रेलवे ने रच दिया इतिहास, पहली बार समय की पाबंद हुईं 100 प्रतिशत ट्रेनें

रेलवे ने रच दिया इतिहास, पहली बार समय की पाबंद हुईं 100 प्रतिशत ट्रेनें

Friday July 03, 2020,

2 min Read

समय पर ट्रेनों का संचालन हर देशवासी की इच्छा रही है, हालांकि अब रेलवे इसे पूरा करता हुआ नज़र आ रहा है।

railways

प्रतीकात्मक चित्र



भारतीय रेलवे को देश की ‘लाइफलाइन’ भी कहा जाता है, हालांकि कई बार खबरों में ट्रेनों के संचालन में देरी के मामले सामने आते हैं, लेकिन अब लग रहा है वो सभी पुरानी बातें हो चुकी हैं, क्योंकि रेलवे ने इस दिशा में एक नया मुकाम स्थापित कर लिया है।


1 जुलाई को भारतीय रेलवे ने दावा है कि उसने वो 100 प्रतिशत समय पर पाबंद रही है। रेलवे के अनुसार ऐसा देश के इतिहास में पहली बार हुआ है। इसका मतलब यह हुआ कि इस दौरान किसी भी यात्री ट्रेन ने देरी का सामना नहीं किया है, सभी ट्रेनों ने समय पर ही आगमन और प्रस्थान किया है।


हालांकि यह भी समझना महत्वपूर्ण है कि इस समय कुछ खास ट्रेनों का ही संचालन किया जा रहा है, जिसके चलते पटरियों पर भी कम ट्रेनों की संख्या कम है, जबकि इसके पहले रेलवे का बेस्ट रिकॉर्ड 23 जून को 99.54 प्रतिशत था, जब सिर्फ एक ट्रेन देरी से संचालित हुई थी।


केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी इस संबंध में ट्वीट कर लिखा, "फास्ट लेन में ट्रेनें: सेवाओं को अभूतपूर्व स्तर तक बढ़ाते हुए भारतीय रेलवे ने 1 जुलाई 2020 को 100 प्रतिशत समय की पाबंदी की दर को हासिल करके इतिहास बनाया है।"

गौरतलब है कि 12 मई से राजधानी मार्गों पर चलने वाली 12 ट्रेनों और 1 जून से चलने वाली 100 ट्रेनों का संचालन फिलहाल जारी है, जबकि रेलवे ने 12 अगस्त तक सभी नियमित ट्रेनों को रद्द कर दिया है।


इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार सामान्य तौर पर रेलवे नेटवर्क पर 13 हज़ार ट्रेनों का संचालन होता है, जिसके हिसाब से अभी चल रही विशेष ट्रेनों का हिस्सा बहुत थोड़ा है।