NASA की जॉब छोड़कर भारत लौटे, अब EV मिशन पर हैं अमिताभ सरन

By Prerna Bhardwaj
October 13, 2022, Updated on : Thu Oct 13 2022 16:23:32 GMT+0000
NASA की जॉब छोड़कर भारत लौटे, अब EV मिशन पर हैं अमिताभ सरन
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अमिताभ सरन, अमेरिका से अपनी पी.एचडी. करने के दौरान एक क्लासरूम में बैठ एक असाइनमेंट पर काम करते हुए यह सोच रहे थे कि वो इस दुनिया में किस चीज़ के लिए याद किये जायेंगे! पढाई खत्म होने के बाद NASA में जॉब की और भारत वापस आए. विदेश से भारत लौटने पर अक्सर पहली नज़र यहाँ की साफ़-सफाई और वायु गुणवत्ता पर जाती है. जिसकी गवाही WHO की रिपोर्ट्स भी देते हैं. रिपोर्ट्स को देखें तो भारत के कई शहर WHO की लिस्ट में ख़राब एयर क्वालिटी में पुरे विश्व में पहले दस शहरों में आते हैं. ये रिपोर्ट्स सरन के इलेक्ट्रिक व्हिकल सेगमेंट में आने की एक बड़ी वजह बनी. 2013 में अल्टिग्रीन (Altigreen) अस्तित्व में आई. कार्गो कैरियर सेगमेंट में इलेक्ट्रिक थ्री-व्हीलर बनाने वाली इस कंपनी की स्थापना 2013 में हाइब्रिड रूपांतरणों के लिए इलेक्ट्रिक ड्राइवट्रेन बनाने के लिए की गई थी. मेड इन इंडिया, मेड फॉर इंडिया के उद्देश्य से शरू की गई अल्टिग्रीन ने 2020 में अपनी पहली थ्री-व्हीलर रेंज को व्यावसायिक रूप से लॉन्च किया.


2013 में स्थापित अल्टिग्रीन, लास्ट माइल ट्रांसपोर्टेशन सेगमेंट के लिए ev को डिजाइन, इंजिनियर और इसका उत्पादन भी करता है. अल्टिग्रीन के लिए मेड इन इंडिया, मेड फॉर इंडिया का सिर्फ 100 प्रतिशत स्वदेशी इलेक्ट्रिक थ्री-व्हीलर्स का निर्माण नहीं है, बल्कि कार्गो को विशेष रूप से भारतीय पर्यावरण, सडकों की स्थिति और ड्राविंग हैबिट्स के लिए डिजाइन किए जाना भी है.

a

इमेज क्रेडिट: @AltigreenL

बेंगलुरु में एक कारखाने के साथ मुख्यालय, और पूरे भारत में क्षेत्रीय स्तर पर अपने केन्द्रों सहित, इस कंपनी का पेटेंट पोर्टफोलियो 60 से अधिक देशों में फैला हुआ है, जिसमें 26 पेटेंट दे दिए गए हैं, और जिसमें 6 पेटेंट अमेरिका में है. इसके अलावा, अल्टिग्रीन को वर्ल्डवाइड फंड फॉर नेचर, नीति आयोग, एआरएआई, इकोनॉमिक टाइम्स, एलेक्रामा, आईओटीनेक्सट, आईडीटेकएक्स आदि वैश्विक मान्यताएं मिली हैं.


अल्तिग्रीन लगातार अपनी क्षमताओं को बढ़ा रही है और अपनी अखिल भारतीय उपस्थिति बढाने और बढती मांग को पूरा करने के लिए आक्रामक विस्तार की योजना बना रही है. इसी क्रम में 10 अक्टूबर को अल्टिग्रीन ने दिल्ली में अपने रिटेल एक्सपीरिएंस सेंटर का उदघाटन किया. दिल्ली में अपनी पहली रिटेल डीलरशीप के लिए साईश्रीजा ऑटोएलएलपी को अपने साथ लिया है. साईश्रीजा समूह दिल्ली/एनसीआर में स्थित एक प्रमुख ऑटो मोबाइल ग्रुप है और एमजी मोटर्स, हुंडई और फोर्ड जैसे दुनिया के कुछ सबसे प्रसिद्ध ऑटो मोबाइल ब्रांड्स के साथ जुड़ा है. अल्टिग्रीन का यह एक्सपीरिएंस सेंटर ओखला औद्योगिक क्षेत्र चरण- I में खोला गया है.


सेंटर के उदघाटन समारोह में प्रमुख वक्ताओं ने अल्टिग्रीन का मिशन कार्बन-मुक्त परिवहन का तेजी से विस्तार करना और इसे सुलभ व किफायती बनाने पर जोर दिया. अल्टिग्रीन के फाउंडर अमिताभ सरन ने कहा, “भारत की ईवी राजधानी बनाने की दिशा में दिल्ली के मार्च में योगदान देने के अवसर के लिए और दिल्ली को स्वच्छ, हरित और प्रदुषण मुक्त शहर बनाने के लिए हम प्रतिबद्ध्ह हैं. अल्टिग्रीन भारतीय कार्गो और यात्री गतिशीलता की ज़रूरतों के अनुरूप सबसे उपयुक्त EV की पेशकश करती रहेगी.”


कंपनी के भविष्य की योजना के बारे में बात करते हुए सरन ने बताया कि अब तक कंपनी ने एक महीने की अवधि में 4 डीलरशिप सफलतापूर्वक लॉन्च कर दिया है, जिसमें बैंगलोर, हैदराबाद, दिल्ली और लखनऊ शामिल हैं. कंपनी की 2022-2023 के दौरान लखनऊ, कोचीन, सूरत और ठाणे सहित 40 शहरों में डीलरशीप खोलने की योजना है. इसके अलावा, कंपनी अब इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर और फोर व्हीलर मार्केट में भी अपनी एंट्री की तैयारियां कर रही है.