शेयर बाजार में लौटी रौनक, सेंसेक्स 468 अंक चढ़ा; इस कंपनी का शेयर 14% उछला

सेंसेक्स पर लिस्टेड 30 कंपनियों में से 6 कंपनियों के शेयर लाल निशान में बंद हुए हैं.

शेयर बाजार में लौटी रौनक, सेंसेक्स 468 अंक चढ़ा; इस कंपनी का शेयर 14% उछला

Monday December 19, 2022,

3 min Read

बैंकिंग, तेल और FMCG शेयरों में सोमवार को जोरदार लिवाली रही. इस लिवाली के दम पर घरेलू शेयर बाजारों (Stock Markets) के दोनों मानक सूचकाकों में दो दिन के अंतराल के बाद तेजी का दौर लौट आया. सेंसेक्स (BSE Sensex) और निफ्टी (NSE Nifty) दोनों में करीब एक प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई. बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 468.38 अंक चढ़कर 61,806.19 पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान एक समय यह 507.11 अंक तक उछल गया था. पूरे दिन में सेंसेक्स ने 61,844.92 का उच्च स्तर और 61,265.31 का निम्न स्तर छुआ.

सेंसेक्स पर लिस्टेड 30 कंपनियों में से 6 कंपनियों के शेयर लाल निशान में बंद हुए हैं. सेंसेक्स में शामिल शेयरों में महिंद्रा एंड महिंद्रा, पावरग्रिड, भारती एयरटेल, बजाज फिनसर्व, एचडीएफसी, हिंदुस्तान यूनिलीवर, मारुति सुजुकी, आईटीसी, टाइटन, नेस्ले, बजाज फाइनेंस और रिलायंस इंडस्ट्रीज बढ़त दर्ज करने में सफल रहे. सबसे ज्यादा 3.12 प्रतिशत महिन्द्रा एंड महिन्द्रा चढ़ा है. वहीं टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, इन्फोसिस, टाटा मोटर्स और इंडसइंड बैंक के शेयरों को नुकसान उठाना पड़ा. टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज का शेयर सबसे ज्यादा 1.13 प्रतिशत गिरा है.

Nifty50 का हाल

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी में भी 151.45 अंकों की बढ़त रही और यह 18,420.45 पर बंद हुआ. निफ्टी पर अडानी पोर्ट्स, अडानी एंटरप्राइजेस, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा, आयशर मोटर्स, पावरग्रिड टॉप गेनर्स रहे. दूसरी ओर टीसीएस, ओएनजीसी, टाटा मोटर्स, इन्फोसिस, सन फार्मा टॉप लूजर्स रहे. निफ्टी पर आईटी, पीएसयू बैंक को छोड़कर अन्य सभी सेक्टोरल इंडेक्स बढ़त के साथ बंद हुए हैं. सबसे ज्यादा 1.46 प्रतिशत निफ्टी एफएमसीजी चढ़ा है.

डालमिया भारत शुगर एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेड 14% चढ़ा

बीएसई पर डालमिया भारत शुगर एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेड का शेयर 14.34 प्रतिशत चढ़कर बंद हुआ है. वहीं एनएसई पर यह 13.70 प्रतिशत की बढ़त के साथ बंद हुआ है. शेयर की कीमत अब 418-420 रुपये के दायरे में है. बीएसई पर कंपनी का मार्केट कैप 3,397.83 करोड़ रुपये हो गया है. खबर है कि सरकार जनवरी में घरेलू उत्पादन का आकलन करने के बाद चालू मार्केटिंग वर्ष 2022-23 के लिए चीनी निर्यात कोटा बढ़ाने पर विचार कर सकती है. इस खबर के सामने आने के बाद शुगर कंपनियों के शेयरों में उछाल आया. सरकार ने नवंबर में मार्केटिंग वर्ष 2022-23 (अक्टूबर-सितंबर) के लिए 60 लाख टन चीनी के निर्यात की अनुमति दी थी.

वैश्विक बाजारों में क्या रहा ट्रेंड

एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, जापान का निक्केई, चीन का शंघाई कम्पोजिट और हांगकांग के हैंगसेंग में गिरावट रही. यूरोप के शेयर बाजारों में दोपहर के सत्र में बढ़त देखी जा रही थी. अमेरिकी बाजार शुक्रवार को नुकसान में रहे थे. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.15 प्रतिशत बढ़कर 79.95 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया. विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने गत शुक्रवार को भारतीय बाजारों से निकासी की थी. उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, एफआईआई ने 1,975.44 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे थे.

रुपया 6 पैसा चढ़ा

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया सोमवार को छह पैसे की तेजी के साथ 82.69 (अस्थायी) प्रति डॉलर पर बंद हुआ. स्थानीय शेयर बाजार में जोरदार लिवाली और विदेशों में प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर के कमजोर होने से रुपये की धारणा मजबूत हुई. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 82.80 के स्तर पर कमजोर खुला और कारोबार के अंत में यह छह पैसे की तेजी के साथ 82.69 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान रुपये ने 82.57 के उच्चस्तर और 82.80 के निचले स्तर को छुआ.