बैंक ऑफ बड़ौदा ने MCLR 0.15% तक बढ़ाया, जानें अब क्या हैं नई कर्ज दरें

बैंक ऑफ बड़ौदा ने शेयर बाजार को भेजी सूचना में बताया कि बैंक ने 12 जुलाई, 2022 से MCLR में वृद्धि को मंजूरी दे दी है.

बैंक ऑफ बड़ौदा ने MCLR 0.15% तक बढ़ाया, जानें अब क्या हैं नई कर्ज दरें

Tuesday July 12, 2022,

2 min Read

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank Of Baroda) ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) को 0.15 प्रतिशत तक बढ़ा दिया है. नई दरें मंगलवार 12 जुलाई 2022 से प्रभावी हो जाएंगी. बैंक ऑफ बड़ौदा ने शेयर बाजार को भेजी सूचना में बताया कि बैंक ने 12 जुलाई, 2022 से MCLR में वृद्धि को मंजूरी दे दी है. बैंक के अनुसार, होम, ऑटो और पर्सनल लोन जैसे अधिकांश उपभोक्ता ऋणों के लिए एक साल की MCLR को बढ़ाकर 7.65 प्रतिशत कर दिया गया है, जो अभी 7.50 प्रतिशत है.

बैंक ऑफ बड़ौदा के नए MCLR

bank-of-baroda-increased-mclr-by-15-basis-points-know-what-are-the-latest-lending-rates

बैंक ऑफ बड़ौदा का रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट 7.45 प्रतिशत है. बैंक ऑफ बड़ौदा द्वारा MCLR में बढ़ोतरी से नए ग्राहकों के साथ-साथ मौजूदा ग्राहकों के लिए भी लोन लोन महंगे हो जाएंगे.

कई बैंक बढ़ा चुके दरें

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा रेपो रेट में बढ़ोतरी करने के बाद से कई बैंक लोन्स पर ब्याज दरों को बढ़ा चुके हैं. केनरा बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, HDFC बैंक, यूनियन बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, एक्सिस बैंक सहित कई दूसरे बैंक MCLR में इजाफा कर चुके हैं. इससे पहले हाल ही में HDFC बैंक और केनरा बैंक ने भी अपनी MCLR में बढ़ोतरी की थी. HDFC बैंक ने सभी अवधियों के ऋणों पर अपनी MCLR में 0.20 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है. केनरा बैंक ने MCLR में 0.10 प्रतिशत की वृद्धि की है. दोनों बैंकों की नई दरें 7 जुलाई 2022 से प्रभावी हो गई हैं.