महिला विरोधी अपराधों के लिए त्रिपुरा में छात्रों ने चलाया ऑनलाइन अभियान

महिला विरोधी अपराधों के लिए त्रिपुरा में छात्रों ने चलाया ऑनलाइन अभियान

Thursday July 30, 2020,

2 min Read

त्रिपुरा विश्वविद्यालय के राजनीति विज्ञान विभाग की छात्रा आश्मीरा देबबर्मन ने एक 'एसएमएस' समूह बनाया है और कम से कम 25 अन्य विद्यार्थी इसमें शामिल हुये हैं।

(सांकेतिक चित्र)

(सांकेतिक चित्र)



अगरतला, त्रिपुरा में विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों के छात्रों के एक समूह ने 'महिलाओं विरोधी अपराध' रोकने के लिये एक अभियान चलाया है तथा ऐसे मामलों के त्वरित निपटारे एवं दोषियों को कठोर सजा देने की मांग की।


त्रिपुरा विश्वविद्यालय के राजनीति विज्ञान विभाग की छात्रा आश्मीरा देबबर्मन ने एक 'एसएमएस' समूह बनाया है और कम से कम 25 अन्य विद्यार्थी इसमें शामिल हुये हैं। ऐसा समझा जाता है कि बलात्कार की घटना के खिलाफ यह समूह बनाया गया है।


समूह ने सभी वर्गों के लोगों से अपील की है कि वे बहादुरी से बलात्कार की घटना के खिलाफ खड़े हों तथा महिलाओं विरोधी हिंसा रोकने के लिये फेसबुक, व्हाट्सएप जैसी सोशलमीडिया साइटों पर पोस्टर साझा करें।


समूह की पोस्ट पूरे प्रदेश में सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी हैं।


देबबर्मन ने मंगलवार को संवाददाताओं को बताया,

'हम बलात्कार के मामलों का त्वरित निपटारा और बलात्कारियों के लिए कठोर से कठोर सजा चाहते हैं। हम चाहते हैं कि उन्हें फांसी पर लटका दिया जाना चाहिये। खोवाई जिले में हाल ही में इस जघन्य अपराध की तीन घटनायें हुयी हैं जिसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।'

उन्होंने कहा कि इसके सभी आरोपी अब तक गिरफ्तार नहीं किये जा सके हैं। एक बलात्कारी अब भी फरार है। हम चाहते हैं कि पुलिस तत्काल इस फरार बलात्कारी को गिरफ्तार करे।