सेंसेक्स 465 अंक उछलकर 4 माह के हाई पर, निफ्टी 17525 पर बंद

सेंसेक्स के शेयरों में महिंद्रा एंड महिंद्रा को सर्वाधिक लाभ रहा. कंपनी के शेयर में 3.13 प्रतिशत की तेजी आई.

सेंसेक्स 465 अंक उछलकर 4 माह के हाई पर, निफ्टी 17525 पर बंद

Monday August 08, 2022,

3 min Read

स्थानीय शेयर बाजार (Stock Markets) में सोमवार को लगातार दूसरे कारोबारी सत्र में तेजी रही. BSE Sensex 465 अंक से अधिक चढ़कर बंद हुआ. वैश्विक बाजार में सकारात्मक रुख के साथ HDFC बैंक, HDFC लि. और रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) में तेजी के साथ बाजार में मजबूती आई. सोमवार को बीएसई सेंसेक्स 465.14 अंकों की बढ़त के साथ 58853.07 पर बंद हुआ. यह सेंसेक्स का 4 माह का हाई है. दिन में कारोबार के दौरान यह 58934.90 का उच्च स्तर और 58266.65 का निम्न स्तर छुआ.

सेंसेक्स के शेयरों में महिंद्रा एंड महिंद्रा को सर्वाधिक लाभ रहा. कंपनी के शेयर में 3.13 प्रतिशत की तेजी आई. इसके अलावा बजाज फिनसर्व, NTPC, एक्सिस बैंक, HDFC बैंक, लार्सन एंड टुब्रो, HDFC, डॉ. रेड्डीज, इंडसइंड बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज में भी प्रमुख रूप से तेजी रही. दूसरी तरफ नुकसान में रहने वाले शेयरों में भारतीय स्टेट बैंक, अल्ट्राटेक सीमेंट, नेस्ले, विप्रो और पावरग्रिड शामिल हैं.

Nifty 50 का हाल

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 127.60 अंकों की तेजी के साथ 17525.10 पर बंद हुआ. आईटी और पीएसयू बैंक को छोड़कर निफ्टी पर अन्य सभी सेक्टोरल इंडेक्स बढ़त के साथ बंद हुए हैं. निफ्टी पर महिन्द्रा एंड महिन्द्रा, को इल इंडिया, बजाज फिनसर्व, हिंडाल्को टॉप गेनर्स रहे. दूसरी ओर बीपीसीएल, एसबीआई, ब्रिटानिया, अल्ट्राटेक सीमेंट, हीरो मोटोकॉर्प टॉप लूजर्स रहे.

भारती एयरटेल का लाभ 5 गुना से अधिक होकर 1607 करोड़

दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष 2022-23 की अप्रैल-जून तिमाही में पांच गुना से अधिक होकर 1,607 करोड़ रुपये पहुंच गया है. एयरटेल ने शेयर बाजारों को सोमवार को यह जानकारी दी. इससे पूर्व वित्त वर्ष 2021-22 की इसी तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 283.5 करोड़ रुपये था. कंपनी की एकीकृत परिचालन आय जून, 2022 को समाप्त तिमाही में करीब 22 प्रतिशत बढ़कर 32,805 करोड़ रुपये रही, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 26,854 करोड़ रुपये थी. भारती एयरटेल की देश में मोबाइल सेवा से आय 27 प्रतिशत बढ़कर 18,220 करोड़ रुपये रही, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 14,305.6 करोड़ रुपये थी.

वैश्विक बाजारों का कैसा रहा रुख

एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, चीन का शंघाई कंपोजिट और जापान का निक्की लाभ में रहे. जबकि हांगकांग का हैंगसेंग नुकसान में रहा. यूरोप के प्रमुख बाजारों में दोपहर के कारोबार में तेजी का रुख रहा. अमेरिकी बाजार शुक्रवार को नुकसान में थे. शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक पूंजी बाजार में शुद्ध लिवाल रहे. उन्होंने शुक्रवार को 1605.81 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे.