भारत की सोनिया बनीं अमेरिका की सबसे बड़ी कंपनी 'गैप इंक' की सीईओ

By जय प्रकाश जय
March 08, 2020, Updated on : Sun Mar 08 2020 06:44:37 GMT+0000
भारत की सोनिया बनीं अमेरिका की सबसे बड़ी कंपनी 'गैप इंक' की सीईओ
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

एक वक्त में भारतीय मूल की सोनिया स्यंगल ने कहा था, 'गैप ने लोगों के सीने पर जितने नारे लिखे, उतना किसी कंपनी ने नहीं लिखा', अब वह खुद, विश्व महिला दिवस के अवसर पर पहली प्रवासी भारतीय महिला के रूप में अमेरिका की 18 अरब डॉलर के रेवेन्यू वाली कंपनी 'गैप इंक' की सीईओ बन गई हैं। 


सोनिया स्यंगल

सोनिया स्यंगल (फोटो क्रेडिट: सोशल मीडिया)



पुरुष प्रधान कॉरपोरेट जगत में भारतीय मूल की किसी महिला का शीर्ष पद पर पहुंच जाना कोई आसान बात नहीं। अमेरिका में कपड़ों के खुदरा व्यापार की सबसे बड़ी कंपनी 'गैप इंक' ने 49 वर्षीय सोनिया स्‍यंगल को अपना सीईओ नियुक्त किया है।


उन्‍हे ऐसे समय में कंपनी की बागडोर सौंपी गई है, जब 8 मार्च को आज, दुनिया अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस मना रही है। गैप इंक का फॉर्च्‍यून 500 की लिस्‍ट में 186वां स्‍थान है। इसका रेवेन्‍यू 18 अरब डॉलर का है। सोनिया 'फॉर्च्यून 500' लिस्ट में शामिल किसी कंपनी की एकमात्र भारतीय-अमेरिकी महिला सीईओ हैं। उनसे पहले पेप्सीको की सीईओ के रूप में इंदिरा नूई का नाम इस लिस्ट में शामिल था। वह 2018 में इस पद से अलग हो गई थीं।


गैप इंक कंपनी अमेरिका में अभी सबसे बड़ी स्‍पेशियलिटी रिटेलर है। इसके कर्मचारियों की संख्या करीब 1,35,000 है। दुनियाभर में इसके 3,727 और अमेरिका में 2,400 स्‍टोर हैं। सोनिया की नियुक्ति से पहले गैप के संस्थापक के बेटे रॉबर्ट फिशर कार्यकारी सीईओ रहे थे।


रॉबर्ट कहते हैं, सोनिया स्यंगल कंपनी को और आगे ले जाएंगी। भारत में जन्मीं सोनिया स्यंगल का परिवार उनके बचपन के दिनों में ही पहले कनाडा, फिर वहां से अमेरिका चला गया था। स्यंगल ने 1993 में केटरिंग यूनिवर्सिटी से मेकनिकल इंजीनियरिंग की बैचलर डिग्री और 1995 में स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी से मैन्यूफैक्चरिंग इंजीनियरिंग की मास्टर्स डिग्री हासिल की थी। उनके दो बच्चे 20 और 17 साल के हैं।


गैप इंक कंपनी की नवनियुक्त सीईओ सोनिया इससे पहले कई फॉर्च्यून 500 कंपनियों में काम कर चुकी हैं। वह 10 साल तक सन माइक्रोसिस्टम्स और छह वर्षों तक फोर्ड मोटर में भी काम कर चुकी हैं। दोनों कंपनियों में काम करने के बाद वह 2004 में गैप से जुड़ी थीं। उन्हें कंपनी ने अपने वैल्यू चेन ओल्‍ड नेवी का सीईओ बनाया। उन्होंने कंपनी की ग्लोबल सप्लाइ चेन और प्रॉडक्ट-टू-मार्केट मॉडल का नेतृत्व किया और यूरोप जोन की एमडी भी रहीं। गैप के विभिन्न ब्रांडों में ओल्‍ड नेवी, बनाना रिपब्लिक, ऐथलीटा और हिल सिटी शामिल हैं।


सोनिया ने एक बार कहा था,

'गैप ने लोगों के सीने पर जितने नारे लिखे, उतना किसी कंपनी ने नहीं लिखा।'

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close