भारत ही नहीं, दुनिया के ये 5 देश भी 15 अगस्त को ही मनाते हैं स्वतंत्रता दिवस

By yourstory हिन्दी
August 15, 2022, Updated on : Mon Aug 29 2022 06:34:34 GMT+0000
भारत ही नहीं, दुनिया के ये 5 देश भी 15 अगस्त को ही मनाते हैं स्वतंत्रता दिवस
भारत आजादी का जश्न इसलिए मनाता है क्योंकि हम 200 सालों तक अंग्रेजों के गुलाम बने रहे और वे हमें अपना उपनिवेश बनाकर शासन करते रहे. हालांकि. भारत के अलावा पांच देश और हैं जो किसी न किसी देश के उपनिवेश बनकर रहे.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

आज 15 अगस्त, 2022 है और आज से ठीक 75 साल पहले 15 अगस्त, 1947 को हमें अंग्रेजी राज से आजादी मिली थी. आजादी मिलने के बाद से ही हम हर साल इस दिन स्वतंत्रता आंदोलन में शहीद होने वाले और आजादी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले जवानों को याद करते हैं.


भारत आजादी का जश्न इसलिए मनाता है क्योंकि हम 200 सालों तक अंग्रेजों के गुलाम बने रहे और वे हमें अपना उपनिवेश बनाकर शासन करते रहे. हालांकि. भारत के अलावा पांच देश और हैं जो किसी न किसी देश के उपनिवेश बनकर रहे.


उन देशों को साल 1947 से पहले या बाद 15 अगस्त के दिन ही आजादी मिली थी और वे पांचों देश भारत के साथ ही आजादी का जश्न धूमधाम से मनाते हैं. आज हम आपको उन पांचों देशों के बारे में बताएंगे कि वे कौन से देश हैं और उन्हें किस तरह से आजादी मिली.

1. रिपब्लिक ऑफ कॉन्गो

15 अगस्त, 1960 को रिपब्लिक ऑफ कॉन्गो को फ्रांस से पूरी से आजादी मिली थी. रिपब्लिक ऑफ कॉन्गो को यह आजादी फ्रांस के शासन में ठीक 80 साल तक रहने के बाद मिली थी. रिपब्लिक ऑफ कॉन्गो में इसे कॉन्गोलिज नेशनल डे के रूप में मनाया जाता है.

2 और 3. उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया

भारत की आजादी के दो साल पहले ही आज ही के दिन कोरिया को 35 साल के जापानी उपनिवेशवाद से आजादी मिली थी. इसका मतलब है कि 15 अगस्त के ही दिन साल 1945 में कोरिया आजाद हुआ था.


1945 में आजादी के बाद भी दोनों कोरियाई देशों में सरकारें तीन साल बाद बनीं. 1948 में पूर्व-सोवियत Kim Il-sung को उत्तर कोरिया का पहला प्रमुख और प्रो-अमेरिकी Syngman Rhee को दक्षिण कोरिया का पहला राष्ट्रपति बनाया गया.


कोरिया के स्वतंत्रता दिवस को Gwangbokjeol कहा जाता है, जिसका अर्थ रोशनी की वापसी है. यह ऐसी बहुत कम सार्वजनिक छुट्टियों में से एक है, जिसे दक्षिण और उत्तर कोरिया दोनों मनाते हैं.

4. बहरीन

बहरीन ने अपनी स्वतंत्रता का ऐलान 15 अगस्त 1971 को किया था. यह डिलमन सभ्यता की प्राचीन भूमि है. बहरीन को ब्रिटिश शासन से यह आजादी संयुक्त राष्ट्र (UN) द्वारा बहरीन की आबादी को लेकर किए गए एक सर्वे के बाद मिली थी.


बहरीन द्वीपसमूह पर ब्रिटेन से पहले अरब और पुर्तगाल जैसे देशों ने भी शासन किया था. उनके शासन के बाद 19वीं शताब्दी में यह ब्रिटेन द्वारा संरक्षित राज्य बन गया था.

5. लिकटेंस्टीन

दुनिया का छठां सबसे छोटा देश लिकटेंस्टीन भी 15 अगस्त को ही अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है. लिकटेंस्टीन को भी 15 अगस्त के ही जर्मनी के शासन से आजादी मिली थी.


लिकटेंस्टीन को जर्मनी से यह आजादी साल 1866 में मिली थी. इस उत्सव में घास के मैदान में कैथोलिक मास और उसके बाद राजकुमार के महल में मुफ्त ड्रिंक और सैंडविच होती है. यहां जनता को शाही परिवार से मिलने और बातचीत करने का मौका मिलता है.


Edited by Vishal Jaiswal