एडटेक यूनिकॉर्न upGrad ने कॉरपोरेट ट्रेनिंग प्रोवाइडर Centum Learning का अधिग्रहण किया

By yourstory हिन्दी
September 16, 2022, Updated on : Fri Sep 16 2022 04:45:25 GMT+0000
एडटेक यूनिकॉर्न upGrad ने कॉरपोरेट ट्रेनिंग प्रोवाइडर Centum Learning का अधिग्रहण किया
सेंटम साल 2007 में स्थापित हुई थी और इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है. यह वर्तमान में कॉरपोरेट्स को इम्पैक्ट बेस्ड ट्रैनिंग के साथ-साथ स्कूलों और कॉलेज के स्टूडेंट्स को वोकेशनल और एजुकेशनल ट्रेनिंग प्रदान करता है ताकि उन्हें स्व-रोजगार करने या किसी रोजगार में लगाया जा सके.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

देश की दिग्गज एजुकेशनल-टेक्नोलॉजी (एडटेक) कंपनियों में से एक अपग्रैड upGrad ने कॉरपोरेट ट्रेनिंग सॉल्यूशंस कंपनी सेंटम लर्निंग (Centum Learning) का अधिग्रहण कर लिया है. यह सौदा शेयर स्वैप के तहत किया गया है, जिसका मतलब है कि इस सौदे में अधिग्रहण के लिए शेयरों को 'करेंसी' की तरह इस्तेमाल किया गया है. इस ट्रांजैक्शन के साथ ही भारतीय एंटरप्राइज लिमिटेड (BEL) और उसकी सहयोगी कंपनियां अपग्रैड का हिस्सा बन गई हैं. ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि फाइनेंशियल ईयर 2023 में सेंटर 170 करोड़ रुपये जुटा सकती है.


सेंटम साल 2007 में स्थापित हुई थी और इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है. यह वर्तमान में कॉरपोरेट्स को इम्पैक्ट बेस्ड ट्रैनिंग के साथ-साथ स्कूलों और कॉलेज के स्टूडेंट्स को वोकेशनल और एजुकेशनल ट्रेनिंग प्रदान करता है ताकि उन्हें स्व-रोजगार करने या किसी रोजगार में लगाया जा सके.


सेंटम सीधे और औसत दर्जे के बिजनेस इम्पैक्ट के साथ एंट्री लेवल के पेशेवरों से लेकर मिड लेवल लीडर्स तक के लिए 360-डिग्री लर्निंग सॉल्यूशंस मुहैया करा रहा है. 3000 से अधिक लर्निंग एंड डेवलपमेंट (एलएंडडी) एक्सपर्ट्स के साथ, सेंटम लर्निंग ने 20 लाख से अधिक लोगों को ट्रेंड किया है, जबकि पूरे भारत और अफ्रीका में 400 से अधिक कॉरपोरेट्स को भी प्रभावित किया है.


200 से अधिक कर्मचारियों की कुल क्षमता के साथ, सेंटम का कारोबार उसके एमडी और सीईओ संजय बहल, के नेतृत्व मार्गदर्शन में स्वतंत्र रूप से चलता रहेगा.


अपग्रेड के को-फाउंडर और एमडी मयंक कुमार (Mayank Kumar) और कॉरपोरेट डेवलपमेंट प्रेसिडेंट गौरव कुमार  ने कहा कि एंटरप्राइज वर्कफोर्स अपस्किलिंग आज की जरूरत है. हालांकि, अभी तक यह क्षेत्र काफी बिखरा हुआ है. हालांकि, अब upGrad भारत में B2B लर्निंग को फिर से शुरू करने और अपने स्टेकहोल्डर्स के लिए एक एकीकृत LifeLong Learning इकोसिस्टम बनाने के लिए कुछ बदलाव कर रहा है.


बता दें कि, अपनी ट्रेनिंग की आवश्यकता को देखते हुए अपग्रेड दुनिया के 3700 कंपनियों के साथ काम करती है. upGrad ने पिछले साल अगस्त में 1.2 बिलियन डॉलर के वैल्यूएशन के साथ यूनिकॉर्न क्लब में प्रवेश किया था. जून में इसने कथित तौर पर 2.25 बिलियन डॉलर के वैल्यूएशन पर एक नए राउंड की फंडिंग में 225 मिलियन डॉलर जुटाए.


मुंबई स्थित कंपनी के पास 100 से अधिक देशों में 3 मिलियन से अधिक लर्नर्स हैं और 300 से अधिक यूनिवर्सिटीज पार्टनर हैं. अपग्रैड ने अपनी स्थापना के बाद से 13 स्टार्टअप का अधिग्रहण किया है. इसकी 1000 कंपनियां क्लाइंट हैं. पिछले महीने upGrad ने ऑनलाइन लर्निंग इंस्टीट्यूशन हड़प्पा एजुकेशन Harappa  का 300 करोड़ रुपये में अधिग्रहण किया है.


Edited by Vishal Jaiswal