भारत में दुनिया के सबसे बड़े इनोवेशन कैंपस की शुरुआत, स्टार्टअप इकोसिस्टम को सशक्त बनाने का लक्ष्य

By Vishal Jaiswal
June 28, 2022, Updated on : Sat Aug 13 2022 12:54:31 GMT+0000
भारत में दुनिया के सबसे बड़े इनोवेशन कैंपस की शुरुआत, स्टार्टअप इकोसिस्टम को सशक्त बनाने का लक्ष्य
T-Hub फलते-फूलते स्टार्टअप इकोसिस्टम को और अधिक सशक्त बनाएगा और उद्यमियों को 6M - मेंटर्स, मार्केट, मोटिवेशन, मैनपावर, मनी, मेथोडोलॉजी और 2Ps - पार्टनरशिप और पॉलिसी एडवाइजरी तक पहुंच प्रदान करके उनकी विकास यात्रा में सहायता करेगा.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

T-Hub ने मंगलवार को हैदराबाद में दुनिया के सबसे बड़े इनोवेशन कैंपस के उद्घाटन की घोषणा की. यह इनोवेशन कैंपस वैश्विक स्तर पर भारत के इनोवेशन सेक्टर को आगे बढ़ाने वाले प्लेटफॉर्म के रूप में काम करेगा.


T-Hub फलते-फूलते स्टार्टअप इकोसिस्टम को और अधिक सशक्त बनाएगा और उद्यमियों को 6M - मेंटर्स, मार्केट, मोटिवेशन, मैनपावर, मनी, मेथोडोलॉजी और 2Ps - पार्टनरशिप और पॉलिसी एडवाइजरी तक पहुंच प्रदान करके उनकी विकास यात्रा में सहायता करेगा.


T-Hub के CEO महंकली श्रीनिवास राव ने कहा कि टी-हब इस विचार के साथ बनाया गया है कि इनोवेशन केवल सहयोग से ही पनप सकता है. इनोवेशन कैंपस ईवी/मोबिलिटी, हेल्थटेक, एंटरप्राइज टेक, गेमिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे वर्टिकल पर विशेष ध्यान देने के साथ स्थायी व्यवसाय बनाने के लिए सभी स्टार्टअप इकोसिस्टम हितधारकों को एक साथ लाएगा.


उन्होंने आगे कहा कि यह तेलंगाना को वैश्विक स्तर पर प्रौद्योगिकी और इनोवेशन के केंद्र के रूप में स्थापित करना जारी रखेगा, नई प्रौद्योगिकियों को प्रोत्साहित करेगा, उद्यमियों का मार्गदर्शन करेगा और निवेश के अवसर पैदा करेगा. हमारा लक्ष्य 2000 से अधिक स्टार्टअप का समर्थन करना है और इन उद्यमियों को वैश्विक भागीदारी के माध्यम से 6M और 2P तक पहुंच प्रदान करके उन्हें आवश्यक समर्थन प्रदान करना है.


बता दें कि, T-Hub का लक्ष्य अगले पांच साल में विभिन्न कार्यक्रमों के जरिए कम से कम 20 हजार स्टार्टअप तक पहुंचना है.

पिछले छह वर्षों में, T-Hub विभिन्न पृष्ठभूमि के 50 से अधिक पेशेवरों की अपनी टीम के साथ वैश्विक स्तर पर उद्यमियों, कॉरपोरेट नेताओं/सीआईओ और निवेशकों के लिए इनोवेशन को संभव बना रहा है.


यही कारण है कि, T-Hub एक स्टार्टअप इनक्यूबेटर से भारत में एक अग्रणी इनोवेशन हब के रूप में विकसित हुआ है. T-Hub द्वारा बनाए गए इस मजबूत नवाचार पारिस्थितिकी तंत्र के कारण, स्टार्टअप की संख्या 400 से बढ़कर अब लगभग 2,000 हो गई है.


T-Hub ने विभिन्न कार्यक्रमों और पहलों के माध्यम से 1800 से अधिक स्टार्टअप और फेसबुक, बोइंग, ओटिस और उबर जैसे 600 से अधिक कॉरपोरेट्स का समर्थन किया है. इसने स्टार्टअप्स को विभिन्न कार्यक्रमों से इन चुनौतीपूर्ण समय के दौरान कुल 1.19 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक की फंडिंग जारी रखने में सक्षम बनाया है.


इस मौके पर कार्यक्रम में मौजूद तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कहा कि T-Hub पिछले छह वर्षों में भारत में और उससे आगे एक इनोवेशन हब के रूप में एक स्टार्टअप इनक्यूबेटर से विकसित हुआ है. यह एक मजबूत संगठन के रूप में उभरा है जो परिणाम-संचालित पहलों पर केंद्रित है और यह हमारे उद्यमियों की वैश्विक आकांक्षाओं और महत्वाकांक्षाओं का समर्थन करने के लिए अच्छी तरह से स्थित है.


इसके लिए तेलंगाना सरकार और मुख्यमंत्री राव को बधाई देते हुए रतन टाटा ने ट्वीट कर कहा कि तेलंगाना सरकार और मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव को हैदराबाद में अपनी नई T-Hub सुविधा के लिए बधाई, जो भारतीय स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र को काफी बढ़ावा देगा.