Paytm के विजय शेखर शर्मा ने AI, EV स्टार्टअप्स में निवेश के लिए 30 करोड़ रुपये का फंड बनाया

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा अप्रूव्ड कैटेगरी II अल्टरनेट इन्वेस्टमेंट फंड (AIF) 'VSS Investments Fund' का साइज ₹20 करोड़ है, साथ ही ₹10 करोड़ का ग्रीन शू विकल्प भी है.

Paytm के विजय शेखर शर्मा ने AI, EV स्टार्टअप्स में निवेश के लिए 30 करोड़ रुपये का फंड बनाया

Tuesday October 24, 2023,

2 min Read

Paytm के फाउंडर और सीईओ विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) ने भारत में सक्रिय आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) और इलेक्ट्रिक वाहन (EV) से जुड़े स्टार्टअप्स को समर्थन देने के लिए ₹30 करोड़ का फंड लॉन्च किया है.

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा अप्रूव्ड कैटेगरी II अल्टरनेट इन्वेस्टमेंट फंड (AIF) 'VSS Investments Fund' का साइज ₹20 करोड़ है, साथ ही ₹10 करोड़ का ग्रीन शू विकल्प भी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कंज्यूमर और B2B टेक्नोलॉजी सेक्टर में शर्मा के मौजूदा पोर्टफोलियो के लिए अनुवर्ती निवेश भी इस फंड से आएगा.

विजय शेखर शर्मा ने Ola Electric, GoQii, Daalchini, Treebo Hotels, KWH Bikes, LeverageEdu, Josh Talks, और KAWA Space सहित कई स्टार्टअप का समर्थन किया है.

शर्मा ने कहा, “भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम में दुनिया के कुछ सबसे प्रतिभाशाली उद्यमी हैं, और हमारे पास एक एडवांस टेक्नोलॉजी और AI-संचालित इनोवेशन पावरहाउस बनने की क्षमता है. 10 ट्रिलियन डॉलर की आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था बनने की भारत की आकांक्षा इनोवेशन और ऑन्त्रप्रेन्योरशिप की भावना से परिभाषित होगी. इस फंड का लॉन्च भारत में युवा और होनहार संस्थापकों का समर्थन करने में मेरे विश्वास की निरंतरता है, और इस तथ्य के अनुरूप है कि देश के विकास में टेक्नोलॉजी की बहुत बड़ी भूमिका है.”

शर्मा बाहरी निवेशकों के साथ फंड में प्राथमिक योगदानकर्ता होंगे. एआईएफ VSS Investco Pvt. Ltd., जोकि उनके स्वामित्व और नियंत्रण वाली इकाई है, द्वारा प्रायोजित है. 2018 में, शर्मा और Seedfund के वेंचर कैपिटलिस्ट शैलेश विक्रम सिंह ने भारत के लिए एक क्लाइमेट फंड "Massive Fund" लॉन्च किया था. इसका उद्देश्य खाद्य, कृषि, वायु और जल प्रदूषण, नवीकरणीय ऊर्जा, और इलेक्ट्रॉनिक्स और प्लास्टिक अपशिष्ट जैसे पुनर्चक्रण योग्य वस्तुएं, गतिशीलता, साथ ही टिकाऊ पर्यावरण समाधान जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों के लिए समाधान प्रदान करने वाले स्टार्टअप में 150 मिलियन डॉलर का निवेश करना था.

यह भी पढ़ें
जुलाई-सितंबर तिमाही में Paytm का रेवेन्यू 32% बढ़ा, शुद्ध घाटा 292 करोड़ रुपये