अब सीधे Nestle से खरीद सकेंगे सामान, कंपनी ने लॉन्च की सर्विस

By yourstory हिन्दी
October 19, 2022, Updated on : Thu Oct 20 2022 05:14:25 GMT+0000
अब सीधे Nestle से खरीद सकेंगे सामान, कंपनी ने लॉन्च की सर्विस
इस घोषणा के साथ, नेस्ले इंडिया हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईटीसी, मैरिको, इमामी आदि के रैंक में शामिल हो गया, जिन्होंने भारतीय बाजार में अपने डी2सी प्लेटफॉर्म भी लॉन्च किए हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

दैनिक उपभोग के सामान बनाने वाली कंपनी नेस्ले इंडिया ने बुधवार को ग्राहकों को सीधे सामान बेचने का मंच (D2C) शुरू किया. इसके साथ कंपनी ने ‘ऑनलाइन’ कारोबार क्षेत्र में कदम रखा है. नेस्ले इंडिया के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक सुरेश नारायणन ने कंपनी के तिमाही नतीजों से संबंधित बयान में कहा कि D2C मंच 'माईनेस्ले' को दिल्ली-एनसीआर बाजार में उतारा जाएगा और फिर इसका अन्य क्षेत्रों में विस्तार किया जाएगा.


नारायणन ने कहा, "इस मंच को खास तौर पर उपभोक्ताओं की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है. मुझे विश्वास है कि माईनेस्ले मंच हर तरह से उपभोक्ता के लिए सुखद अहसास लेकर आएगा." इस मंच पर उपभोक्ताओं को पौष्टिकता से जुड़ी सलाह भी मुफ्त में मुहैया कराई जाएगी. फिलहाल नेस्ले की डी2सी एवं ऑनलाइन बिक्री में हिस्सेदारी बहुत कम है लेकिन आने वाले वर्षों में इसके तेजी से बढ़ने की उम्मीद कंपनी को है.


इस घोषणा के साथ, नेस्ले इंडिया हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईटीसी, मैरिको, इमामी आदि के रैंक में शामिल हो गया, जिन्होंने भारतीय बाजार में अपने डी2सी प्लेटफॉर्म भी लॉन्च किए हैं. FMCG की बड़ी कंपनियों ने कई नए जमाने की कंपनियों जैसे Mamaearth, Plum Goodness, के उभार के साथ अपने D2C गेम को आगे बढ़ाया है.


हालांकि, हाल के दिनों में लिशियस डिस्ट्रीब्यूटर्स और रिटेलर्स जैसे पारंपरिक माध्यमों के बजाय सीधे ई-कॉमर्स के माध्यम से उपभोक्ताओं तक पहुंचकर एक महत्वपूर्ण पैमाने पर पहुंच गया है. इसके अलावा, D2C प्लेटफॉर्म लॉन्च करने के अलावा, कंपनियां अपने D2C चैनलों या यहां तक कि केवल-ऑनलाइन ब्रांडों के लिए विशेष रूप से विकसित उत्पादों को भी लॉन्च कर रही हैं.


डाबर, मैरिको, इमामी और टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स जैसी कंपनियां अपने डी2सी प्लेटफॉर्म और मार्केटप्लेस के लिए विशेष रूप से उत्पाद लॉन्च कर रहे हैं क्योंकि वे डिजिटल-फर्स्ट ब्रांडों के साथ प्रतिस्पर्धा करते हैं. उदाहरण के लिए, डाबर इंडिया का लक्ष्य वित्त वर्ष 2013 में अपने डिजिटल देशी ब्रांडों से 100 करोड़ रुपये की बिक्री करना है.


D2C प्लेटफॉर्म के लॉन्च से नेस्ले इंडिया को एक चैनल के रूप में ई-कॉमर्स से बेहतर बिक्री मिलने की उम्मीद है, जो वर्तमान में इसकी घरेलू बिक्री में लगभग 7 प्रतिशत का योगदान देता है.

शुद्ध लाभ 8.25 प्रतिशत बढ़कर 668 करोड़ रुपये पर पहुंचा

नेस्ले इंडिया लिमिटेड का जुलाई-सितंबर तिमाही में शुद्ध लाभ 8.25 प्रतिशत बढ़कर 668.34 करोड़ रुपये हो गया.

नेस्ले इंडिया ने बुधवार को बीती तिमाही के आंकड़ों की जानकारी बीएसई को देते हुए कहा कि एक साल पहले की समान अवधि में उसका शुद्ध लाभ 617.37 करोड़ रुपये रहा था.


जनवरी-दिसंबर के कारोबारी वर्ष का अनुसरण करने वाली इस कंपनी ने कहा कि सितंबर तिमाही में उसकी शुद्ध बिक्री 18.24 प्रतिशत बढ़कर 4,591 करोड़ रुपये हो गई जो एक साल पहले की समान अवधि में 3,882.57 करोड़ रुपये थी.


Edited by Vishal Jaiswal

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें