इस देश में सरकारी कर्मचारी अब पेड लीव लेकर शुरू कर सकेंगे अपना बिजनेस

By yourstory हिन्दी
December 29, 2022, Updated on : Fri Dec 30 2022 09:54:27 GMT+0000
इस देश में सरकारी कर्मचारी अब पेड लीव लेकर शुरू कर सकेंगे अपना बिजनेस
उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए मिडिल ईस्‍ट के इस देश का नया नियम.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

फर्ज करिए कि आप एक देश में रहते हैं और सुरक्षित सरकारी नौकरी कर रहे हैं. अब यदि आप उस नौकरी को छोड़कर अपना खुद का कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो कैसे करेंगे. सबसे बड़ी चुनौती तो यही होगी कि बिजनेस को शुरू करने और स्‍टैबलिश करने में जितना वक्‍त लगता है, उस वक्‍त में खर्चा कैसे चलेगा.


लेकिन यदि आप यूनाइटेड अरब अमीरात में रहते हैं और वहां सरकारी नौकरी कर रहे हैं तो आपके सामने यह चुनौती नहीं होगी. अगर आप उस देश के नागरिक हैं, वहां सरकारी नौकरी करते हैं तो आपके लिए नौकरी से ब्रेक लेकर अपना खुद का बिजनेस शुरू करना बहुत आसान है.      


अपने नागरिकों को उद्यमी बनने के लिए प्रेरित करने और इस काम में मददगार होने के बाद यूएई एक नया नियम लेकर आ रहा है. इस नियम के मुताबिक अब वहां के नागरिकों और सरकारी नौकरी कर रहे लोगों को सरकार अपना खुद का बिजनेस शुरू करने के लिए एक साल की पेड लीव देगी.

 

‘द खलीज टाइम्स’ में छपी रिपोर्ट के मुताबिक यूएई सरकार ने घोषणा की है अब वह सरकारी क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को पेड लीव देगी. यह नया नियम 2 जनवरी 2023 से लागू हो जाएगा. अब जो भी लोग अपना बिजनेस शुरू करने या स्व-रोजगार की इच्छा रखते हैं, वह एक साल की पेड लीव वाली इस नई सरकारी नीति का फायदा उठा सकते हैं.  


शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने यह घोषणा की है. शेख मोहम्‍मद यूएई के शासक हैं. साथ ही वह उस देश के उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री भी हैं. उन्‍होंने घोषणा की कि बिजनेस को बढ़ावा देने और प्रोत्‍साहित करने के उद्देश्‍य से वह यह नया नियम लेकर आए हैं, जिसे देश की कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है.  


शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम का कहना है कि अपने देश की अर्थव्‍यवस्‍था को मजबूत करने के लिए हम चाहते हैं कि युवा नए व्‍यवसायों की ओर आकर्षित हों. ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग अपना खुद का बिजनेस खड़ा करें. इस तरह वह देश की इकोनॉमी को मजबूत बनाने में भी अपना योगदान दे सकते हैं.


लेकिन इसके लिए जरूरी है कि उन्‍हें प्रोत्‍साहित किया जाए. उन्‍हें बेसिक सपोर्ट और समर्थन हासिल हो. इसी बात को ध्‍यान में रखते हुए हमने यह नया नियम बनाया है, जिससे निश्चित ही बहुत सारे नए लोग अपना खुद का व्‍यवसाय शुरू करने के लिए प्रेरित होंगे.


Edited by Manisha Pandey