Swiggy ने लॉन्च की Swiggy Skills Academy, डिलीवरी एक्जीक्यूटिव, बच्चों का भविष्य होगा बेहतर

By रविकांत पारीक
September 14, 2022, Updated on : Wed Sep 14 2022 14:25:32 GMT+0000
Swiggy ने लॉन्च की Swiggy Skills Academy, डिलीवरी एक्जीक्यूटिव, बच्चों का भविष्य होगा बेहतर
स्विगी स्किल्स एकेडमी, सीखने और विकास संबंधी विभिन्न अवसरों का मुफ्त ऐक्सेस उपलब्ध कराएगी, ताकि स्विगी के डिलिवरी पार्टनर्स पेशेवर और व्यक्तिगत तौर पर आगे बढ़ सकें और इस शुरुआती कदम के दम पर वे भविष्य के लिहाज़ से तैयार पेशेवर बनने के लिए ज़रूरी स्किल्स हासिल कर सकें.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

फूड डिलीवरी यूनिकॉर्न Swiggy ने स्विगी स्किल्स एकेडमी (Swiggy Skills Academy) की शुरुआत की है. यह एक खास प्लेटफॉर्म है जिसमें कई तरह के स्किल डेवलपमेंट कोर्सेस (skill development courses) शामिल हैं. यह प्लेटफॉर्म स्विगी के डिलिवरी पार्टनर्स और उनके बच्चों का भविष्य संवारने में बेहद कारगर साबित होगा.


स्विगी स्किल्स एकेडमी, सीखने और विकास संबंधी विभिन्न अवसरों का मुफ्त ऐक्सेस उपलब्ध कराएगी, ताकि स्विगी के डिलिवरी पार्टनर्स पेशेवर और व्यक्तिगत तौर पर आगे बढ़ सकें और इस शुरुआती कदम के दम पर वे भविष्य के लिहाज़ से तैयार पेशेवर बनने के लिए ज़रूरी स्किल्स हासिल कर सकें. एकेडमी के कोर्स का कॉन्टेंट, स्विगी के डिलिवरी पार्टनर्स की महत्वाकांक्षाओं को बेहतर तरीके से समझने के लिए किए गए विस्तृत अध्ययन पर आधारित है. इन महत्वाकांक्षाओं में मौजूदा भूमिका को बेहतर तरीके से निभाने के लिए ज़रूरी कुशलताएं हासिल करने, स्विगी में नई ज़िम्मेदारियां हासिल करने, दोस्तों और परिवार के बीच सम्मान हासिल करने से लेकर स्विगी से आगे नए अवसरों के लिए उन्हें तैयार करना शामिल है.


स्विगी स्किल्स एकेडमी में चार प्रमुख आधार होंगे —


  • स्किल्स फॉर ऑल: इसके तहत नॉन-फंक्शनल विषयों जैसे कि स्पोकन इंग्लिश, टाइम मैनेजमेंट, साफ-सफाई और पहनावे, कंप्यूटर सीखने, पर्सनल फाइनेंस और मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य व देखभाल.


  • स्किल्स फॉर चिल्ड्रेन: स्विगी के करीब 40 फीसदी डिलिवरी पार्टनर्स ऐसे हैं जिनके घरों में बच्चे हैं और इनमें से करीब 70 फीसदी बच्चों की उम्र पांच वर्ष से अधिक है. स्विगी स्किल्स एकेडमी, डिलिवरी पार्टनर्स के बच्चों को शैक्षणिक सहायता उपलब्ध कराएगी जिससे 30,000 बच्चों को लाभ मिल सकता है. इस प्रोग्राम में पार्टनर्स के परिवार के सभी बच्चे शामिल होंगे. हर उम्र के बच्चे करियर काउंसिलिंग, हाई क्वालिटी के ऑनलाइन एजुकेशनल कॉन्टेंट, स्पोकन इंग्लिश और कंप्यूटर स्किल्स से जुड़े कोर्स ऐक्सेस कर सकेंगे. शुरुआत के कुछ दिनों के भीतर ही 24,000 बच्चे इस प्रोग्राम के लिए साइन अप कर चुके हैं. गौर करने वाली बात यह है कि डिलिवरी पार्टनर के स्विगी छोड़ देने के बाद भी छात्रों को कॉन्टेंट का ऐक्सेस मिलता रहेगा.


  • स्किल्स फॉर ग्रोथ: इसे ऐसे लोगों के लिए डिज़ाइन किया गया है जो स्विगी में फ्लीट मैनेजर या टीम लीड जैसी भूमिकाएं पाना चाहते हैं. स्किल्स के साथ महत्वाकांक्षा रखने वाले डिलिवरी पार्टनर उचित ट्रेनिंग पाने का विकल्प चुन सकते हैं और इन भूमिकाओं के लिए ज़रूरी योग्यताएं हासिल कर सकते हैं. उन्हें ऐसे विभिन्न राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों और सरकारी संस्थाओं से सर्टिफिकेशन भी मिलेगा जिनके साथ स्विगी पार्टनरशिप करेगी.


  • स्किल्स फॉर लाइफ: इसके तहत विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों और विश्वविद्यालयों से साझेदारी की जाएगी, ताकि डिलिवरी पार्टनर्स को मैट्रिकुलेशन, इंटरमीडिएट स्कूल, उच्च शिक्षा या पेशेवर डिग्री हासिल करने में मदद दी जा सके.

विशेषज्ञों के साथ साझेदारी

स्विगी ने स्पीच-बेस्ड रीडिंग टूल 'Read Along by Google' और नॉन-प्रोफिट एजुकेशनल ऑर्गेनाइजेशन खान एकेडमी (Khan Academy) के साथ साझेदारी की है, ताकि बच्चों के लिए अच्छी पढ़ाई सुनिश्चित की जा सके और उन्हें कोर्स व सर्टिफिकेशन उपलब्ध कराया जा सके.


इस वर्ष जून में स्विगी ने "Skills for All" और "Skills for Children" के तहत मुंबई और हैदराबाद में एक महीने का पायलट प्रोग्राम चलाया. "स्किल्स फॉर ऑल" पायलट में हिस्सा लेने वाले लोगों ने स्पोकन इंग्लिश और फाइनेंशियल मैनेजमेंट से जुड़े कोर्स में दिलचस्पी दिखाई. डिलिवरी पार्टनर्स के बच्चों ने "स्किल्स फॉर चिल्ड्रेन" पायलट के तहत गणित सीखने और रीडिंग कॉम्प्रिहेंसन के कोर्स पूरे किए. ये दो पिलर स्विगी के सभी 3 लाख से ज़्यादा डिलिवरी पार्टनर्स के लिए उपलब्ध हैं, वहीं "स्किल्स फॉर ग्रोथ" और "स्किल्स फॉर लाइफ" अगले कुछ महीनों में उपलब्ध होगा.


मिहिर राजेश शाह, हेड, ऑपरेशंस, स्विगी ने कहा, "इस डिजिटल-फर्स्ट इकॉनमी में हमारे डिलिवरी पार्टनर्स के पास ऐसी स्किल्स होनी चाहिए जो उन्हें आगे बढ़ने और नए अवसरों के लिए तैयार होने में मदद कर सकें. स्विगी ऐसे सशक्त डिलिवरी पार्टनर्स का समूह तैयार करने पर ज़ोर दे रही है जो कुशल हों, आत्मविश्वास से भरपूर हों और स्विगी के भीतर व बाहर, दोनों जगह सफलता हासिल करने के लिए तैयार हों."


इस प्रयास के बारे में गिरीश मेनन, प्रमुख, ह्यूमन रिसोर्स, स्विगी ने कहा, "स्विगी स्किल्स के साथ हमने अपने पार्टनर्स के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी पूरी करने की दिशा में एक कदम बढ़ाया है जिसका ध्यान उनकी वृद्धि व प्रगति के लिए नए अवसर तैयार करने पर है. डिलिवरी पार्टनर्स को सीखने और विकास करने के अवसर उपलब्ध कराने से उन्हें न सिर्फ अपनी मौजूदा भूमिका निभाने में लाभ होगा, बल्कि ये कोर्स लंबी अवधि की उनकी आकांक्षाओं को पूरा करने और सफलता हासिल करने में भी काफी मददगार साबित होंगे."


चंद्रकांत यादव, मुंबई से डिलिवरी पार्टनर हैं और उन्होंने स्विगी स्किल्स एकेडमी के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है. यादव कहते हैं, "स्विगी की ओर से शुरू किए गए इस प्रयास से हमें न सिर्फ अपना ज्ञान बढ़ाने और उसका विस्तार करने में मदद मिली है, बल्कि करियर में आगे बढ़ने में भी मदद मिली है. सबसे बड़ा फायदा यह है कि हम इन कोर्स को अपना डिलिवरी का काम करते हुए भी जारी रख सकते हैं. इससे मिले ज्ञान और कुशलताओं के साथ, मुझे उम्मीद है कि मैं आने वाले समय में अपना खुद का कारोबार शुरू कर सकूंगा."


मुंबई के ही एक अन्य डिलिवरी पार्टनर संजय अन्नादाते ने बताया, "मैं बेहद खुश हूं कि स्विगी हमारी और हमारे बच्चों की मदद कर रही है. आमतौर पर कंपनी का ध्यान सिर्फ पार्टनर्स पर होता है. लेकिन मेरे बच्चों को शामिल करने से यह और भी बेहतर हो गया है. मेरे बच्चे अब स्कूल से घर आकर इस प्रोग्राम के माध्यम से अंग्रेज़ी और गणित सीख सकते हैं."


इस वर्ष अप्रैल में ही स्विगी ने "स्टेप अहेड" (Step-Ahead) प्रोग्राम की शुरुआत की थी जो इस इंडस्ट्री में अपनी तरह का पहला एक्सीलरेटर प्रोग्राम था जिसमें डिलिवरी पार्टनर्स को फुलटाइम, मैनेजमेंट लेवल की नौकरी पाने का मौका दिया गया. स्विगी स्किल्स एकेडमी के साथ स्विगी ने स्किल्स देने और उन्हें बेहतर बनाने के लिए सभी संसाधन उपलब्ध कराने पर ज़ोर दिया है जिससे डिलिवरी पार्टनर को स्विगी और उससे आगे तरक्की करने में मदद मिलेगी.

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें