कैसे एक फैमिली कार ने दिया डीप टेक स्टार्टअप ION एनर्जी शुरू करने का आइडिया

By Apurva P
February 03, 2020, Updated on : Mon Feb 03 2020 13:31:30 GMT+0000
कैसे एक फैमिली कार ने दिया डीप टेक स्टार्टअप ION एनर्जी शुरू करने का आइडिया
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

आयन एनर्जी इलेक्ट्रिक व्हिकल को लेकर तेजी से आगे बढ़ने वाले स्टार्टअप में से एक है। यह स्टार्टअप आज 12 देशों में अपनी सेवाओं का संचालन कर रहा है।

अखिल आर्यन, सह-संस्थापक आयन एनर्जी

अखिल आर्यन, सह-संस्थापक आयन एनर्जी



इयोन एनर्जी (ION Energy) के सह-संस्थापक अखिल आर्यन अपनी युवावस्था से ही एनर्जी और सॉफ्टवेयर के फिजिक्स में रुचि रखते थे। वह 2015 में बतौर CPO हप्तिक (Haptik) में प्रोडक्ट और ग्रोथ को मैनेज कर रहे थे। यह वह समय था जब टेस्ला मॉडल एस को लेकर काफी बातचीत हो रही थी, जो अभी-अभी सामने आया था।


अखिल कहते हैं,

“मैं पढ़ रहा था कि कैसे इलेक्ट्रिक मोबिलिटी आकार ले रही है और क्या यह एक वास्तविक बड़ा सौदा बनने जा रहा है या सिर्फ एक तथ्य है। उसी समय, मेरे पिता भी अपनी स्कोडा सुपर्ब कार बेचने के बारे में सोच रहे थे।”

तब उन्होंने कार बेचने के बजाय, अपने पिता को सुझाव दिया कि वे उन्हें इस कार को इलेक्ट्रिक कार में कन्वर्ट करने दें। उन्होंने इंटरनल कंबशन इंजन को एक इलेक्ट्रिक इंजन में बदलने के लिए किताबें पढ़ना शुरू किया और उसके लिए ऑनलाइन कम्पोनेंट्स खरीदे।


वे बताते हैं,

“जैसा कि मैंने प्रोसेस से गुजरना शुरू किया, मैंने देखा कि बैटरी पैक कार की लागत का आधा था। मैंने महसूस किया कि 10 लाख -50 लाख रुपये की कार को इलेक्ट्रिक कार में बदलने का कोई मतलब नहीं है, जिसकी बैटरी अकेले एक करोड़ रुपये की है।"

जैसे-जैसे उन्होंने बैटरी पर और अधिक पढ़ा, उन्होंने समझा कि बैटरी ईवी (इलेक्ट्रिक व्हीकल) का सबसे महंगा और कॉम्प्लीकेटेड कम्पोनेंट है और यदि आप उस समस्या को हल करते हैं और बैटरी को इस तरह से सुलभ बनाते हैं कि वह अधिक समय तक चले या बेहतर प्रदर्शन करे, तो आप व्हीकल ऑनरशिप की कॉस्ट को काफी कम कर सकते हैं, भले ही अपफ्रंट कॉस्ट समान हो।


और फिर ये सब समझने के बाद अखिल ने बैटरी मैनेजमेंट स्पेस में गहराई से जाने का फैसला किया और महसूस किया कि उस समय कोई भी इसे भारत में नहीं कर रहा था।


इस प्रकार, 2016 में, उन्होंने मुंबई में ION Energy की शुरुआत की। इलेक्ट्रिक व्हीकल्स, एनर्जी स्टोरेज और कनेक्टेड डिवाइसेस के नए युग के लिए बैटरी परफॉर्मेंस और लाइफ-एक्सटेंशन को ऑप्टिमाइज करने के लिए ION एक डीप टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म है।


स्टार्टअप अपने प्रोडक्ट्स की सप्लाई उन कंपनियों को करता है जो रिन्यूएबल एनर्जी (नवीकरणीय ऊर्जा) के लिए ईवी और एनर्जी स्टोरेज सिस्टम का निर्माण कर रहे हैं।


अखिल कहते हैं,

"यह दरअसल क्लाउड-कनेक्टेड बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम है जो आपको यह देखने की अनुमति देती है कि बैटरी का उपयोग कैसे किया जा रहा है और कैसे उनकी परफॉर्मेंस में लगातार सुधार हो रहा है।"

असामान्य स्टार्टअप यात्रा

2017 में, ION ने आठ साल पुरानी एक फ्रांसीसी कंपनी Freemens SAS का अधिग्रहण किया, जो बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम का निर्माण कर रही है। आज, ION के भारत और फ्रांस में ऑफिस हैं। अलेक्जेंड्रे कोलेट, जो पहले Freemens SAS के संस्थापक थे, उन्होंने 2017 में ION के सह-संस्थापक के रूप में ज्वाइन किया।


आज ION की कुल टीम 53 लोगों की है। अखिल अपनी स्टार्टअप यात्रा को असामान्य मानते हैं। वे कहते हैं, “हम खुद को एक स्टार्टअप स्टोरी के विपरीत मानते हैं। हमने पहले साल में एक कंपनी का अधिग्रहण किया। यह फैक्ट कि हम अस्तित्व के पहले वर्ष में एक सीमा पार से अधिग्रहण करने में सक्षम थे, काफी दिलचस्प था क्योंकि यह एक भारतीय कंपनी के लिए यूरोपीय कंपनी का अधिग्रहण करना कोई सामान्य बात नहीं है।”


स्टार्टअप का आज 12 देशों में परिचालन है, सबसे बड़ा बाजार भारत, फ्रांस, जर्मनी और यूके हैं।


ION ने Tessellate Ventures और अन्य अन डिसक्लोज्ड इन्वेस्टर्स से तीन ट्रांजेक्शन में 1 मिलियन डॉलर से अधिक जुटाए हैं। भविष्य के बारे में बात करते हुए, अखिल कहते हैं,

“जब हम बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम और बैटरी इंटेलीजेंस की बात करते हैं तो हम इसमें प्रमुख खिलाड़ी बनना चाहते हैं। आज, क्योंकि बाजार नवजात है, हम विश्वास के साथ कह सकते हैं कि हम भारत में सबसे बड़े हैं और लीड को बनाए रखना चाहते हैं और अपनी स्थिति का लाभ उठाना चाहते हैं।”

स्टार्टअप प्रोडक्ट इनोवेशन में निरंतर निवेश पर केंद्रित है। वे कहते हैं,

"हम हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच एक गहरी कड़ी का निर्माण करना चाहते हैं, ताकि हम अपने हार्डवेयर की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए सॉफ़्टवेयर का इनोवेशन जारी रख सकें और पीरियड ओईएम के साथ एक साझेदारी का निर्माण कर सकें जो समय के साथ बाजार में परिपक्व हो सके।"