Paytm ने Softbank, Ant Group की हिस्सेदारी बेचने की रिपोर्ट को नकारा, ‘फर्म ऐसी किसी भी बातचीत का हिस्सा नहीं’

Paytm ने Softbank, Ant Group की हिस्सेदारी बेचने की रिपोर्ट को नकारा, ‘फर्म ऐसी किसी भी बातचीत का हिस्सा नहीं’

Wednesday March 01, 2023,

3 min Read

भारत की दिग्गज फिनटेक फर्म पेटीएम (Paytm) ने सॉफ्टबैंक (Softbank) और एंट ग्रुप (Ant Group) द्वारा कंपनी में हिस्सेदारी बेचने की हालिया ख़बरों का खंडन किया है. समाचार एजेंसी एएनआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग में, पेटीएम ने कहा है कि कंपनी "न्यूज़ रिपोर्ट्स में उल्लिखित किसी भी बातचीत / घटनाओं का हिस्सा नहीं है".

द इकोनॉमिक टाइम्स द्वारा रिपोर्ट किए जाने के बाद स्टॉक एक्सचेंजों ने पेटीएम से स्पष्टीकरण मांगा था कि चीन का Ant Group और जापान का Softbank सेकेंडरी सेल के जरिए कंपनी में अपने शेयर बेचना चाह रहे हैं.

ब्लुमबर्ग ने सूत्रों की पहचान जाहिर न करने की शर्त का हवाला देते हुए बताया था कि Ant Group वन 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड में अपनी हिस्सेदारी को कम करने के विकल्पों पर चर्चा कर रहा है. शेयर बायबैक के कारण इसके शेयर प्रतिशत में निष्क्रिय रूप से वृद्धि हुई है.

रॉयटर्स ने सोमवार को एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए जानकारी दी थी कि Softbank Group Corp और Ant Group ने ब्लॉक डील के जरिए डिजिटल फाइनेंशियल सर्विसेज फर्म One97 Communications में हिस्सेदारी बेचने पर चर्चा की है. गौरतलब हो कि One97 Communications पेटीएम की पैरेंट कंपनी है.

बता दें कि मासायोशी सन (Masayoshi Son) का Softbank 13.24 प्रतिशत और चीन के दिग्गज बिजनेसमैन जैक मा (Jack Ma) के स्वामित्व वाला Ant Group 25.47 प्रतिशत शेयरों के साथ पेटीएम के दो सबसे बड़े स्टेकहोल्डर हैं.

सेबी (सूचीकरण दायित्व और प्रकटीकरण आवश्यकताएँ) विनियम, 2015 के विनियम 30 के तहत, एक सूचीबद्ध कंपनी को किसी भी घटना के स्टॉक एक्सचेंजों को नियमित रूप से सूचित करने की आवश्यकता होती है जो उसके प्रदर्शन या संचालन पर असर डालती है.

कंपनी ने अपनी स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग में कहा, "हम दोहराते हैं कि जब भी कंपनी के मामलों के संबंध में कोई भौतिक विकास होता है, जो हमें सेबी लिस्टिंग विनियमों के विनियम 30 के तहत प्रकटीकरण करने के लिए बाध्य करता है, हम निर्धारित समय सीमा के भीतर स्टॉक एक्सचेंजों को सूचित करेंगे."

पेटीएम एक मजबूत ऑर्गेनिक विकास पथ पर बना हुआ है. कंपनी ने वित्त वर्ष 23 की तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर 2022-23) में परिचालन लाभप्रदता हासिल की है, जो सितंबर 2023 के अपने मार्गदर्शन-संचालित राजस्व वृद्धि से बहुत आगे है, व्यवसायों में अनुशासित लागत प्रबंधन और परिचालन लाभ.

कर्मचारी स्टॉक स्वामित्व योजना (ESOP) लागत से पहले ब्याज, कर, मूल्यह्रास और परिशोधन (एबिटा) से पहले पेटीएम की कमाई एक साल पहले (27 प्रतिशत) की तुलना में राजस्व के 2 प्रतिशत पर ESOP मार्जिन से पहले एबिटा के साथ 31 करोड़ रुपये थी.

यह भी पढ़ें
Paytm ब्लॉक डील: Softbank, Ant Group हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में - रिपोर्ट