इस दिवाली Flipkart की मेटावर्स में होगी एंट्री, ग्राहकों के लिए क्या होगा ख़ास?

By Prathiksha BU & रविकांत पारीक
September 25, 2022, Updated on : Mon Sep 26 2022 05:02:52 GMT+0000
इस दिवाली Flipkart की मेटावर्स में होगी एंट्री, ग्राहकों के लिए क्या होगा ख़ास?
फ्लिपकार्ट की Big Billion Day सेल, जो दिवाली पर होती है, के दौरान कंपनी द्वारा Flipverse की आधिकारिक घोषणा करने की उम्मीद है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारतीय ई-कॉमर्स दिग्गज Flipkart देश में एक इंटरैक्टिव वर्चुअल शॉपिंग डेस्टिनेशन Flipverse लॉन्च करने जा रही है. विश्वसनीय सूत्रों ने The Decrypting Story के साथ इस बात की पुष्टि की है कि कंपनी ने इस प्रोजेक्ट के लिए सोशल मीडिया दिग्गज Meta और Ethereum स्केलिंग सॉल्यूशन Polygon के साथ हाथ मिलाया है.


Flipverse की लॉन्चिंग को लेकर सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर मुकुल शर्मा ने ट्वीट किया.

The Decrypting Story ने इस बात को पुख्ता करने के लिए Flipkart की टीम से संपर्क किया और प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा की.


सूत्र ने कहा कि फ्लिपकार्ट की Big Billion Day सेल, जो दिवाली पर होती है, के दौरान कंपनी द्वारा Flipverse की आधिकारिक घोषणा करने की उम्मीद है.


फ्लिपवर्स गेम, कॉन्टेस्ट, ड्रॉप्स, NFTs (non-fungible tokens), ब्रांड एक्टिवेशन, प्रोडक्ट लॉन्च और मिस्ट्री बॉक्स भी होस्ट करेगा. सूत्र ने यह भी बताया कि Flipverse को किसी भी फोन डिवाइस या ब्राउजर के जरिए एक्सेस किया जा सकता है.


मेटावर्स शॉपिंग का अनुभव ईकॉमर्स को 2D स्टेटिक प्रोडक्ट कैटलॉग से रियल-टाइम के अनुभवों में बदल देगा जो यूजर्स को 3D-रेंडर किए गए स्टोर डिस्प्ले का आनंद लेते हुए एक स्टोर को पूरी तरह से 'एक्सप्लोर' में सक्षम बनाता है.


इससे पहले अप्रैल में, घरेलू ईकॉमर्स दिग्गज ने Web3 सॉल्यूशन बनाने के लिए इन-हाउस इनोवेशन इनीशिएटिव Flipkart Labs को लॉन्च करने की घोषणा की थी. फ्लिपकार्ट लैब्स अपने ग्रुप की कंपनियों को रियल-टाइम ऐप्लीकेशंस के साथ नए Web3 और Metaverse के इस्तेमाल को टेस्ट करने में मदद कर रहा है, जिसमें NFTs के इस्तेमाल, वर्चुअल इमर्सिव स्टोरफ्रंट, प्ले टू अर्न और अन्य ब्लॉकचेन के इस्तेमाल से जुड़े मामले शामिल हैं.

Web3, मेटावर्स और ईकॉमर्स के लिए तैयारी

Meta, Microsoft, और Apple सहित टेक दिग्गज Web3 की दुनिया को अपना रहे हैं. बीती 5 अगस्त को, Meta ने 100 देशों में NFTs को सपोर्ट करना शुरू किया. NFTs को Ethereum, Polygon, और Flow ब्लॉकचेन पर मिंट किया गया था.


Microsoft ने हाल ही में घोषणा की थी कि वह 2022 में अपना खुद का एंटरप्राइज मेटावर्स लॉन्च करेगी, और यूजर्स इस पर MS Excel और PowerPoint जैसे बिजनेस टूल्स का उपयोग करने में सक्षम होंगे.


TCS, HCL Tech, Wipro, और Tech Mahindra जैसी भारतीय आईटी कंपनियां मेटावर्स बाजार में हिस्सेदारी हासिल करने के लिए कमर कस रही हैं. हाल ही में, Infosys ने कंपनियों को अपने मेटावर्स अनुभव को नेविगेट करने में मदद करने के लिए Infosys Metaverse Foundry लॉन्च की.


इसी साल जून के आखिरी हफ्ते में आई मैकिन्से एंड कंपनी (Mckinsey and Company) की एक रिपोर्ट 'वैल्यू क्रिएशन इन द मेटावर्स' (Value Creation in the Metaverse) के अनुसार, 2030 तक, मेटावर्स इंडस्ट्री (Metaverse industry) की वैल्यू 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच सकती है.

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें