Flipkart ने सस्‍टेनेबल प्रोडक्ट्स के लिए लॉन्च किया ई-स्टोर 'Flipkart Green'

40 से ज्यादा ब्रांड और 30,000 से भी अधिक सस्‍टेनेबल प्रोडक्ट्स के साथ Flipkart Green का उद्देश्य ब्यूटी और मेकअप, प्रसाधन, हेल्थकेयर, खानपान, घरेलू सजावट, खेल, फैशन जैसी विभिन्न श्रेणियों के वैश्विक स्तर पर मान्यता प्राप्त प्रोडक्ट्स के लिए Flipkart प्लेटफॉर्म पर एक अलग सेक्शन बनाना है.

Flipkart ने सस्‍टेनेबल प्रोडक्ट्स के लिए लॉन्च किया ई-स्टोर 'Flipkart Green'

Friday January 06, 2023,

4 min Read

देश के स्वदेशी ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस फ्लिपकार्ट (Flipkart) ने अपने ऐप पर लाखों सस्टेनेबल प्रोडक्ट्स को एक साथ लाकर खास वर्चुअल स्टोर "फ्लिपकार्ट ग्रीन" (Flipkart Green) की शुरुआत की, ताकि पर्यावरण के अनुकूल जीवनशैली अपनाने की कोशिश कर रहे ग्राहकों को सेवाएं दी जा सकें.

फ्लिपकार्ट ग्रीन का उद्देश्य वैश्विक स्तर पर मान्यता पा चुके सस्टेनेबल प्रोडक्ट्स और उनसे जुड़ी जानकारी सस्टेनेबल ब्रांड और प्रोडक्ट तलाश रहे ग्राहकों तक पहुंचाना है. शुरुआत में 40 से ज़्यादा ब्रांड के फैशन, ब्यूटी और मेकअप, ग्रूमिंग, हेल्‍थकेयर, खानपान, घरेलू और जीवनशैली से जुड़े प्रोडक्ट्स की व्यापक रेंज ग्राहकों के लिए उपलब्ध कराई जा रही है. इसके अलावा, हेल्थकेयर, खानपान, खेल एवं फिटनेस, खिलौने, स्टेशनरी, इलेक्ट्रॉनिक्स और एप्लायंस समेत कई अन्य श्रेणियों के नए प्रोडक्ट्स भी ग्राहकों को उपलब्ध कराए जाएंगे.

पिछले कुछ वर्षों में, ऐसे ग्राहकों की संख्या में तेज़ी से बढ़ोतरी हुई है जो खपत की अपनी आदतों का धरती पर और अपनी सेहत पर पड़ने वाले असर को लेकर काफी सचेत हुए हैं. ग्राहकों ने बांस से तैयार टूथब्रश, दोबारा इस्तेमाल किए जाने योग्य किराना बैग, दोबारा इस्तेमाल किए जाने योग्य पानी की बोतल, डिशक्‍लॉथ जैसे सस्‍टेनेबल प्रोडक्‍ट्स अपनाए हैं. अब "फ्लिपकार्ट ग्रीन" स्टोर की मदद से ग्राहकों को इस प्रकार के सस्‍टेनेबल प्रोडक्ट्स आसानी से उपलब्‍ध होंगे.

flipkart-launches-flipkart-green-an-e-store-for-sustainable-products

"फ्लिपकार्ट ग्रीन" के बारे में, अमितेश झा, सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, कैटेगरी एंड मार्केटप्लेस, फ्लिपकार्ट ने कहा, "फ्लिपकार्ट में हम स्थायित्व को व्यापक दृष्टिकोण के तौर पर देखते हैं जिसमें पर्यावरण, व्यक्ति और समाज सभी कुछ शामिल है. फ्लिपकार्ट ग्रीन सस्टेनेबिलिटी स्टोर के माध्यम से हमारा उद्देश्य स्थायी, न्यायसंगत और पहले से अधिक समावेशी ई-कॉमर्स ईकोसिस्टम तैयार करना है. हमने हमेशा से ही विभिन्न प्रयासों के माध्यम से अपने कारोबार में स्थायित्व लाने की कोशिश की है. इन प्रयासों में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, ग्रीन बिल्डिंग, अक्षय ऊर्जा से लेकर प्लास्टिक-फ्री पैकेजिंग तक जैसी चीज़ें शामिल हैं. इस प्रयास के माध्यम से हम ग्राहकों के लिए वन-स्टॉप ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर विभिन्न ऐसे ब्रैंड्स को एक जगह इकट्ठा करना जारी रखेगा. यह कदम, व्यापक इकोसिस्टम की सामाजिक, आर्थिक और पर्यावरण से जुड़ी स्थिति में सुधार लाने की दिशा में स्थायी माध्यमों से लिए जाने वाले उत्पादों को बढ़ावा देने के हमारे लक्ष्य के मुताबिक है."

इस नई शुरुआत के माध्यम से प्लेटफॉर्म का उद्देश्य सकारात्मक बदलाव लाना और समुदाय व पूरी धरती के लिए साझा चीज़ें तैयार करना है. इस कदम से पूरी जानकारी के साथ, ग्राहकों को पहली प्राथमिकता देते हुए और पर्यावरण का ध्यान रखते हुए सोच-समझकर खरीदारी का निर्णय लेने में मदद मिलेगी.

"फ्लिपकार्ट ग्रीन" विभिन्न प्रकार के उत्पादों के विकल्पों के साथ स्थायित्व पर ध्यान देने वाले खरीदारों को बेहतर अनुभव देगा. स्थायी उत्पादों के फायदों के बारे में लोगों की जानकारी बढ़ी है, ऐसे में यह वन-स्टॉप प्लेटफॉर्म उन्हें पर्यावरण अनुकूल विकल्पों को तलाशने में अच्छी तरह मदद करेगा.

भारत में ई-कॉमर्स को सभी के लिए सुलभ बनाने के फ्लिपकार्ट के दृष्टिकोण में स्थायित्व एक अहम पहलू रहा है और कंपनी ने पिछले दो वर्षों के दौरान कई प्रयास किए हैं, ताकि धरती की सुरक्षा की जा सके. ऐसे कुछ प्रयास इस प्रकार हैं:

  • पर्यावरण के लिए काम करने वाले गैर-लाभकारी संगठन कैनोपी प्लैनेट के साथ फ्लिपकार्ट की साझेदारी, ताकि स्थायी पैकेजिंग और मानव-निर्मित सेल्युलॉसिक फाइबर लिया जा सके. इसके अलावा, पैक4गुड और कैनोपीस्टाइल प्रयासों का हिस्सा बनना.

  • फ्लिपकार्ट, क्लाइमेट ग्रुप के ग्लोबल इलेक्ट्रिक मोबिलिटी प्रयास ईवी 100 का हिस्सा है और कंपनी ने 2030 तक अपने लॉजिस्टिक बेड़े में 100 फीसदी ईवी का इस्तेमाल करने की प्रतिबद्धता जताई है.

  • वर्ष 2070 तक नेट ज़ीरो का लक्ष्य हासिल करने की भारत सरकार की प्रतिबद्घता को ध्यान में रखते हुए फ्लिपकार्ट भारत की एकमात्र ई-कॉमर्स कंपनी है जिसने 2040 तक नेट-ज़ीरो का लक्ष्य हासिल करने की प्रतिबद्धता जताई है.
यह भी पढ़ें
OLA लॉन्च करेगी 10,000 इलेक्ट्रिक कैब