Meta Quest Pro: वर्चुअल वर्ल्ड को और भी खास बना देगा ये हेडसेट, लेकिन कितने का है?

By रविकांत पारीक
October 18, 2022, Updated on : Tue Oct 18 2022 10:36:17 GMT+0000
Meta Quest Pro: वर्चुअल वर्ल्ड को और भी खास बना देगा ये हेडसेट, लेकिन कितने का है?
अभी, मेटा रिमोट वर्किंग के लिए एक आसान टूल के रूप में Quest Pro की मार्केटिंग कर रहा है, लेकिन निकट भविष्य में यह बदल सकता है. यहां, हम मेटा के इस लेटेस्ट वर्चुअल रियलिटी हेडसेट की खास बातों पर एक नज़र डालेंगे.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मेटा (Meta) ने अपने कनेक्ट इवेंट के दौरान अपने नए वर्चुअल रियलिटी हेडसेट क्वेस्ट प्रो (Quest Pro) को लॉन्च किया. इसे पहले प्रोजेक्ट कैम्ब्रिया (Project Cambria) नाम दिया गया था. जो लोग इससे वाकिफ नहीं हैं, उन्हें बता दें कि Quest Pro - Quest 2 का एक बड़ा अपग्रेड है, जिसे 2020 में लॉन्च किया गया था.


मेटा का ये लेटेस्ट हेडसेट संभवतः Apple के AR/VR (Augmented Reality / Virtual Reality) हेडसेट के साथ प्रतिस्पर्धा करेगा, जिसको लेकर चर्चाओं का बाज़ार पहले से ही गर्म है. कंपनी का कहना है कि इसे क्रिएटर्स और प्रोफेशनल्स के लिए समान रूप से डिजाइन किया गया है.


अभी, मेटा रिमोट वर्किंग के लिए एक आसान टूल के रूप में Quest Pro की मार्केटिंग कर रहा है, लेकिन निकट भविष्य में यह बदल सकता है. यहां, हम मेटा के इस लेटेस्ट वर्चुअल रियलिटी हेडसेट की खास बातों पर एक नज़र डालेंगे.

meta-quest-pro-ar-vr-headset-features-specification-price

Meta Quest Pro की विशेषताएं

Meta Quest Pro स्नैपड्रैगन XR2-प्लस प्रोसेसर द्वारा चलता है. और यह 12GB RAM और 256GB इंटरनल स्टोरेज के साथ आता है. इसका स्क्रीन रिजॉल्यूशन 1800 x 1920 पिक्सल है. यह 90 हर्ट्ज रिफ्रेश रेट ऑफर करता है.

डिस्प्ले

Quest 2 की तुलना में, मेटा का ये नया वर्चुअल रियलिटी हेडसेट एक शेपर एलसीडी डिस्प्ले को स्पोर्ट करता है. फ्रेस्नेल लेंस को चुनने के बजाय, क्वेस्ट प्रो में एक नया ऑप्टिकल स्टैक है और यह पतले पैनकेक लेंस की कई लेयर्स के साथ आता है.


इसका मतलब है कि नया हेडसेट ऑवरआल इमेज क्वालिटी में सुधार करते हुए मॉड्यूल की गहराई को लगभग आधा करने में सक्षम है. नए एलसीडी डिस्प्ले तेज और चमकीले रंगों दिखाने के लिए लोकल डिमिंग और क्वांटम डॉट तकनीक का उपयोग करते हैं. मेटा का कहना है कि उसने एक कस्टम डिमिंग सॉल्यूशन तैयार किया है जो 500 से अधिक इंडिपेंडेंट एलईडी लाइट्स को कंट्रोल करता है, जो कंपनी का दावा है कि इसके विपरीत 75 प्रतिशत से अधिक बढ़ जाता है.


मेटा क्वेस्ट प्रो मेटा क्वेस्ट 2 की तुलना में प्रति इंच 37 प्रतिशत अधिक पिक्सेल और प्रति डिग्री दस प्रतिशत पिक्सेल प्रोवाइड करता है. इसके अलावा, यूजर अब स्क्रीन के सेंटर में 25 प्रतिशत बढ़ी हुई विजुअल शार्पनेस का आनंद ले सकते हैं.

नया सेंसर स्टैक

यह बिल्कुल नए सेंसर स्टैक के साथ आता है. नए हेडसेट में हाई-रिज़ॉल्यूशन वाले आउटवर्ड-फेसिंग कैमरे हैं, जो कंपनी का कहना है कि क्वेस्ट 2 की तुलना में चार गुना अधिक डिटेल्स कैप्चर करने में सक्षम है. मिक्सड रियलिटी हेडसेट अब बाहरी दुनिया को पूर्ण रंगों में दिखा सकता है और इसमें 'स्टीरियोस्कोपिक मिक्सड रियलिटी पासथ्रू' फीचर है जो कैमरों से कई तस्वीरों को जोड़ता है और उपयोगकर्ता के वातावरण का अधिक प्राकृतिक 3D दृश्य प्रस्तुत करता है.


मेटा में हाथ और आंखों की गतिविधियों को ट्रैक करने की क्षमता भी शामिल है. मार्क जुकरबर्ग का कहना है कि क्वेस्ट प्रो किसी के चेहरे के भावों को ट्रैक कर सकता है और उन्हें आभासी दुनिया में दोहरा सकता है.

अपडेटेड डिजाइन

क्वेस्ट प्रो पैनकेक लेंस के साथ आता है. यह मेटा द्वारा बनाया गया अब तक का सबसे पतला डिवाइस है. यह एक आई रिलीफ डायल के साथ आता है जो उपयोगकर्ताओं को अधिक समय तक वर्चुअल में रहने की अनुमति देता है और आपको अपनी आंखों से लेंस की दूरी को एडजस्ट करने देता है. मजे की बात यह है कि क्वेस्ट प्रो ओपन पेरिफेरी डिजाइन के साथ आता है जो उपयोगकर्ताओं को वास्तविक और आभासी दुनिया के बीच आसानी से स्विच करने देता है.


जो लोग अधिक इमर्सिव अनुभव चाहते हैं, उनके लिए क्वेस्ट प्रो चुंबकीय आंशिक प्रकाश अवरोधकों (magnetic partial light blockers) के साथ आता है. लेकिन फुल VR अनुभव की तलाश करने वालों के पास कुछ और महीने हो सकते हैं जब मेटा फुल ब्लॉकर्स उपलब्ध कराती है.

नए कंट्रोलर

क्वेस्ट प्रो क्वेस्ट टच प्रो कंट्रोलर्स के साथ आता है जिसमें तीन बिल्ट-इन सेंसर होते हैं जो उन्हें 3D स्पेस में अपनी स्थिति को ट्रैक करने देता है. मेटा का कहना है कि नए कंट्रोलर अधिक एर्गोनोमिक हैं और उन्होंने हैप्टिक्स को अपग्रेड किया है. यह रिचार्जेबल बैटरी के साथ भी आता है. ध्यान देने वाली एक और बात यह है कि नए कंट्रोलर पुराने क्वेस्ट 2 के साथ भी काम कर सकते हैं.

बैटरी लाइफ और कीमत

जब आप हेडसेट को चार्ज होने पर उपयोग कर सकते हैं, तो क्वेस्ट प्रो लगभग एक से दो घंटे की बैटरी लाइफ देता है. मेटा का कहना है कि एक फुल चार्ज में लगभग दो घंटे का समय लगेगा. वर्तमान में प्री-ऑर्डर के लिए उपलब्ध, मेटा क्वेस्ट प्रो की कीमत 1,500 डॉलर (लगभग 1,23,000 रुपये) है.

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close