ये हैं मुंबई के 'ऑक्सिजन हीरो', कोरोना मरीजों की मदद के लिए बेच दी 22 लाख की एसयूवी

मुंबई के शाहनवाज शेख जिन्होने कोरोना मरीजों की मदद के लिए अपनी लाखों रुपये कीमत वाली एसयूवी बेच दी है।

ये हैं मुंबई के 'ऑक्सिजन हीरो', कोरोना मरीजों की मदद के लिए बेच दी 22 लाख की एसयूवी

Sunday April 25, 2021,

3 min Read

कोरोना वायरस महामारी की इस दूसरी लहर में पूरे भारत में जैसे हाहाकार मचा हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तमाम शहरों में लोग ऑक्सिजन और जरूरी दवाओं के लिए भी परेशान देखे जा रहे हैं, इस बीच देश भर में बड़ी तादाद में सामान्य लोग जरूरतमंदों की मदद के लिए सामने भी आए हैं।


ऐसे ही एक शख्स हैं मुंबई के शाहनवाज शेख जिन्होने कोरोना मरीजों की मदद के लिए अपनी लाखों रुपये कीमत वाली एसयूवी बेंच दी है।

'ऑक्सिजन हीरो'

कोरोना वायरस संक्रमण की बात करें तो मुंबई देश के सबसे अधिक कोरोना प्रभावित शहरों में से एक है। 23 अप्रैल की शाम तक मुंबई में कुल एक्टिव केसों की संख्या 81 हज़ार के पार दर्ज़ की गई थी। मुंबई के इन बिगड़े हालातों के बीच शाहनवाज शेख ने कोरोना प्रभावित जरूरतमन्द लोगों की मदद करने का प्रण लिया और ऐसा कदम उठाया कि मुंबई समेत देश भर में लोग उनकी तारीफ कर रहे हैं।


आज मुंबई के मलाड इलाके में रहने वाले शाहनवाज शेख महज एक फोन कॉल के बाद कोरोना मरीजों तक फौरन ऑक्सिजन सिलेन्डर पहुंचा रहे हैं। मालूम हो कि शाहनवाज शेख के इस नेकदिल काम के कारण ही लोग उन्हे ‘ऑक्सिजन मैन’ और ‘ऑक्सिजन हीरो’ जैसे नामों से संबोधित कर रहे है

बेच दी एसयूवी कार

कोरोना मरीजों की मदद के लिए जब शाहनवाज शेख को आर्थिक जरूरत महसूस हुई तब उन्होने अपनी फोर्ड एंडेवर एसयूवी बेंच दी। अपनी एसयूवी बेचने के बाद शाहनवाज शेख को जो पैसे मिले उससे उन्होने 160 ऑक्सिजन सिलेन्डर खरीद लिए और इसी के साथ उन्होने लोगों की मदद करना शुरू कर दिया। गौरतलब है कि शाहनवाज शेख ने अपनी एसयूवी कार को बेंचकर 22 लाख रुपये जुटाये थे।


मीडिया से बात करते हुए शाहनवाज ने बताया कि बीते साल उनके दोस्त की पत्नी कोरोना संक्रमित थीं और समय पर ऑक्सिजन ना मिल पाने के कारण ऑटोरिक्शा में ही उनकी मौत हो गईं थी। शाहनवाज़ शेख के अनुसार वह नहीं चाहते हैं कि किसी और के साथ भी ऐसा हो। शाहनवाज़ शेख ने 40 सिलेन्डर खुद भी किराए पर लिए हुए हैं और इस तरह उनके पास फिलहाल 200 सिलेन्डर हैं

शुरू किया हेल्पलाइन नंबर

शाहनवाज ने जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिए एक खसा हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया है, जहां कोई भी जरूरतमंद उनकी टीम से सीधे संपर्क कर सकता है। इस बेहद कठिन समय में लोगों को युद्ध स्तर बराबर मदद मिलती रहे इसके लिए एक वॉर रूम की भी स्थापना की गई है।


अपनी टीम के साथ मिलकर कोरोना प्रभावित लोगों की सेवा में लगे शाहनवाज़ शेख अब तक 4 हज़ार से अधिक कोरोना मरीजों तक ऑक्सिजन सिलेन्डर पहुंचाने का काम कर चुके हैं

रोजाना 500 कॉल रोज़

शाहनवाज़ शेख ने मीडिया को बताया कि जनवरी में उनके पास मदद के लिए रोजाना करीब 50 कॉल आती थीं, लेकिन अब यह आंकड़ा रोजाना 500 कॉल को भी पार कर रहा है। शाहनवाज़ शेख की टीम लोगों तक ऑक्सिजन सिलेन्डर पहुंचाने के साथ ही उन्हे इसके इस्तेमाल का सही तरीका भी समझाती है।


आमतौर पर कोरोना मरीज के परिजन खुद उनके पास से सिलेन्डर ले जाते हैं, लेकिन जो लोग इसमें असमर्थ हैं टीम उनके पास तक खुद सिलेन्डर पहुंचाने का काम करती है। इस्तेमाल हो जाने के बाद पीड़ित पारिज के परिजन खुद वॉर रूम तक खाली हो चुका सिलेन्डर पहुंचा देते हैं।