लगातार दूसरे दिन लुढ़का शेयर बाजार, CEAT 20% उछलकर 52 सप्ताह के उच्च स्तर पर

By Ritika Singh
September 15, 2022, Updated on : Thu Sep 15 2022 13:24:37 GMT+0000
लगातार दूसरे दिन लुढ़का शेयर बाजार, CEAT 20% उछलकर 52 सप्ताह के उच्च स्तर पर
सेंसेक्स की कंपनियों में टेक महिंद्रा के शेयर में सबसे अधिक 3.13 प्रतिशत की गिरावट आई.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

घरेलू शेयर बाजारों (Stock Markets) में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन गिरावट का सिलसिला कायम रहा और बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स (BSE Sensex) 413 अंक टूटकर 60000 से नीचे आ गया. वैश्विक अर्थव्यवस्था में मंदी की आशंका के बीच सूचना प्रौद्योगिकी और दवा कंपनियों के शेयरों में बिकवाली से बाजार नीचे आया. तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में मजबूती के साथ खुला और 60676.12 तक गया. हालांकि शुरुआती बढ़त गंवाने के बाद यह 412.96 अंक लुढ़ककर 59934.01 पर बंद हुआ. पूरे दिन में सेंसेक्स ने 60676.12 का उच्च स्तर और 59865.75 का निम्न स्तर छुआ.


सेंसेक्स की कंपनियों में टेक महिंद्रा के शेयर में सबसे अधिक 3.13 प्रतिशत की गिरावट आई. इन्फोसिस, टाटा स्टील, बजाज फिनसर्व, एक्सिस बैंक और इंडसइंड बैंक के शेयर भी प्रमुख रूप से नुकसान में रहे. दूसरी तरफ मारुति, पावर ग्रिड, NTPC, HDFC, भारती एयरटेल, लार्सन एंड टुब्रो और भारतीय स्टेट बैंक, केवल इन 7 कंपनियों के शेयर बढ़त में रहे. मारुति का शेयर सबसे ज्यादा 3.23 प्रतिशत चढ़कर बंद हुआ.

Nifty50 पर कैसा रहा रुख

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (NSE Nifty) 126.35 अंकों की गिरावट के साथ 17877.40 पर बंद हुआ. ऑटो, मेटल और पीएसयू बैंक को छोड़कर निफ्टी पर बाकी सभी सेक्टोरल इंडेक्स लाल निशान में बंद हुए हैं. मारुति, आयशर मोटर्स, अडानी पोर्ट्स, पावरग्रिड, एनटीपीसी टॉप गेनर्स रहे. दूसरी ओर हिंडाल्को, टेक महिंद्रा, इन्फोसिस, सिप्ला, अपोलो हॉस्पिटल टॉप लूजर्स रहे. शेयर बाजार में गुरुवार को एक तरफ वाहन और ऊर्जा कंपनियों के शेयरों में वृद्धि हुई, जबकि सूचना प्रौद्योगिकी और स्वास्थ्य क्षेत्र की कंपनियों के शेयर नीचे आए. व्यापक बाजार में बीएसई मिडकैप 0.31 प्रतिशत चढ़ गया और स्मॉलकैप में भी 0.06 प्रतिशत की मामूली बढ़त रही.

CEAT लिमिटेड में क्यों आया बूम

गुरुवार को सिएट (CEAT Limited) के शेयरों में 20 प्रतिशत का उछाल दर्ज किया गया. कच्चे माल की कीमतों में कमी आने और मांग में बढ़ोतरी के चलते कंपनी के प्रबंधन की ओर से सिएट को लेकर आशावादी अनुमान जताए जाने के बाद शेयरों में तगड़ा उछाल आया. बीएसई पर शेयर 20 प्रतिशत की बढ़त के साथ अपर सर्किट को छूकर 1661 रुपये पर बंद हुआ. यह इसका 52 सप्ताह का उच्च स्तर है. एनएसई पर भी कंपनी का शेयर 20 प्रतिशत के उछाल के साथ अपर सर्किट को छूकर 1661.60 रुपये पर बंद हुआ है, जो कि एनएसई पर इसका 52 सप्ताह का उच्च स्तर है. सिएट का मार्केट कैप बीएसई पर 6718.76 करोड़ रुपये हो चुका है.

तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक की सपाट शुरुआत

तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक का शेयर शेयर बाजार में नुकसान के साथ सूचीबद्ध हुआ और फिर निर्गम मूल्य 510 रुपये पर सपाट बंद हुआ.

एनएसई पर बैंक के शेयर में 510 रुपये के निर्गम मूल्य की तुलना में करीब तीन प्रतिशत की गिरावट आई. शेयर 495 रुपये पर सूचीबद्ध हुआ जो निर्गम मूल्य से 2.94 प्रतिशत कम है. वहीं बीएसई पर यह 510 रुपये के निर्गम मूल्य पर ही सूचीबद्ध हुआ. बाद में यह 0.30 प्रतिशत के नुकसान के साथ 508.45 रुपये पर बंद हुआ. तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) को पिछले सप्ताह निर्गम के अंतिम दिन 2.86 गुना सब्सक्रिप्शन मिला था.

रुपया 21 पैसे गिरा

घरेलू शेयर बाजार में कमजोरी के रुख और डॉलर के मजबूत होने के कारण अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में गुरुवार को रुपया 21 पैसे की गिरावट के साथ 79.73 (अस्थायी) प्रति डॉलर पर बंद हुआ. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया डॉलर के मुकाबले 79.53 पर खुला. दिन के कारोबार में यह 79.44 और 79.73 के दायरे में घूमने के बाद अंत में डॉलर के मुकाबले 21 पैसे की गिरावट के साथ 79.73 पर बंद हुआ. इस बीच, छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.09 प्रतिशत गिरकर 109.56 रह गया.

वैश्विक बाजारों की चाल

एशिया के अन्य बाजारों में जापान का निक्केई, हांगकांग का हैंगसेंग बढ़त के साथ बंद हुआ, जबकि चीन का शंघाई कंपोजिट और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी नुकसान में रहे. वहीं अमेरिकी शेयर बाजार बुधवार को मजबूती के साथ बंद हुए. विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को 1397.51 करोड़ रुपये के शेयर बेचे.