवरी में प्रस्तावित वैश्विक निवेशक सम्मेलन की तैयारियों के तहत राज्य सरकार ने 5,000 एकड़ क्षेत्र में नॉलेज स्मार्ट सिटी के विकास के के लिए अमेरिका की ऑस्टिन यूनिवर्सिटी के साथ समझौता किया है.

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने रविवार को बताया कि राज्य सरकार के एक प्रतिनिधिमंडल ने अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में ऑस्टिन यूनिवर्सिटी के साथ उत्तर प्रदेश में नॉलेज स्मार्ट सिटी के लिए 42 अरब डॉलर (करीब 35,000 करोड़ रुपये) के निवेश प्रस्ताव वाले समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर दस्तखत किए. यह नॉलेज स्मार्ट सिटी करीब 5,000 एकड़ क्षेत्र में बनाई जाएगी.

प्रवक्ता के मुताबिक, ऑस्टिन यूनिवर्सिटी के प्रमुख अशरफ अली मुस्तफा ने कहा कि इस परियोजना में श्रेष्ठ विश्वविद्यालयों को शामिल किया जाएगा. उन्होंने उम्मीद जताई कि इस परियोजना से भारत और अन्य जगहों पर उच्च शिक्षा की तस्वीर पूरी तरह बदल जाएगी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अगले साल 10 से 12 फरवरी तक उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में प्रस्तावित निवेशक सम्मेलन के जरिये 10 लाख करोड़ रुपये का निवेश जुटाने का लक्ष्य रखा है. इस लक्ष्य की पूर्ति के लिए मुख्यमंत्री ने मंत्रियों एवं अधिकारियों की आठ टीमों को 18 देशों में रोड शो और ट्रेड शो के माध्यम से निवेश आकर्षित करने के लिए भेजा है.

प्रवक्ता ने बताया कि अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में अमेरिका के सलोनी हार्ट फाउंडेशन ने उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना और अपर मुख्य सचिव (बुनियादी ढांचा व औद्योगिक विकास) अरविंद कुमार की मौजूदगी में एमओयू पर दस्तखत किए.

वहीं, वित्त-प्रौद्योगिकी कंपनी फाल्कन एक्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मुरली चिराला के साथ भी तीन एमओयू पर हस्ताक्षर हुए. इनमें विशेष रूप से नोएडा में एक सेंटर बनाया जाएगा. इसके साथ ही 20-20 करोड़ रुपये के दो निवेश उत्तर प्रदेश में किए जाएंगे.

प्रवक्ता ने बताया कि सरकार का यह प्रतिनिधिमंडल सैन फ्रांसिस्को में ग्लोबल एंटरप्रेन्योरशिप ऑर्गनाइजेशन टाई के सदस्यों और सिलिकॉन वैली के निर्माण में योगदान देने वाले भारतीयों से भी मिला. प्रतिनिधिमंडल ने उनसे उत्तर प्रदेश में सिलिकॉन वैली बनाने की अपील की, ताकि भारतीय भी इसका लाभ उठा सकें.

उधर, जापान में रोड शो के दौरान सीको एडवांस लिमिटेड के निदेशक युकीनोरी कोबे ने उत्तर प्रदेश सरकार के साथ गौतम बुद्ध नगर में विनिर्माण इकाई लगाने के लिए 850 करोड़ रुपए के एमओयू पर हस्ताक्षर किए. इससे 200 से ज्यादा रोजगार के अवसर सृजित होंगे.

यूपीसीडा ने सिंगापुर में जलशक्ति मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह की मौजूदगी में स्टार कंसोर्टियम प्राइवेट लिमिटेड के साथ उत्तर प्रदेश में डेटा सेंटर व लॉजिस्टिक सेवाओं के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए. इसके जरिये राज्य में 2,000 करोड़ रुपये का निवेश आएगा और सैकड़ों लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे.

इसी तरह सिंगापुर के एसएलजी कैपिटल के साथ भी उत्तर प्रदेश में डेटा सेंटर शुरू करने के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए. इसके तहत 100 करोड़ डॉलर (8,273 करोड़ रुपए) के निवेश से प्रदेश के प्रौद्योगिकीय विकास के साथ रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे.

इस बीच, राज्य के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल ने एक ट्वीट में कहा कि उनके विदेशी दौरे निवेश आकर्षित करने के लिहाज से बेहद सफल रहे हैं. उन्होंने कहा जर्मनी, बेल्जियम और स्वीडन के रोड शो की कामयाबी से हजारों करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं.

प्रवक्ता ने बताया कि विदेश में रोड शो और कारोबारी बैठकों का दौर 19 दिसंबर यानी सोमवार को भी जारी रहेगा. नीदरलैंड्स में रोड शो के बाद अब उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और सूचना प्रौद्योगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के मंत्री योगेंद्र उपाध्याय सोमवार को फ्रांस का दौरा करेंगे.

यह भी पढ़ें
भारत में लियोनेल मेस्सी की दीवानगी का कारण क्या है?


Edited by Vishal Jaiswal