कार की पिछली सीट पर सीटबेल्ट न लगाना पड़ा भारी, 17 लोगों के चालान कटे, भरना पड़ा 1000 रुपये जुर्माना

चार सितंबर को महाराष्ट्र के पालघर जिले में हुई सड़क दुर्घटना में टाटा संस के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्री (54) की मौत के बाद इस तरह के अभियान की शुरुआत की गई है. पुलिस के अनुसार पीछे की सीट पर बैठे मिस्री ने सीट बेल्ट नहीं लगा रखी थी.

कार की पिछली सीट पर सीटबेल्ट न लगाना पड़ा भारी, 17 लोगों के चालान कटे, भरना पड़ा 1000 रुपये जुर्माना

Thursday September 15, 2022,

3 min Read

सड़क सुरक्षा प्रयासों में तेजी लाते हुए दिल्ली यातायात पुलिस ने कार की पिछली सीट पर सवार यात्रियों के वास्ते सीट बेल्ट लगाने का बुधवार को अभियान शुरू किया, ऐसा नहीं करने पर उन्हें 1,000 रूपये का जुर्माना भरना होगा. इस विशेष अभियान के पहले दिन पुलिस ने कानून का पालन सुनिश्चित करने के लिए मध्य दिल्ली में कनॉट प्लेस के निकट बाराखंभा रोड पर एक अभियान चलाया.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “अभियान के दौरान सुबह 11 बजे से दोपहर एक बजे के बीच मोटर वाहन अधिनियम की धारा 194बी के तहत कुल 17 चालान काटे गए.” पुलिस ने कहा कि उल्लंघनकर्ताओं पर एक-एक हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया.

चार सितंबर को महाराष्ट्र के पालघर जिले में हुई सड़क दुर्घटना में टाटा संस के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्री (54) की मौत के बाद इस तरह के अभियान की शुरुआत की गई है. पुलिस के अनुसार पीछे की सीट पर बैठे मिस्री ने सीट बेल्ट नहीं लगा रखी थी.

पुलिस उपायुक्त (नयी दिल्ली यातायात) आलाप पटेल ने कहा, “कानूनी प्रावधान तो पहले से ही मौजूद हैं, लेकिन हालिया घटना (मिस्री की मौत) के बाद यह चर्चा का विषय बन गये हैं.” अधिकारी ने कहा, “दिल्ली यातायात पुलिस सीट बेल्ट पहनने के (महत्व) के संबंध में जन जागरुकता फैलाने के लिए पहले से ही अभियान चला रही है. हम कानूनी कार्रवाई भी कर रहे हैं.”

पिछले सप्ताह दिल्ली पुलिस ने ट्वीट करते हुए नागरिकों से तेज रफ्तार से वाहन नहीं चलाने तथा हमेशा सीट बेल्ट लगाने की अपील की थी.

चार सितंबर को महाराष्ट्र के पालघर जिले में हुई सड़क दुर्घटना में टाटा संस के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्री (54) की मौत के बाद इस तरह के अभियान की शुरुआत की गई है. पुलिस के अनुसार पीछे की सीट पर बैठे मिस्री ने सीट बेल्ट नहीं लगा रखी थी.

पुलिस उपायुक्त (नयी दिल्ली यातायात) आलाप पटेल ने कहा, “कानूनी प्रावधान तो पहले से ही मौजूद हैं, लेकिन हालिया घटना (मिस्री की मौत) के बाद यह चर्चा का विषय बन गये हैं.” अधिकारी ने कहा, “दिल्ली यातायात पुलिस सीट बेल्ट पहनने के (महत्व) के संबंध में जन जागरुकता फैलाने के लिए पहले से ही अभियान चला रही है. हम कानूनी कार्रवाई भी कर रहे हैं.”

पिछले सप्ताह दिल्ली पुलिस ने ट्वीट करते हुए नागरिकों से तेज रफ्तार से वाहन नहीं चलाने तथा हमेशा सीट बेल्ट लगाने की अपील की थी.

वहीं, इस हादसे के बाद सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी लगातार सड़क दुर्घटनाओं को लेकर लोगों को आगाह कर रहे हैं और वाहन कंपनियों से भी सुरक्षा उपायों को बढ़ाने के लिए कह रहे हैं.

बुधवार को उन्होंने कहा कि भारत में ज्यादातर वाहन विनिर्माता पहले ही छह एयरबैग वाली कारों का निर्यात कर रहे हैं और उन्हें भारत में भी कारों के लिए इस तरह के सुरक्षा मानदंड अपनाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि वाहन विनिर्माताओं को छोटी सस्ती कारों का उपयोग करने वाले लोगों की सुरक्षा के बारे में भी सोचना चाहिए.


Edited by Vishal Jaiswal