Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ys-analytics
ADVERTISEMENT
Advertise with us

Waaree Energies ने प्राइवेट फंडिंग में जुटाए 1000 करोड़ रुपये

Waaree Energies ने प्राइवेट फंडिंग में जुटाए 1000 करोड़ रुपये

Friday October 07, 2022 , 3 min Read

भारत की नामचीन सोलर पैनल बनाने वाली कंपनियों में से एक Waaree Energies Limited ने प्राइमरी फंडिंग के जरिए अलग-अलग निवेशकों से लगभग 1000 करोड़ रुपये जुटाए हैं. प्रमोटरों ने भी उसी वैल्यूएशन पर इस इक्विटी राउंड में भाग लिया. ताजा फंडिंग का उपयोग कंपनी की विस्तार योजनाओं के लिए भारत में PV मॉड्यूल के लिए 2GW से 9GW तक अपनी मैन्युफैक्चरिंग क्षमताओं को बढ़ाने के लिए किया जाएगा, जिसमें से 5GW चालू है और शेष 4GW जनवरी 2023 तक चालू होने की उम्मीद है.

Waaree Energies के पास 5.4 GW की क्षमता वाले सोलर सेल के निर्माण में बैकवर्ड इंटीग्रेशन की भी योजना है. वारी सूर्योदय अक्षय ऊर्जा उद्योग (sunrise renewable energy industry) में अपनी वृद्धि और विस्तार योजनाओं के लिए प्रतिबद्ध है और 2030 के लिए निर्धारित COP 21 जलवायु परिवर्तन लक्ष्यों और 2070 के लिए निर्धारित कार्बन न्यूट्रल लक्ष्यों में से अधिकांश को प्राप्त करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण का समर्थन करने के लिए भी प्रतिबद्ध है.

Waaree Energies ने हाल ही में जुटाने के कारण SEBI के पास दायर DRHP (draft red herring prospectus) को वापस ले लिया है. IPO के लिए कंपनियां मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) के पास ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस यानी DRHP फाइल करती हैं. इसमें कंपनी से जुड़ी हर जानकारी सेबी को देनी होती है, जैसे - कारोबार की जानकारी, कैपिटल स्ट्रक्चर, रिस्क फैक्टर, रिस्क स्ट्रैटजी, प्रोमोटर्स एंड मैनेजमेंट और पिछला फाइनेंशियल आंकड़ा आदि.

ताजा फंडिंग पर टिप्पणी करते हुए Waaree Energies के डायरेक्टर और सीएफओ हितेश मेहता कहते हैं, “Waaree Energies ने हमेशा भारत को एक सौर-निर्भर देश बनाने की दिशा में काम किया है और यह सरकार के आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया के अनुरूप है. सोलर मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में क्रांति लाने के हमारे प्रयासों में, हम अपनी मैन्युफैक्चरिंग क्षमता को आगे बढ़ाने और अपनी पेशकशों का विस्तार करने और रोजगार के अवसरों में वृद्धि सुनिश्चित करने का लक्ष्य रखते हैं. हम अपने खरीदारों के लिए आर्थिक रूप से व्यवहार्य और अपनाने में आसान समाधान बनाने के बारे में उत्साहित हैं. हमारा मिशन हमेशा प्रदर्शन बढ़ाने के लिए व्यावहारिक समाधान प्रदान करना और विश्व स्तर पर सौर क्रांति के अग्रदूत बनना है."

Waaree हाल ही में सौर पैनलों के सबसे बड़े निर्यातक के रूप में उभरा है. यह भारत में अकेला निर्माता है, जिसे सूरत, गोदीजी - चिखली, तुंब और नंदीग्राम में अपनी मैन्युफैक्चरिंग सुविधाओं से उच्च वाट क्षमता वाले पैनल यानी 650WP के साथ-साथ 600WP और 540WP के ALMM द्वारा अनुमोदित किया गया है. द इकोनॉमिक टाइम्स द्वारा वारी को सौर उद्योग में "भारत के सर्वश्रेष्ठ ब्रांड" के रूप में मान्यता दी गई है. PVEL, फोटोवोल्टिक परीक्षण में विश्व स्तर पर मान्यता प्राप्त लैब, ने हाल ही में वारी को अपने 2022 स्कोरकार्ड में शीर्ष प्रदर्शन करने वालों के बीच मान्यता दी है, जो वैश्विक मानकों के अनुरूप अपने उत्पाद गुणों को मान्य करता है.


Edited by रविकांत पारीक