Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ys-analytics
ADVERTISEMENT
Advertise with us

देश में फुटबॉल को मेनस्ट्रीम में लाने की कोशिश में जुटे हैं यूट्यूबर ज़ीशान खान, तेजी से आगे बढ़ रहा है इनका यूट्यूब चैनल

देश में फुटबॉल को मेनस्ट्रीम में लाने की कोशिश में जुटे हैं यूट्यूबर ज़ीशान खान, तेजी से आगे बढ़ रहा है इनका यूट्यूब चैनल

Thursday December 23, 2021 , 5 min Read

भारत में खेलों की लोकप्रियता के मामले में क्रिकेट सबसे आगे है, हालांकि वैश्विक स्तर पर फुटबॉल सबसे अधिक लोकप्रिय खेल माना जाता है लेकिन भारत में अभी भी यह उतना अधिक लोकप्रिय नहीं हो पाया है। देश में आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) की तर्ज़ पर फुटबॉल को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से आईएसएल (इंडियन सुपर लीग) की शुरुआत भी की जा चुकी है।


इन सब के बीच देश भर में फुटबॉल को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने का काम लखनऊ के जीशान अपने यूट्यूब चैनल के माध्यम से कर रहे हैं। आज जीशान ना सिर्फ अपनी कंपनी स्थापित कर चुके हैं, बल्कि निकट भविष्य में वे फुटबॉल के युवा खिलाड़ियों को अधिक मौके उपलब्ध कराने के मिशन पर भी हैं।


इंजीनियरिंग के छात्र रहे जीशान ने योरस्टोरी से बात करते हुए अपनी इस खास यात्रा को साझा किया है। जीशान अब देश में फुटबॉल प्रेमियों के बीच भी एक जाना-पहचाना चेहरा बनते जा रहे हैं।

k

अपनी बहन मुस्कान के साथ ज़ीशान

लॉकडाउन के दौरान हुई असल शुरुआत

बचपन से ही फुटबॉल के दीवाने रहे जीशान खुद भी एक फुटबॉल खिलाड़ी बनना चाहते थे लेकिन बाद में उन्होने स्कूली पढ़ाई खत्म करने के बाद मेरठ के एक कॉलेज से इंजीनियरिंग की। इंजीनियरिंग करने के बाद जीशान ने दिल्ली में GATE परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी और बाद में परीक्षा पास कर वे मास्टर्स करने एनआईटी राउरकेला चले गए। जीशान ने उसी दौरान अपने यूट्यूब चैनल Talk Football HD की शुरुआत की थी, जहां वे महीने में औसतन 8 से 10 वीडियो अपलोड किया करते थे।


हालांकि अपनी पढ़ाई को देखते हुए जीशान ने यूट्यूब चैनल को उस समय बंद कर दिया। अगले सात महीने तक जीशान ने चैनल पर कोई वीडियो अपलोड नहीं किया। साल 2020 में कोरोना महामारी के दौरान जब जीशान अपने घर वापस आए तब उन्होने अप्रैल महीने में अपने उस चैनल को फिर से शुरू करने और उस पर वीडियो अपलोड करने का फैसला किया।

परिवार से मिला भरपूर समर्थन

शुरुआत में जीशान अंग्रेजी भाषा में कंटेन्ट बनाते थे हालांकि जल्द ही वह हिन्दी में कंटेन्ट का निर्माण करने लगे। जीशान बताते हैं कि उन्हें अपने चैनल पर पहले 1 हज़ार सब्सक्राइबर्स जुटाने में करीब एक साल का समय लग गया था।


जीशान कहते हैं,

“शुरुआत में हम प्रयोग कर रहे थे कि क्या वीडियो अंग्रेजी भाषा में होने चाहिए? हालांकि बाद में हमने हिन्दी में वीडियो बनाने का फैसला किया और इससे चैनल पर दर्शकों से अच्छी प्रतिक्रिया मिलने लगी।”


शुरुआती दिनों की बात करते हुए जीशान बताते हैं कि उन्हें परिवार से पूरा समर्थन हासिल हुआ है। जीशान के अनुसार इस चैनल को शुरू करने और इसे आगे ले जाने में उनकी बहन मुस्कान ने उनका भरपूर सहयोग किया है। शुरुआत में मुस्कान वीडियो को एडिट करने से लेकर उसके थंबनेल आदि तैयार करने में जीशान की मदद करती थीं।

खड़ी की कंपनी

साल 2021 की शुरुआत में चैनल करीब 4 हज़ार सब्सक्राइबर्स तक पहुँच चुका था, तभी जीशान के दोस्त अभिषेक भी उनके साथ इस चैनल से जुड़ गए, जो मार्केटिंग से जुड़ा का काम देखते हैं। कुछ समय बाद ही जीशान के बचपन के दो दोस्त श्यामिक और आकिब भी उनके साथ जुड़ गए। आज जीशान इस पूरे काम का संचालन एक रजिस्टर्ड कंपनी के तहत कर रहे हैं।


जीशान अब अपने कंटेन्ट के जरिये भारतीय फुटबॉल को लाइमलाइट में लाना चाहते हैं और इसके लिए वे आईएसएल (इंडियन सुपर लीग) पर फोकस कर रहे हैं। आज जीशान का यूट्यूब चैनल 64 हज़ार सब्सक्राइबर्स तक पहुंच चुका है। चैनल भारतीय फुटबॉल के साथ ही यूरोपियन फुटबॉल की कवरेज भी कर रहा है।


जीशान कहते हैं,

“हम अब हर दो दिन में भी एक वीडियो बनाकर अपलोड कर सकते हैं लेकिन हम हर रोज़ वीडियो अपलोड करते हैं और लाइव जाते हैं। हम अपने दर्शकों की उम्मीदों पर पूरी तरह से खरा उतरना चाहते हैं।”

क

करते हैं अन्य क्रिएटर्स की मदद

समान सेगमेंट में काम कर रहे अन्य यूट्यूब चैनलों को जीशान प्रतिस्पर्धा की तरह नहीं देखते हैं, बल्कि जीशान फुटबॉल को लेकर काम कर रहे नए कंटेन्ट क्रिएटर्स की मदद भी करते हुए उन्हें सही सुझाव भी मुहैया कराते हैं।


जीशान कहते हैं,

“शुरुआत में ये संख्या उतनी अधिक नहीं थी, लेकिन हमारे आगे बढ़ने के साथ कई नए चैनल इस क्षेत्र में सामने आए। हम उन सभी क्रिएटर्स को साथ लेकर आगे बढ़ने में विश्वास करते हैं।”


फुटबॉल से जुड़ा कंटेन्ट बनाने को लेकर जीशान का कहना है कि वे हिन्दी और हिंगलिश में देश भर में टॉप पर हैं और वे आगे का रास्ता और भी तेजी से तय कर रहे हैं।


आज जीशान की लाइव स्ट्रीम पर आमतौर पर 4 से 5 सौ दर्शक रहते हैं, जबकि किसी बड़े मैच के दिन यह संख्या हजारों में पहुंच जाती है। इस दौरान जीशान दर्शकों द्वारा पुछे गए सभी सवालों के जवाब देने की कोशिश भी करते हैं।

आगे का रास्ता

अपने चैनल की बात करते हुए जीशान कहते हैं,

“अगर हम सरल भाषा में कंटेन्ट तैयार करते हैं तो नए फुटबॉल फैन को भी हमसे जुड़ने में कोई दिक्कत नहीं होगी और आगे के लिए हमारी यही रणनीति है। हम अधिक से अधिक लोगों को अपने साथ जोड़ना चाहते हैं जहां पर फुटबॉल को चाहने वालों की एक कम्यूनिटी तैयार की जा सके।”


जीशान कहते हैं,

“अपने चैनल पर अगर हम दर्शक वर्ग की बात करें तो यहाँ पर 10 साल से लेकर 40 साल तक के फुटबॉल प्रेमी हमारे साथ जुड़े हुए हैं। हमारा लक्ष्य यही है कि हम अपने दर्शकों को बेहतर कंटेन्ट पेश करते रहें। हम आईएसएल से जुड़ी क्राउड को भी अपने साथ बड़ी तादाद में जोड़ना चाहते हैं।”


जीशान अब आगे चलकर देश के युवा फुटबॉल खिलाड़ियों को भी मदद कर उन्हें आगे लाना चाहते हैं।


जीशान के अनुसार, “अभी भले ही यह आगे का काम लगे लेकिन हम यह करना चाहते हैं।”


इसी के साथ जीशान अपने चैनल को लेकर वायाकॉम 18 के साथ जुड़कर भी काम कर रहे हैं और वे अब राजस्व जुटाना शुरू कर चुके हैं।


Edited by Ranjana Tripathi