लिंग समानता में सुधार के उद्देश्य से बॉलीवुड स्टार अर्जुन कपूर ने किया फूड बिज स्टार्टअप में निवेश

By yourstory हिन्दी
December 13, 2019, Updated on : Fri Dec 13 2019 03:31:31 GMT+0000
लिंग समानता में सुधार के उद्देश्य से बॉलीवुड स्टार अर्जुन कपूर ने किया फूड बिज स्टार्टअप में निवेश
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

बॉलीवुड एक्टर अर्जुन कपूर उभरते फूड डिलीवरी स्टार्टअप फूडक्लाउड (FoodCloud) में सह-निवेशक बन गए हैं। अर्जुन कपूर का इस स्टार्टअप में निवेश करने के पीछे का मकसद लैंगिक समानता के प्रति एक सकारात्मक सामाजिक बदलाव लाने का है।


एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि दिल्ली स्थित स्टार्टअप अपने प्लेटफॉर्म के माध्यम से "घर पर रहकर शानदार खाना बनाने वाली महिलाओं को उद्यमी के रूप से सशक्त बनाता है।"

 

k



वहीं अर्जुन ने अपने एक बयान में कहा,


“समाज में लैंगिक समानता के प्रति एक सकारात्मक सामाजिक बदलाव लाने वाला यह उपक्रम मेरे दिल के बेहद करीब है और पिछले कुछ महीनों से मैं अपनी ओर से इस मंच के बारे में जागरूकता बढ़ाने की पूरी कोशिश कर रहा हूं। मुझे लगता है कि यह अनूठा और प्रभावशाली मंच एक बड़े सामाजिक उद्देश्यों की पूर्ति करेगा और गृहणियों और घरेलू महिलाओं को सशक्त बनाने में योगदान करेगा।"


साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि ये प्लेटफॉर्म घर में रहकर काम करने वाली महिलाओं को उनकी आय को बढ़ाने और परिवार की आय में योगदान करने में मदद करेगा।


पानीपत एक्टर के अनुसार, यह आत्मनिर्भरता और आत्म-सशक्तिकरण विकसित करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम हो सकता है। यह वेंचर महिलाओं के किचन से सीधे ग्राहकों के घर-घर जाकर फूड डिलीवर करता है।


विज्ञप्ति के अनुसार, स्टार्टअप की घोषणा के बाद से, दिल्ली, मुंबई और कोलकाता की 4,000 से अधिक महिलाओं ने इस प्लेटफॉर्म पर साइन-इन किया है और अपना खुद का एक छोटा व्यवसाय शुरू किया है।





अर्जुन कपूर कहते हैं,


“मुझे अब तक मिली प्रतिक्रिया से बहुत खुशी हुई है और टीम लगातार विभिन्न शहरों से घर पर रहकर खाना बनाने वाले बेस्ट शेफ को खोजने और उन्हें प्लेटफॉर्म पर लाने के लिए लगातार तलाश कर रही है। हम भारत के हर इलाके से सर्वश्रेष्ठ हीरोज की तलाश कर रहे हैं।"

कंपनी की योजना छह अन्य भारतीय शहरों तक विस्तार करने की है। फूडक्लाउड की स्थापना सितंबर 2013 में सीरियल आंत्रप्रेन्योर वेदांत कनोई और शमित खेमका ने की थी। वेदांत ने 2006 में कार्नेगी मेलन विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि हासिल की है और फिर 2008 तक यूबीएस इन्वेस्टमेंट बैंक में दो साल तक काम किया, जिसके बाद उन्होंने बैचबज मीडिया की स्थापना की।


वहीं शमित खेमका SynapseIndia के संस्थापक हैं, जो सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट और आईटी सेवाएं प्रदान करता है, इसके पहले उन्होंने भारत में अचल संपत्ति के लिए एक ऑनलाइन डेटाबेस sampatti.com की भी स्थापना की थी।