Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory
search

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ADVERTISEMENT

Adani Group: एक तरफ दिया बेस्ट परफॉर्मिंग IPO, दूसरी तरफ 4 दिनों में 1.70 लाख करोड़ डूबे

Adani Group: एक तरफ दिया बेस्ट परफॉर्मिंग IPO, दूसरी तरफ 4 दिनों में 1.70 लाख करोड़ डूबे

Monday December 26, 2022 , 4 min Read

देश के सबसे अमीर बिजनेसमैन गौतम अडानी (Gautam Adani) के अडानी ग्रुप (Adani Group) की कंपनी अडानी विल्मर (Adani Wilmar) साल 2022 के सबसे बेस्ट परफॉर्मिंग IPO के रूप में उभरी है. कंपनी ने निवेशकों को 155 प्रतिशत से अधिक का रिटर्न दिया है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक इस साल जनवरी में लिस्ट हुई अडानी विल्मर ने लिस्टिंग के दिन 15.30 फीसदी का रिटर्न दिया और इस साल 155.59 फीसदी का रिटर्न दिया. इसके बाद, वीनस पाइप्स (Venus Pipes) ने 128.53 फीसदी का रिटर्न दिया. हरिओम पाइप इंडस्ट्रीज (Hariom Pipe Industries) ने लिस्टिंग के बाद 112.58 फीसदी का रिटर्न दिया. जबकि वेरंडा लर्निंग (Veranda Learning) ने 93.80 फीसदी का रिटर्न दिया है.

वहीं, एलआईसी (LIC) ने 26 फीसदी, डेल्हीवेरी (Delhivery) ने 31 फीसदी, आईनॉक्स ग्रीन एनर्जी (Inox Green Energy) ने 26 फीसदी का नकारात्मक रिटर्न दिया. लिस्टिंग के दिन के प्रदर्शन के संबंध में, डीसीएक्स सिस्टम्स ने 49.18 प्रतिशत का उच्चतम रिटर्न दिया. इसके बाद हर्षा इंजीनियर्स ने 47.24 प्रतिशत और हरिओम पाइप इंडस्ट्रीज ने लिस्टिंग के दिन 46.86 प्रतिशत रिटर्न दिया.

अडानी ग्रुप की इन कंपनियों के 4 दिनों में 1.70 लाख करोड़ स्वाहा

बीते सप्ताह भारी बिकवाली की वजह से शेयर मार्केट में बड़ी गिरावट देखने को मिली. टूटते मार्केट के बीच अडानी ग्रुप की लिस्टेड सात कंपनियों के शेयरों में भी बड़ी गिरावट देखने को मिली. अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों ने चार दिनों की बिकवाली के बीच ऐसा गोता लगाया कि 1.70 लाख करोड़ रुपये स्वाहा हो गए. अडानी ग्रुप की कंपनियों के मार्केट कैप में संयुक्त रूप से 1.70 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. अडानी विल्मर (Adani Wilmar), अडानी पावर (Adani Power) और अडानी ट्रांसमिशन (Adani Transmissionn) के शेयरों में भारी गिरावट दर्ज की गई.

अडानी विल्मर के शेयर शुक्रवार को सात फीसदी से अधिक गिरकर 512.65 रुपये पर आ गए थे. इसके साथ ही कंपनी के शेयर चार दिन में 18.53 टूटे. इस बीच चार दिन की गिरावट के दौरान बीएसई सेंसेक्स में 1,630 अंक या 2.65 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. अडानी पावर के शेयरों में शुक्रवार को लोअर सर्किट लग गया था. शुक्रवार को अडानी पवार का स्टॉक पांच फीसदी की गिरावट के साथ 262.20 रुपये पर बंद हुआ था. 19 दिसंबर से 23 दिसंबर के बीच आई गिरावट में ये स्टॉक 14.23 फीसदी टूटा है.

अडानी ट्रांसमिशन का शेयर बीएसई पर 9.29 फीसदी की गिरावट के साथ 2,284 रुपये पर क्लोज हुआ था. शुक्रवार तक के चार सत्रों में यह शेयर 13 फीसदी से अधिक टूटा है. अडानी एंटरप्राइजेज 5.65 फीसदी की गिरावट के साथ 3,650 रुपये पर क्लोज हुआ. पिछले चार सत्रों में यह शेयर 8.51 फीसदी गिरा है. पिछले चार सेशन में अडानी ग्रीन एनर्जी और अडानी पोर्ट्स और स्पेशल इकोनॉमिक जोन में करीब 8-9 फीसदी की गिरावट आई है. अडानी टोटल गैस के शेयर भी पिछले चार सेशन में 8 फीसदी से अधिक टूटा है.

कितना हुआ नुकसान?

सात अडानी समूह की कंपनियों के शेयरों का कॉम्बाइंड एम-कैप 17.04 लाख करोड़ रुपये रहा, जो 19 दिसंबर के 18.81 लाख करोड़ रुपये से 9.41 प्रतिशत कम था. इसमें से प्रमुख अडानी एंटरप्राइजेज को एम-कैप में लगभग 40,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. इसके बाद नुकसान के मामले में अडानी ट्रांसमिशन (एम-कैप लॉस 36,521.23 करोड़ रुपये), अडानी टोटल गैस (27,533.75 करोड़ रुपये) अडानी ग्रीन एनर्जी (24,528.75 करोड़ रुपये) के शेयर रहे .

हालांकि, इस गिरावट के बावजूद अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर साल का अंत 115 फीसदी बढ़त (2022 में अब तक) के साथ कर रहे हैं. अडानी विल्मर (92 फीसदी ऊपर), अडानी टोटल गैस (90 फीसदी ऊपर), अडानी ग्रीन (39 फीसदी ऊपर), अडानी ट्रांसमिशन (36 फीसदी ऊपर) और अडानी पोर्ट्स (9 फीसदी ऊपर) एक मजबूत नोट पर कैलेंडर को खत्म कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें
RBI का फिनटेक एजेंडा: 2022 में फिनटेक सेक्टर में क्या-क्या हुआ