कोरोना से लड़ने वालों के लिए लंदन में भी लोगों ने बजाईं तालियां, 'जनता कर्फ्यू' के दिन भारत से हुई थी शुरुआत

By yourstory हिन्दी
March 27, 2020, Updated on : Fri Mar 27 2020 09:01:30 GMT+0000
कोरोना से लड़ने वालों के लिए लंदन में भी लोगों ने बजाईं तालियां, 'जनता कर्फ्यू' के दिन भारत से हुई थी शुरुआत
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

22 मार्च (रविवार) को पीएम मोदी के आह्वान पर पूरे देशवासियों ने 'जनता कर्फ्यू' का पालन किया। पूरे दिन देशवासी घरों से नहीं निकले और शाम 5 बजे एकता दिखाते हुए कोरोना से लड़ने वालों के लिए तालियां, थालियां, शंख और घंटियां बजाईं।


j

सांकेतिक चित्र (फोटो क्रेडिट: thetelegraph)



ऐसा दृश्य बहुत कम देखने को मिलता है जब सभी लोग एक साथ घरों से बाहर आएं और तालियां बजाकर एकता का परिचय दें। रविवार को 5 बजते ही मंदिरों की घंटियों के साथ-साथ मस्जिदों से अजान भी सुनाई दी।





अब लगता है कि ब्रिटेन भी भारत के नक्शे कदम पर है। ब्रिटेन की राजधानी लंदन से भारत जैसा ही एक विडियो सामने आया है जिसमें लोग अपने घरों से एक साथ तालियां बजा रहे हैं। ये तालियां वहां के राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (नेशनल हेल्थ सर्विस) कर्मचारियों के लिए बजाई गईं जो अपनी जान जोखिम में डालकर कोरोना के खात्मे में लगे हैं।


इसका एक विडियो लंदन मेयर सादिक अमन खान ने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया। विडियो पोस्ट करते हुए सादिक खान ने लिखा,

'लंदन, हमने देश के हर एनएचएस कर्मचारी को दमदार और साफ संदेश भेजा है। आप हम सबमें से बेस्ट हैं। आपका कठिन काम और लगन रोज कई जिंदगियां बचा रहा है। हम इससे ज्यादा सौभाग्यशाली नहीं हो सकते हैं।'

विडियो में साफ देखा जा सकता है कि रात के समय में पूरे शहर में तालियों की गड़गड़ाहट सुनाई दे रही है। लोग एनएचएस में काम करने वाले लोगों के लिए चीयर कर रहे हैं। ट्वीट होने के बाद विडियो 500 से अधिक बार रीट्वीट हुई है। विडियो के रिप्लाई में लोगों ने कहा कि यह भारत का आइडिया है। कइयों ने कहा कि हम पिछले हफ्ते ही अपने डॉक्टरों और कोरोना खात्मे के लिए दिन-रात काम में जुटे लोगों के समर्थन में ऐसा कर चुके हैं।

दरअसल इंग्लैंड के डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ एंड सोशल केयर ने ट्वीट कर सभी नागरिकों से हेल्थकेयर में काम करने वाले लोगों के लिए समर्थन दिखाने की अपील की। DHSC ने ट्वीट कर कहा,

'कोरोना के खात्मे लिए सबसे आगे खड़े होकर लगातार काम करने वाले हेल्थ केयर वर्कर्स को थैंक्यू कहने के लिए आज रात 8 बजे पूरे देश के साथ आएं।'

मालूम हो, पीएम मोदी की अपील पर भारत में लोगों ने 22 मार्च को 'जनता कर्फ्यू' का पालन करते हुए कोरोना से लड़ने वाले डॉक्टरों, पुलिस और बाकी लोगों का समर्थन किया। शाम 5 बजे पूरे भारत से एक साथ तालियों और थालियों की आवाजें आईं। क्या अमीर, क्या गरीब, क्या बिजनेसमैन और क्या फिल्मी ऐक्टर, सभी ने एक साथ खड़े होकर संदेश दिया कि कोरोना के खात्मे के लिए हम सब एक हैं।





बात करें कोरोना की तो भारत में इसके मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। गुरुवार को भारत में इसके कुल 73 मामले सामने आए और इनमें से 5 की मौत हुई। पूरी दुनिया में फिलहाल 5,30,000 के करीब लोग इस बीमारी की चपेट में हैं। इनमें से 23,700 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले कुछ दिनों में अमेरिका में कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है। अब कुल कोरोना मरीजों के मामले में अमेरिका चीन को पछाड़कर पहले नंबर पर आ गया है।