पेट्रोल के एक्सपोर्ट पर अब नहीं लगेगा विंडफॉल टैक्स, डीजल व जेट ईंधन पर घटाई गई दर

By yourstory हिन्दी
July 20, 2022, Updated on : Wed Jul 20 2022 12:45:52 GMT+0000
पेट्रोल के एक्सपोर्ट पर अब नहीं लगेगा विंडफॉल टैक्स, डीजल व जेट ईंधन पर घटाई गई दर
इसके अलावा देश में ही उत्पादित कच्चे तेल पर 23,250 रुपये के अतिरिक्त कर को घटा कर 17,000 रुपये प्रति टन किया गया है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारत ने पेट्रोल (Petrol) के एक्सपोर्ट पर विंडफॉल टैक्स (Windfall Tax) को खत्म कर दिया है, वहीं अन्य फ्यूल्स पर विंडफॉल टैक्स को घटा दिया है. भारत सरकार को विंडफॉल टैक्स लगाए हुए अभी तीन सप्ताह भी नहीं हुए हैं. सरकार ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कीमतों में कमी आने पर पेट्रोल, डीजल, जेट ईंधन और कच्चे तेल पर लगने वाले अप्रत्याशित लाभ करों में बुधवार को कटौती की. वित्त मंत्रालय की अधिसूचना में यह जानकारी दी गई.


अधिसूचना के अनुसार, पेट्रोल के निर्यात पर लगने वाले छह रुपये प्रति लीटर के टैक्स को पूरी तरह खत्म कर दिया गया है. वहीं डीजल और जेट ईंधन (एटीएफ) के निर्यात पर विंडफॉल टैक्स में 2 रुपये प्रति लीटर की कमी की गई है. अब एटीएफ पर विंडफॉल टैक्स 6 रुपये प्रति लीटर के बजाय 4 रुपये प्रति लीटर हो गया है. डीजल निर्यात पर विंडफॉल टैक्स 13 रुपये प्रति लीटर से घटकर 11 रुपये प्रति लीटर हो गया है. इसके अलावा देश में ही उत्पादित कच्चे तेल पर 23,250 रुपये के अतिरिक्त कर को घटा कर 17,000 रुपये प्रति टन किया गया है.

1 जुलाई को लगाया था विंडफॉल टैक्स

सरकार ने घरेलू बाजार में पेट्रोलियम प्रॉडक्ट्स की कीमतों को काबू में रखने के लिए हाल में विंडफॉल टैक्स लगाया था. अब इसमें कटौती के बाद देश की सबसे बड़ी फ्यूल एक्सपोर्टर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Ltd) और ओएनजीसी (ONGC) को राहत मिलेगी. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चा तेल सस्ता होने से रिफाइनर्स के प्रॉफिट में कमी आ गई थी.


Edited by Ritika Singh