शेयर बाजार की गिरावट पर लगा ब्रेक, सेंसेक्स 300 अंक उछलकर बंद

पूरे दिन में सेंसेक्स ने 59277.55 का उच्च स्तर और 58487.76 का निचला स्तर छुआ.

शेयर बाजार की गिरावट पर लगा ब्रेक, सेंसेक्स 300 अंक उछलकर बंद

Monday September 19, 2022,

3 min Read

बैंकिंग शेयरों में लिवाली से घरेलू शेयर बाजार (Stock Markets) में पिछले तीन कारोबारी सत्र से जारी गिरावट सोमवार को थम गई. तीस अंकों पर आधारित BSE Sensex शुरुआती झटकों से उबरते हुए 300.44 अंक चढ़कर 59141.23 पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान एक समय यह 436.76 अंक तक चढ़ गया था. पूरे दिन में सेंसेक्स ने 59277.55 का उच्च स्तर और 58487.76 का निचला स्तर छुआ.

सेंसेक्स के शेयरों में महिंद्रा एंड महिंद्रा, बजाज फाइनेंस, भारतीय स्टेट बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, नेस्ले और बजाज फिनसर्व प्रमुख रूप से लाभ में रहे. सबसे ज्यादा 3.05 प्रतिशत महिंद्रा एंड महिंद्रा का शेयर चढ़ा. दूसरी तरफ टाटा स्टील, ICICI बैंक, पावर ग्रिड के शेयरों में गिरावट दर्ज की गई.

Nifty50 की चाल

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (NSE Nifty) भी 91.40 अंकों की मजबूती के साथ 17622.25 पर बंद हुआ. निफ्टी पर मेटल, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स और रियल्टी को छोड़ अन्य सभी सेक्टोरल इंडेक्स बढ़त के साथ बंद हुए हैं. सबसे ज्यादा 2.03 प्रतिशत निफ्टी पीएसयू बैंक चढ़ा. निफ्टी पर महिन्द्रा एंड महिन्द्रा, बजाज फाइनेंस, अडानी पोर्ट्स, एसबीआई लाइफ, हिंदुस्तान यूनिलीवर टॉप गेनर्स रहे. दूसरी ओर टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, जेएसडब्ल्यू स्टील, ब्रिटानिया, पावरग्रिड टॉप लूजर्स रहे.

महिन्द्रा का शेयर क्यों उछला

महिन्द्रा ग्रुप ने अपनी रिन्युएबल एनर्जी यूनिट Mahindra Susten में 30 प्रतिशत हिस्सेदारी बेच दी है. यह बिक्री कनाडा के पेंशन फंड ‘ओन्टेरियो टीचर्स पेंशन प्लान’ को 2317 करोड़ रुपये में की गई है. स्टॉक मार्केट को दी गई एक सूचना में महिन्द्रा ग्रुप ने कहा कि यह बिक्री ग्रुप को रिन्युएबल एनर्जी सेक्टर में वैल्यू को अनलॉक करने में सक्षम बनाएगी. प्रस्तावित ट्रांजेक्शन के हिस्से के तौर पर, महिन्द्रा ग्रुप द्वारा Mahindra Susten को दिए गए 575 करोड़ रुपये के शेयरहोल्डर्स लोन, रीपे किए जाएंगे. इस डील के सामने आने के बाद महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के शेयरों में उछाल दर्ज किया गया.

वैश्विक बाजारों में कैसा रहा रुख

एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, जापान का निक्केई, हांगकांग का हैंगसेंग और चीन का शंघाई कंपोजिट नुकसान में बंद हुए. वहीं यूरोपीय बाजार भी दोपहर में गिरावट में कारोबार कर रहे थे, जबकि अमेरिकी शेयर बाजार शुक्रवार को नुकसान में बंद हुए. शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक शुक्रवार को शुद्ध बिकवाल रहे. उन्होंने इस दौरान 3260.05 करोड़ रुपये के शेयर बेचे.

रुपये में 2 पैसे की गिरावट

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर सोमवार को दो पैसे की गिरावट के साथ 79.80 (अस्थायी) पर बंद हुई. वैश्विक बाजारों में डॉलर के मजबूत होने के साथ रुपया शुरुआती बढ़त गंवाते हुए नीचे आ गया. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 79.70 पर खुला. कारोबार के दौरान इसने 79.59 का उच्च स्तर और 79.80 का निचला स्तर छुआ. अंत में यह दो पैसे की गिरावट के साथ 79.80 पर बंद हुआ. शुक्रवार को रुपया 79.78 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था. छह प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर की मजबूती को आंकने वाला डॉलर सूचकांक 0.26 प्रतिशत बढ़कर 110.05 पर पहुंच गया.