शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन तेजी, नायका में 7% की गिरावट, मारुति सुजुकी 5% उछला

By Anuj Maurya
October 28, 2022, Updated on : Fri Oct 28 2022 11:04:52 GMT+0000
शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन तेजी, नायका में 7% की गिरावट, मारुति सुजुकी 5% उछला
शुक्रवार को सेंसेक्स करीब 203 अंक चढ़कर 59,959 अंकों के स्तर पर बंद हुआ. वहीं दूसरी ओर अगर बात निफ्टी की करें तो उसमें भी आज करीब 50 अंकों की तेजी आई है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

शेयर बाजार में आज हफ्ते के आखिरी दिन भी तेजी देखने को मिली है. गुरुवार को भी बाजार में तेजी का रुख था. आज शुक्रवार को सेंसेक्स करीब 203 अंक चढ़कर 59,959 अंकों के स्तर पर बंद हुआ. सुबह मार्केट मामूली गिरावट के साथ 59,746 अंकों पर खुला था, जो गुरुवार शाम को 59,756 अंकों के स्तर पर बंद हुआ था.


वहीं दूसरी ओर अगर बात निफ्टी की करें तो उसमें भी आज करीब 50 अंकों की तेजी आई है. निफ्टी 17,786 अंकों के स्तर पर पहुंच गया है. सुबह निफ्टी मामूली तेजी के साथ 17,756 अंकों के स्तर पर खुला था, जो गुरुवार को 17,736 अंकों पर बंद हुआ था.

किन शेयरों में आया बड़ा उतार-चढ़ाव?

बड़े उतार चढ़ाव वाले शेयरों में नायका का शेयर सबसे ज्यादा चर्चा में रहा, जिसमें करीब 7 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. वहीं मारुति सुजुकी के अच्छे तिमाही नतीजे के बाद उसके शेयरों में करीब 5 फीसदी की तेजी देखने को मिली है. बता दें कि मारुति सुजुकी का मुनाफा दूसरी तिमाही में 4 गुना हो गया है और 2062 करोड़ रुपये पर जा पहुंचा है. इसके अलावा रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में भी आज करीब 3 फीसदी की तेजी देखने को मिली.


इनके अलावा एनटीपीसी, पावर ग्रिड कॉर्प और महिंद्रा एंड महिंद्रा में 1.5-5 फीसदी की तेजी देखने को मिली. इतना ही नहीं, बजाज फिनसर्व, टाइटन, कोटल बैंक, नेस्ले, एचडीएफसी और बजाज फाइनेंस के शेयर भी चढ़कर बंद हुए. हालांकि, टेक महिंद्रा, टाटा स्टील, सन फार्मा, आईसीआईसीआई, एसबीआई और एक्सिस बैंक जैसे शेयरों में गिरावट देखी गई.


अगर सेक्टर के हिसाब से देखें तो निफ्टी ऑटो करीब 1.63 फीसदी चढ़ा. वहीं निफ्टी ऑयल एंड गैस 1.03 फीसदी चढ़ गया है. निफ्टी फार्मा और निफ्टी मेटल गिरकर बंद हुए. निफ्टी मिडकैप50 में 0.26 फीसदी और स्मॉलकैप50 में 1.14 फीसदी कि गिरावट देखने को मिली.

रुपया हुआ मजबूत

बात अगर रुपये की करें तो वह 82.47 रुपये प्रति डॉलर के स्तर पर बंद हुआ. पिछले सत्र में रुपया 82.49 रुपये प्रति डॉलर के स्तर पर बंद हुआ था. यानी रुपये में मामूली मजबूती देखने को मिल रही है, लेकिन रुपये में हर छोटी से छोटी मजबूती भारत की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा संकेत है.