बाबा रामदेव का बड़ा ऐलान, 5 साल में पतंजलि ग्रुप की 4 कंपनियों के IPO लाने की तैयारी

By yourstory हिन्दी
September 16, 2022, Updated on : Fri Sep 16 2022 12:08:41 GMT+0000
बाबा रामदेव का बड़ा ऐलान, 5 साल में पतंजलि ग्रुप की 4 कंपनियों के IPO लाने की तैयारी
इस वक्त स्टॉक मार्केट में पतंजलि ग्रुप की केवल पतंजलि फूड्स (Patanjali Foods) ही लिस्टेड है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

योग गुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) प्राइमरी मार्केट में बड़ा धमाका करने की तैयारी में हैं. बाबा रामदेव पांच वर्षों में पतंजलि ग्रुप (Patanjali Group) की कम से कम 4 कंपनियों के IPO लाने की योजना बना रहे हैं. न्यूज एजेंसी PTI भाषा के मुताबिक, शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में पतंजलि समूह के संस्थापक बाबा रामदेव ने उम्मीद जताई कि पतंजलि समूह का कारोबार अगले 5 से 7 साल में ढाई गुना बढ़कर एक लाख करोड़ रुपये पर पहुंच सकता है. इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि समूह की चार कंपनियों के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) लाए जाएंगे.


रामदेव ने प्रेस कांफ्रेंस में घोषणा की कि उनका समूह आगामी वर्षों में 5 लाख लोगों को रोजगार देगा. उन्होंने कहा, ‘पतंजलि समूह का मौजूदा कारोबार करीब 40000 करोड़ रुपये है. आने वाले पांच से सात साल में समूह का कारोबार एक लाख करोड़ रुपये तक पहुंचने का अनुमान है.’


इस वक्त स्टॉक मार्केट में पतंजलि ग्रुप की केवल पतंजलि फूड्स (Patanjali Foods) ही लिस्टेड है. दरअसल यह कंपनी पहले रुचि सोया इंडस्ट्रीज (Ruchi Soya Industries) के नाम से जानी जाती थी. साल 2019 में पतंजलि ग्रुप ने रुचि सोया को 4350 करोड़ रुपये में एक दिवालिया प्रक्रिया के माध्यम से खरीद लिया और अब यह कंपनी पतंजलि फूड्स बन चुकी है. BSE पर कंपनी का शेयर 1338.45 रुपये पर है.

कौन सी 4 कंपनियों के आएंगे IPO

रामदेव ने कहा कि समूह की कंपनी पतंजलि फूड्स शेयर बाजार में सूचीबद्ध हो चुकी है और चार अन्य कंपनियों का आईपीओ अगले 5 वर्ष में लाया जाएगा. ये चार कंपनियां हैं पतंजलि आयुर्वेद, पतंजलि मेडिसिन, पतंजलि लाइफस्टाइल और पतंजलि वेलनेस. उन्होंने दावा किया कि समूह के सभी उत्पाद उच्च गुणवत्ता के हैं और धार्मिक, राजनीतिक, दवा एवं बहुराष्ट्रीय कंपनियों के माफिया उनके ब्रांड की छवि खराब करने के प्रयास कर रहे हैं. रामदेव ने बताया कि समूह ने 100 से अधिक लोगों को कानूनी नोटिस भेजे हैं और प्राथमिकी भी दर्ज करवाई है. हालांकि उन्होंने उन लोगों और संगठनों के नाम नहीं बताए.

पतंजलि का रेवेन्यु

लाइवमिंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पतंजलि का राजस्व वित्त वर्ष 2022 में बढ़कर 10664.46 करोड़ रुपये हो गया. इसके पिछले वित्त वर्ष में यह 9810.74 करोड़ रुपये रहा था. कंपनी का शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2022 में 740.38 करोड़ रुपये रहा, जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 745.03 करोड़ रुपये रहा था.

उत्तराखंड में करेगी 1000 करोड़ से अधिक का निवेश

योग गुरू स्वामी रामदेव ने बुधवार को कहा कि पतंजलि उत्तराखंड की समृद्ध संस्कृति और स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए 1000 करोड़ रुपये से अधिक का पूंजी निवेश करेगी. उत्तरकाशी जिले के गंगोत्री में रक्तवन ग्लेशियर एवं अन्य तीन पर्वत चोटियों पर आरोहण के लिए जा रहे पतंजलि आयुर्वेद, नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) और भारतीय पर्वतारोहण फाउंडेशन (आईएमएफ) के संयुक्त अभियान दल की रवानगी के मौके पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के साथ मौजूद रामदेव ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य का अनुष्ठान उत्तराखंड से शुरू होगा.


नोटः प्रेस कांफ्रेंस हो जाने के बाद नई जानकारी के साथ स्टोरी को अपडेट किया गया है.


Edited by Ritika Singh