अमेरिका के 911 की तरह भारत में 112 लॉन्च, इमर्जेंसी हालात में पा सकेंगे मदद

By yourstory हिन्दी
February 20, 2019, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:31:24 GMT+0000
अमेरिका के 911 की तरह भारत में 112 लॉन्च, इमर्जेंसी हालात में पा सकेंगे मदद
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

सांकेतिक तस्वीर

सार्वजनिक जगहों पर किसी मुसीबत में फंस जाने पर अगर आप अकेले होते हैं तो वह स्थिति भयावह लगती है। हम सभी को लगता है कि कोई ऐसी सर्विस होनी चाहिए जिसकी मदद से हमें तुरंत राहत उपलब्ध कराई जा सके। अमेरिका जैसे विकसित देशों में 911 जैसी हेल्पलाइन सर्विस चलती हैं जिसे डायल कर तुरंत मदद पाई जा सकती है। अब भारत में भी हेल्पलाइन नंबर-112 लॉन्च कर दिया गया है जिसका लाभ सभी नागरिकों को मिल सकेगा।


देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी की मौजूदगी में मंगलवार को यह हेल्पलाइन नंबर जारी किया। इसे लॉन्च करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा,'केंद्र सरकार नागरिकों, खासकर महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है जिनके लिए कानून में बदलाव किया गया ताकि समयबद्ध तरीके से दोषियों को सजा सुनिश्चित हो।'

हालांकि भारत में पहले से ही 100 नंबर पर पुलिस और 101 नंबर को डायल कर फायर ब्रिगेड सर्विस की सेवाएं ली जा सकती हैं। इसके अलावा 1090 वूमन हेल्पलाइन भी है, लेकिन हेल्पलाइन-112 में इन सारे नंबरों को इंटीग्रेट कर दिया गया है। अब किसी भी आपात स्थिति में अलग-अलग नंबरों को मिलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। सिर्फ 112 नंबर डायल कर आपात स्थिति में मदद मांगी जा सकेगी। कहा जा रहा है कि इन नंबरों में 108 को भी जोड़ा जाएगा जिसे स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जाना जाता है।


विशेषज्ञों का मानना है कि आपात स्थितियों में लोगों को नंबर याद नहीं रहते। वहीं दुनियाभर के कई देशों में पहले से ही 112 नंबर को आपातकालीन नंबर के तौर पर जाना जाता है। ऐसे में 112 हेल्पलाइन को भारत में लागू करना एक तरह से क्रांतिकारी कदम होगा। इसे अभी 16 राज्यों में लागू किया जाएगा। 2015 में महिला सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने हर मोबाइल फोन में पैनिक बटन और सेफ सिटी अभियान शुरू किया था। जिसे देश के 8 राज्यों में लागू किया जा रहा है।


यह भी पढ़ें: पुलवामा हमले से दुखी व्यापारी ने कैंसल किया बेटी का रिसेप्शन, दान किए 11 लाख रुपये

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें