Paytm ब्लॉक डील: Softbank, Ant Group हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में - रिपोर्ट

Paytm ब्लॉक डील: Softbank, Ant Group हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में - रिपोर्ट

Monday February 27, 2023,

3 min Read

जापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प (SoftBank Group Corp) और चीन के अरबपति जैक मा (Jack Ma) समर्थित एंट ग्रुप (Ant Group) ने ब्लॉक डील के जरिए डिजिटल फाइनेंशियल सर्विसेज फर्म One97 कम्युनिकेशंस (One97 Communications) में हिस्सेदारी बेचने पर चर्चा की है. रॉयटर्स ने सोमवार को एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए इसकी जानकारी दी है. गौरतलब हो कि One97 कम्युनिकेशंस पेटीएम (Paytm) की पैरेंट कंपनी हैं.

रिपोर्ट में कहा गया है कि Ant Group और SoftBank का प्रतिनिधित्व करने वाले शेयरधारकों और निवेश बैंकों ने पहले टेलीकॉम सेक्टर के दिग्गज और भारती एयरटेल के फाउंडर-चेयरमैन सुनील मित्तल से उनकी हिस्सेदारी खरीदने की पेशकश की थी.

हालांकि, बातचीत ज्यादा आगे नहीं बढ़ पाई और रिपोर्ट के मुताबिक, भारती फिलहाल इस मुद्दे पर बातचीत में शामिल नहीं हैं.

Ant Group और SoftBank Group Corp के डिजिटल पेमेंट्स कंपनी से बाहर निकलने की उनकी योजना के हिस्से के रूप में बाजार में धीरे-धीरे शेयरों को उतारने की उम्मीद है.

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार, Ant Group के पास पिछले साल दिसंबर तक One97 कम्युनिकेशंस में 24.86% हिस्सेदारी थी, लेकिन बायबैक के बाद बकाया शेयरों की संख्या कम होने के बाद इसकी हिस्सेदारी 25% से अधिक हो गई.

Ant Group नोएडा स्थित फिनटेक फर्म की सबसे बड़ी शेयरधारक बनी हुई है. SoftBank और Elevation Capital के पास क्रमशः पेटीएम का लगभग 13% और 15% हिस्सा है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि Ant Group के पास 13 फरवरी को बायबैक पूरा होने के बाद अपनी हिस्सेदारी घटाने के लिए 90 दिनों का समय है. One97 कम्युनिकेशंस ने दिसंबर में लगभग ₹850 करोड़ के बायबैक की घोषणा की थी.

इस महीने की शुरुआत में, चीनी ई-कॉमर्स प्रमुख अलीबाबा ग्रुप (Alibaba Group) ने खुले बाजार लेनदेन के माध्यम से वन97 कम्युनिकेशंस में अपनी शेष 3.3 प्रतिशत प्रत्यक्ष हिस्सेदारी ₹1,378 करोड़ में बेची.

एक नज़र पेटीएम के शेयरों पर

नवंबर 2021 में अपनी निराशाजनक लिस्टिंग के बाद से डिजिटल फाइनेंशियल सर्विसेज फर्म पर मुनाफे में आने का दबाव है.

लिस्टिंग के बाद से स्टॉक में लगभग 70% की गिरावट आई है, और पिछले साल 60% गिर गया. हालांकि, नवंबर में पेटीएम के शेयरों ने अपने रिकॉर्ड निचले स्तर से लगभग 40% की वापसी की है क्योंकि यह लाभदायक होने के संकेत दिखा रहा है.

इस फरवरी में एक एक्सचेंज फाइलिंग में कहा गया कि नोएडा स्थित कंपनी ने ग्राहकों को रेवेन्यू बढ़ाने के अभियान के बाद अपनी तीसरी तिमाही में घाटा कम कर दिया.

पिछले साल पेटीएम ने कहा था कि वह अगले 12-18 महीनों में फ्री कैश फ्लो पॉजिटिव हो जाएगा.

कभी भारत का सबसे मूल्यवान स्टार्टअप रहे, पेटीएम ने नवंबर 2021 में अपनी लिस्टिंग के बाद से कभी भी ₹2,150 के आईपीओ मूल्य से ऊपर कारोबार नहीं किया है और पिछले एक दशक में बड़े आईपीओ के बीच पहले साल की सबसे खराब हिस्सेदारी थी. फर्म के समर्थकों में SoftBank और चीन का Ant Group शामिल हैं.

पेटीएम अधिक से अधिक ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए अपने प्रोडक्ट्स की पेशकश बढ़ा रहा है, निवेशकों को अपनी कमाई की क्षमता के बारे में समझाने की कोशिश कर रहा है.