केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल 4 जुलाई को करेंगे राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग 2021 की घोषणा

By रविकांत पारीक
July 01, 2022, Updated on : Sat Aug 13 2022 12:46:16 GMT+0000
केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल 4 जुलाई को करेंगे राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग 2021 की घोषणा
इस वर्ष 24 राज्यों और सात केंद्र शासित प्रदेशों ने इस प्रक्रिया में हिस्सा लिया है. पिछले वर्ष की तुलना में इस बार 25 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों का इजाफा हुआ है, जो अब तक की सर्वाधिक संख्या है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

वाणिज्य और उद्योग, उपभोक्ता कार्य, खाद्य और सार्वजनिक वितरण तथा कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) नई दिल्ली में चार जुलाई, 2022 को आयोजित होने वाले एक स्वागत समारोह में स्टार्टअप इकोसिस्टम (Startup ecosystem) के समर्थन पर राज्यों की रैंकिंग की तीसरी प्रक्रिया का परिणाम घोषित करेंगे.


उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (DPIIT) ने राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग (Startup Ranking) की तीसरी प्रक्रिया चलाई थी, जिसका मुख्य उद्देश्य था प्रतिस्पर्धात्मक तथा सहकारी संघवाद की भारतीय परिकल्पना को प्रोत्साहित करना. यह प्रक्रिया 2018 में शुरू की गई थी, ताकि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को इस बात के लिये प्रोत्साहित किया जाये कि वे स्टार्टअप की बढ़ोतरी के लिये नियमों में ढील दें तथा स्टार्टअप इकोसिस्टम को भरपूर समर्थन दें.

piyush-goyal-states-startup-ranking-2021-to-be-declared-on-4th-july

इस वर्ष 24 राज्यों और सात केंद्र शासित प्रदेशों ने इस प्रक्रिया में हिस्सा लिया है. पिछले वर्ष की तुलना में इस बार 25 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों का इजाफा हुआ है, जो अब तक की सर्वाधिक संख्या है. पूरे विश्व में भारत स्टार्टअप राष्ट्र के रूप में अग्रणी है, इसलिये जरूरी हो गया है कि देश के दूसरी और तीसरी श्रेणी वाले शहरों में आंत्रप्रेन्योरशिप को बढ़ाया जाये. वर्ष 2016 में केवल चार राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के पास स्टार्टअप नीति (startup policy) थी. आज 30 से अधिक राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के पास स्टार्टअप नीतियां हैं. इनमें से 27 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों ने अपने खुद के स्टार्टअप पोर्टल (startup portal) भी शुरू कर दिये हैं.


इस बार की रैंकिंग में मोटे तौर पर सुधार के सात क्षेत्र हैं, जिनमें 26 ऐक्शन प्वॉइंट्स शामिल हैं. ये स्टार्टअप के लिये नियम निर्धारण, नीति और आर्थिक समर्थन तथा इको-सिस्टम के हितधारकों के लिये जरूरी हैं. सुधार सम्बंधी क्षेत्रों में संस्थागत समर्थन, नवोन्मेष और उद्यमिता को पोषित करना, बाजार तक पहुंच बनाना, स्टार्टअप को अपने पांव पर खड़ा होने के लिये सहारा देना, वित्त प्रदान करना, सलाह देना और क्षमता निर्माण करना शामिल है.


रैंकिंग की इस तीसरी प्रक्रिया के तहत एक अक्टूबर, 2019 से 31 जुलाई, 2021 की अवधि के दौरान राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा प्रदान किये गये समर्थन का मूल्यांकन किया गया है. राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के आवेदनों को छह माह के हवाले से परखा गया तथा 13 विभिन्न भाषाओं में 7200 से अधिक लाभार्थियों का फीडबैक लिया गया. यह बहुत अनोखी प्रक्रिया है, क्योंकि इसमें वैश्विक महामारी के दौरान राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने स्टार्टअप इको-सिस्टम को कितना समर्थन दिया, इसे रेखांकित किया जायेगा.


स्टार्टअप रैंकिंग प्रक्रिया परिणाम 2021 की घोषणा के साथ मेंटरशिप, एडवाइजरी, असिस्टेंस, रेज़ीलियंस एंड ग्रोथ (MAARG) पोर्टल की शुरुआत नई दिल्ली के अशोक होटल में चार जुलाई, 2022 को 11:30 बजे प्रातः की जायेगी. उस दौरान सभी प्रतिभागी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के वरिष्ठ सरकारी अधिकारी उपस्थित रहेंगे.