इस क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज ने 'फाइनेंशियल क्राइसिस' का हवाला देते हुए सस्पेंड किया कामकाज

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज Vauld ने अपना कामकाज बंद कर दिया है. इसके साथ ही स्टार्टअप ने अपने प्लेटफॉर्म पर निकासी (withdrawals), ट्रेडिंग और डिपॉजिट सस्पेंड कर दिए है. Vauld ने कहा कि कंपनी ने "फाइनेंशियल क्राइसिस" के चलते यह फैसला किया है. Vauld ने अपनी वेबसाइट पर कॉर्पोरेट घोषणा में कहा, यह तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है.

अपनी वेबसाइट पर एक बयान में, सीईओ और को-फाउंडर दर्शन बथिजा ने लिखा, “Vauld की मैनेजमेंट टीम यह बताना चाहती है कि हम अपने सर्वोत्तम प्रयासों के बावजूद वित्तीय चुनौतियों का सामना कर रहे हैं. यह अस्थिर बाजार स्थितियों, हमारे प्रमुख व्यापारिक भागीदारों की वित्तीय कठिनाइयों को अनिवार्य रूप से हमें प्रभावित करने वाली परिस्थितियों के कारण है. वर्तमान बाजार माहौल जिसके कारण ग्राहकों की निकासी 12 जून 2022 से 197.7 मिलियन डॉलर से अधिक हो गई है."

बथिजा ने कहा कि Vauld वर्तमान में Vauld ग्रुप की कंपनियों में संभावित निवेशकों के साथ है. "हम एक अधिस्थगन के लिए सिंगापुर की अदालतों में आवेदन करने का इरादा रखते हैं. यानी संबंधित कंपनियों के खिलाफ किसी भी कार्यवाही को शुरू करने या जारी रखने के लिए निलंबन ताकि हमें प्रस्तावित पुनर्गठन अभ्यास को पूरा करने के लिए सांस लेने की जगह मिल सके."

"इस बीच, हमने तत्काल प्रभाव से Vauld प्लेटफॉर्म पर निकासी, ट्रेडिंग और डिपॉजिट को सस्पेंड करने का कठिन निर्णय लिया है. हमें विश्वास है कि यह हमारे वित्तीय और कानूनी सलाहकारों के साथ संभावित पुनर्गठन विकल्पों की उपयुक्तता की खोज को सुविधाजनक बनाने में मदद करेगा."

उन्होंने आगे कहा, "हम Vauld प्लेटफॉर्म के ग्राहकों को समझाना चाहते हैं कि हम इस संबंध में किसी भी नए या आगे के अनुरोध या निर्देशों को पूरा करने की स्थिति में नहीं होंगे. ग्राहक डिपॉजिट के लिए खास व्यवस्था की जाएगी जैसा कि कुछ ग्राहकों के लिए कोलेटरल लोन के संबंध में मार्जिन कॉल को पूरा करने के लिए आवश्यक हो सकता है."

CoinBase-समर्थित प्लेटफॉर्म ने कहा कि उसने संकट से निपटने के लिए Kroll Pte Limited की फाइनेंशियल एडवाइजरी के साथ-साथ सिरिल अमरचंद मंगलदास (Cyril Amarchand Mangaldas) और राजा और टैन सिंगापुर एलएलपी (Rajah & Tann Singapore LLP) को क्रमशः भारत और सिंगापुर में कानूनी सलाहकार के रूप में नियुक्त किया है. "हमें विश्वास है कि, हमारे वित्तीय और कानूनी सलाहकारों की सलाह के साथ, हम एक ऐसे समाधान तक पहुंचने में सक्षम होंगे जो Vauld के ग्राहकों और स्टैकहोल्डर्स के हितों की सर्वोत्तम रक्षा करेगा."

जून में, Vauld ने घोषणा की थी कि उसने अपने 30 प्रतिशत कर्मचारियों की छंटनी की थी, जिसमें अधिकांश कर्मचारी भारत से थे. जुलाई 2021 तक 27 मिलियन डॉलर जुटाने वाली कंपनी ने यह भी कहा कि उसने आर्थिक मंदी का हवाला देते हुए कार्यकारी मुआवजे में 50 प्रतिशत की कटौती करते हुए अपने मार्केटिंग खर्च को कम कर दिया है.

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors