संपत्ति का 50% दान करेंगे Zerodha के को-फाउंडर निखिल कामथ: रिपोर्ट

बिल गेट्स-वारेन बफे के फाउंडेशन 'The Giving Pledge' को संपत्ति का 50% दान करेंगे निखिल कामथ

संपत्ति का 50% दान करेंगे Zerodha के को-फाउंडर निखिल कामथ: रिपोर्ट

Wednesday June 07, 2023,

3 min Read

Zerodha के को-फाउंडर निखिल कामथ (Nikhil Kamath) अजीम प्रेमजी, किरण मजूमदार-शॉ, और रोहिणी और नंदन नीलेकणि जैसी मशहूर हस्तियों की लिस्ट में शामिल हो गए हैं और धर्मार्थ कार्यों के लिए अपनी संपत्ति दान करने का संकल्प लेने वाले चौथे और सबसे कम उम्र के भारतीय बन गए हैं.

कामथ 2010 में वारेन बफेट, मेलिंडा फ्रेंच गेट्स और बिल गेट्स द्वारा स्थापित 'द गिविंग प्लेज' (The Giving Pledge) में शामिल होने वाले चौथे भारतीय बने. बिजनेस टुडे ने इसकी जानकारी दी है.

35 वर्षीय कामथ उस लीग में शामिल हुए, जिसमें विप्रो लिमिटेड के पूर्व अध्यक्ष अजीम प्रेमजी, बायोकॉन लिमिटेड और बायोकॉन बायोलॉजिक्स लिमिटेड की कार्यकारी चेयरपर्सन और संस्थापक किरण मजूमदार-शॉ, और भारतीय लेखक और अरबपति, उद्यमी और इंफोसिस के सह-संस्थापक रोहिणी और नंदन नीलेकणि के नाम शामिल हैं.

बिजनेस टुडे ने कामथ के हवाले से बताया, "एक युवा परोपकारी के रूप में, मैं गिविंग प्लेज में शामिल होने के दौरान अपना आभार व्यक्त करने के लिए लिख रहा हूं. मेरी उम्र के बावजूद, मैं दुनिया को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने के लिए प्रतिबद्ध हूं और विश्वास करता हूं कि एक अधिक न्यायसंगत समाज बनाने का फाउंडेशन का मिशन मेरे मूल्यों और आकांक्षाओं के साथ मेल खाता है."

कामथ के पास 3.45 अरब डॉलर की अनुमानित नेट वर्थ है. उनका अपना फाउंडेशन भी है- यंग इंडियन फिलैंथ्रोपिक प्लेज (Young Indian Philanthropic Pledge - YIPP), जो उद्यमियों के साथ उनके नेटवर्थ का कम से कम 25% धर्मार्थ कारणों के लिए दान करने के लिए काम करती है.

फोर्ब्स के अनुसार, निखिल कामथ, 'द गिविंग प्लेज' के माध्यम से जलवायु परिवर्तन, ऊर्जा, शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे कारणों का समर्थन करना चाहते हैं.

कामथ ने अपने प्रतिज्ञा पत्र में कहा, "मेरी उम्र के बावजूद, मैं दुनिया को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने के लिए प्रतिबद्ध हूं. और विश्वास करता हूं कि एक अधिक न्यायसंगत समाज बनाने का फाउंडेशन का मिशन मेरे मूल्यों और आकांक्षाओं के साथ मेल खाता है."

उन्होंने अपनी संपत्ति का 50 प्रतिशत दान किया है, और जलवायु परिवर्तन, शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल सहित क्षेत्रों में योगदान करने में रुचि रखते हैं.

एडलगिव-हुरुन इंडिया फिलैंथ्रॉपी लिस्ट 2022 के अनुसार, निखिल कामथ ने अपने भाई और Zerodha के को-फाउंडर नितिन कामथ के साथ 2022 में व्यक्तिगत संपत्ति का 100 करोड़ रुपये दान किया, जो कि एक साल पहले की तुलना में 300% की वृद्धि थी.

गिविंग प्लेज पर अब तक 29 देशों के लगभग 241 समाजसेवियों ने हस्ताक्षर किए हैं. अन्य अरबपति हस्ताक्षरकर्ताओं में लिंक्डइन के को-फाउंडर रीड हॉफमैन के साथ उनके साथी मिशेल यी, टेस्ला के सीईओ और ट्विटर के मालिक एलन मस्क, परोपकारी मैकेंजी स्कॉट और कैनवा के को-फाउंडर मेलानी पर्किन्स और क्लिफ ओब्रेच शामिल हैं.

कामथ, जो एसेट मैनेजमेंट कंपनी True Beacon के भी हेड हैं, ने 2021 में फोर्ब्स को एक साक्षात्कार में कहा था, "ऐसा नहीं हो सकता है कि देश के 10 प्रतिशत लोगों के पास वह है जो 90 प्रतिशत लोगों का होना चाहिए". उनकी संस्था यंग इंडियन फिलैंथ्रोपिक प्लेज का लक्ष्य है अगले तीन वर्षों में ₹750 करोड़ का दान दें.

निखिल कामथ ने 17 साल की उम्र में पूर्णकालिक काम करना शुरू कर दिया था और उनका अनुभव काफी हद तक शेयर बाजारों के इर्द-गिर्द घूमता है.

कामथ ने 2010 में Zerodha की स्थापना की, साथ ही निजी निवेश के लिए Gruhas, हेज फंड True Beacon की भी स्थापना की थी, जो भारत में अल्ट्रा एचएनआई के लिए धन का प्रबंधन करता है. उन्होंने फिनटेक इनक्यूबेटर Rainmatter, और Rainmatter Foundation की स्थापना की, जो जलवायु से संबंधित गैर-लाभकारी संस्थाओं का समर्थन करता है.

यह भी पढ़ें
सस्ती ब्रोकरेज सर्विस के आईडिया के साथ शुरू हुई थी Zerodha, 10 साल में कामथ ब्रदर्स ने बना दिया यूनिकॉर्न