लॉकडाउन में जयपुर पुलिस की आम लोगों से भावुक अपील, कहा- रोज 2 लोगों का खाना अतिरिक्त बनाएं और जरूरतमंदों को खिलाएं

By yourstory हिन्दी
March 30, 2020, Updated on : Mon Mar 30 2020 13:31:30 GMT+0000
लॉकडाउन में जयपुर पुलिस की आम लोगों से भावुक अपील, कहा- रोज 2 लोगों का खाना अतिरिक्त बनाएं और जरूरतमंदों को खिलाएं
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोरोना वायरस (COVID-19) के खात्मे के लिए केंद्र सरकार ने पूरे देश को 21 दिन के लिए लॉकडाउन किया। इसकी पूरी जिम्मेदारी स्थानीय पुलिस प्रशासन को दी गई। पुलिस प्रशासन भी मुस्तैदी के साथ इस लॉकडाउन की सफलता सुनिश्चित कर रहा है। फिर चाहे वह लोगों को समझाकर हो या फिर बल प्रयोग से, पुलिस इस लॉकडाउन को हर कीमत पर सफल बनाना चाहती है ताकि कोरोना से देश को अधिक नुकसान ना हो। 


k

सांकेतिक चित्र (फोटो क्रेडिट: forbes)



हालांकि सिर्फ पुलिस के करने से कुछ नहीं होगा, आम लोगों को भी इसमें अपनी जिम्मेदारी निभानी पड़ेगी। लॉकडाउन होने के बाद से कई ऐसे गरीबों और दिहाड़ी मजदूर हैं जिनके लिए दो टाइम का खाना जुटाना तक मुश्किल हो गया है।





ऐसे लोगों को सरकारें और प्रशासन खाना पहुंचाने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। फिर भी यह पूरी तरह से काफी नहीं है। अब इस काम के लिए जयपुर पुलिस ने आम लोगों से सहयोग मांगा है। जयपुर पुलिस ने आम लोगों से अपील की है कि हर समर्थ परिवार अपने घर में खाना बनाते वक्त 2 लोगों का खाना अतिरिक्त बनाए ताकि वह खाना गरीबों को दिया जा सके। 


इस बाबत जयपुर पुलिस ने एक ट्वीट किया। ट्वीट में लिखा,

'संकट के इस समय में सभी से अपील- जो भी परिवार यह करने में समर्थ हैं, कृपया कम से कम दो लोगों के लिए अतिरिक्त भोजन पकाएं, फिर इसे इकट्ठा करें और इसे अपने क्षेत्र के जरुरतमंद लोगों तक पहुंचाएं।'

साथ में पुलिस ने एक फोटो पोस्ट किया। फोटो में लिखा है कि यह वंचितों की देखभाल करने का समय है। आसपास के लोगों की मदद करें ताकि राज्य में कोई भूखा ना रहे। पुलिस की इस अपील पर लोगों को ध्यान देना चाहिए। पुलिस कितना ही प्रयास क्यों ना कर ले लेकिन हर गरीब तक खाना पहुंचाने के लिए उसे आम लोगों के सहयोग की नितांत आवश्यकता होगी। 


ऐसे में जयपुर पुलिस की इस अपील का कितना असर होगा, यह तो बाद में पता चलेगा लेकिन अगर कोई परिवार समर्थ है तो उसे यह काम जरूर करना चाहिए। इस वक्त देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है तो हर किसी को सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर चलना चाहिए।





बात करें कोरोना की तो इस बीमारी ने पूरी दुनिया में 7,30,000 लोगों को अपनी चपेट में लिया है। इनमें से 34,000 लोगों की मौत हो चुकी है। अगर भारत के नजरिए से देखें तो भारत में अब तक कोरोना के 1140 मामले आ चुके हैं। इनमें से 27 की मौत हो चुकी है। अकेले रविवार के दिन ही देश में कोरोना संक्रमण के 130 मामले दर्ज किए गए जो कि एक दिन में सर्वाधिक हैं। इनमें सबसे अधिक महाराष्ट्र (203) और केरल (202) में पाए गए हैं। 


आने वाले दिनों में यह संख्या और भी तेजी से बढ़ने की आशंका है। ऐसे में सभी लोगों को सोशल डिस्टैंसिंग और अनिवार्य लॉकडाउन का कठोरता से पालन करने की जरूरत है। जरूरी काम हो, तभी बाहर निकलें। अनावश्यक रूप से बाहर ना ही जाएं तो बेहतर है। कोरोना से लड़ने में सरकार का सहयोग करें।